NDTV Khabar

INDvsWI 4TH ODI : 'क्लीन स्वीप' से वंचित विराट कोहली की टीम इंडिया लगा सकती है सीरीज जीत का 'पंजा'!

चैंपियंस ट्रॉफी, 2017 में शानदार खेल दिखाने के बावजूद फाइनल में मिली हार को भुला चुकी टीम इंडिया का सारा ध्यान इस समय वेस्टइंडीज की धरती पर 5 मैचों की वनडे सीरीज पर कब्जा करने पर है. टीम ने इस दिशा में कदम भी बढ़ा दिए हैं.

156 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsWI 4TH ODI : 'क्लीन स्वीप' से वंचित विराट कोहली की टीम इंडिया लगा सकती है सीरीज जीत का 'पंजा'!

INDvWI : विराट कोहली के पास कप्तानी रिकॉर्ड और बेहतर करने का भी मौका है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. विंडीज के साथ पहला मैच बारिश से धुल गया था
  2. दूसरे मैच में इंडिया ने विंडीज को हरा दिया था
  3. टीम इंडिया इस समय सीरीज में 2-0 से आगे है
नॉर्थ साउंड (एंटीगा): चैंपियंस ट्रॉफी, 2017 में शानदार खेल दिखाने के बावजूद फाइनल में मिली हार को भुला चुकी टीम इंडिया का सारा ध्यान इस समय वेस्टइंडीज की धरती पर 5 मैचों की वनडे सीरीज पर कब्जा करने पर है. टीम ने इस दिशा में कदम भी बढ़ा दिए हैं. वैसे सीरीज की शुरुआत में टीम इंडिया का लक्ष्य विंडीज की धरती पर वनडे में पहली बार क्लीन स्वीप करना था, लेकिन बारिश की मार ने उसे इससे वंचित कर दिया था. ऐसे में अब उसके पास कैरेबियाई धरती पर वनडे इतिहास में सीरीज जीत का 'पंजा' लगाने का अवसर ही बचा है. फिलहाल वह सीरीज में 2-0 से आगे है और नॉर्थ साउंड, एंटीगा में रविवार को भारतीय समयानुसार शाम 6 बजे से होने वाले चौथे वनडे में वह जीत दर्ज करके अजेय बढ़त हासिल करना चाहेगी.

टीम इंडिया के सामने विंडीज की टीम पहले तीनों वनडे में बेहद कमजोर नजर आई है. ऐसे में विराट एंड कंपनी को उसे चौथे वनडे में धराशायी करने में कोई दिक्कत नहीं नजर आती. वैसे इतिहास पर नजर डालें, तो टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज की धरती पर 8 वनडे सीरीज खेली हैं, जिनमें से 4 में जीत दर्ज की हैं, लेकिन वह क्लीन स्वीप कर पाने में कभी सफल नहीं हुई. अब टीम इंडिया के पास विंडीज में वनडे की पांचवीं सीरीज जीतने का मौका है. जहां तक विंडीज टीम का सवाल है, तो उसने सर विवियन रिचर्ड्स की कप्तानी में भारत को 1989 में वनडे सीरीज में 5-0 से हराते हुए क्लीन स्वीप किया था. उस समय टीम के कप्तान दिलीप वेंगसरकर थे.

टीम इंडिया का नया रिकॉर्ड
टीम इंडिया ने तीसरे वनडे में मैदान पर उतरते ही एक नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था. भारतीय टीम वनडे क्रिकेट में विदेशी धरती पर 600 मैच खेलने वाली दूसरी टीम बन गई है. भारत से पहले सिर्फ पाकिस्तानी टीम ने ही ऐसा कारनामा किया है. पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की बात करें तो कुल 700 मैच विदेशी धरती पर खेले हैं. पाकिस्तान ने इनमें से 354 मैच जीते और 325 हारे हैं. वैसे टीम इंडिया ने अब तक कुल 915 वनडे मैच खेल लिए हैं. इनमें से उसने 464 मैच जीते हैं और 404 में उसे हार मिली है. 40 मैच ऐसे हैं जिनका कोई नतीजा नहीं निकला. घरेलू मैदान पर भारत ने 315 वनडे खेले हैं इनमें से उसे 183 में जीत मिली है और 121 में हारा. दो मैच ड्रॉ हुए, जबकि 9 का रिजल्ट नहीं निकला. विदेशी धरती पर भारत ने 599 वनडे मैचों में से 280 में जीत हासिल की है और 283 में हारा है.

पिच में दिखी असमान उछाल...
पहला वनडे बारिश के कारण धुलने के बाद टीम इंडिया अगले दो मैच बड़े अंतर 105 रन और 93 रन से जीते हैं. वेस्टइंडीज की टीम प्रभावी प्रदर्शन करने में नाकाम रही है. हां तीसरे वनडे में उसकी गेंदबाजी जरूर कुछ ठीक रही, लेकिन उनको पिच से भी काफी मदद मिली, जिसमें असमान उछाल थी. अब देखना होगा कि चौथा मैच इसी पिच पर होगा या अन्य पिच प्रयोग में लाई जाएगी. मौसम भी इसमें अहम भूमिका निभाएगा. सीरीज के सभी मैच बारिश से प्रभावित रहे हैं.

रहाणे-धवन की जोड़ी रही खास
टीम इंडिया के लिए शिखर धवन और अजिंक्य रहाणे की ओपनिंग जोड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रही है. हालांकि तीसरे वनडे में धवन जल्दी लौट गए, लेकिन चैंपियंस ट्रॉफी और विंडीज में खेले पहले दोनों मैचों में उन्होंने शानदार बल्लेबाजी की थी. रहाणे ने तो तीनों मैचों में से दो में फिफ्टी, तो एक में शतक लगाया है. उनके बल्ले से 62, 103 और 72 रन की पारियां निकली हैं.

मध्यक्रम में युवी कर रहे निराश, धोनी बने उम्मीद...
कप्तान विराट कोहली का फॉर्म भी थोड़ा गड़बड़ है. वह भाग्य के सहारे ही कुछ रन बना पाए हैं. युवराज सिंह ने भी निराश किया है. हालांकि तीसरे वनडे में उन्होंने 39 रन बनाए, लेकिन लय में नहीं दिखे. तीसरे वनडे में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने नाबाद 78 रन की पारी खेलकर टीम को केदार जाधव के साथ संकट से उबारा था. जाधव ने भी 26 गेंदों में नाबाद 40 रन की पारी खेली थी.

कुलदीप ने बढ़ाई जडेजा की चिंता...
'चाइनामैन' गेंदबाज कुलदीप यादव ने विंडीज में मिले मौके को दोनों हाथों से लपक लिया है. इससे टीम इंडिया के स्टार स्पिनर रहे रवींद्र जडेजा जरूर चिंतित होंगे, क्योंकि उनकी जगह संकट में है, वहीं ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने तीसरे मैच में 28 रन पर तीन विकेट चटकाकर फॉर्म में वापसी की और इस दौरान वनडे में 150 विकेट भी पूरे किए, लेकिन वह उतने प्रभावी नहीं दिख रहे जैसे थे.

ऋषभ पंत पर रहेंगी नजरें...
विराट कोहली प्लेइंग इलेवन में ऋषभ पंत को मौका देते हैं या नहीं, इस पर सबकी नजरें रहेंगी. यदि धोनी वर्ल्ड कप 2019 के लिए उपलब्ध नहीं होते हैं, तो ऋषभ की भूमिका टीम में बढ़ जाएगी. गेंदबाजी में मोहम्मद शमी को भी मौका मिलने का इंतजार है.

टीमें (संभावित)...
भारत: विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पांड्या, केदार जाधव, रविचंद्रन अश्विन, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव.

वेस्टइंडीज: जेसन होल्डर (कप्तान), काइल होप, मिगुएल कमिंस, केसरिक विलियम्स, जेसन मोहम्मद, देवेंद्र बिशू, रोस्टन चेज, एश्ले नर्स, शाई होप (कीपर), एविन लेविस और रोवमैन पॉवेल.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement