NDTV Khabar

कपिल देव ने विराट कोहली के आक्रामक अंदाज को लेकर कही यह बात...

महान हरफनमौला कपिल देव (Kapil Dev) ने ऑस्ट्रेलिया में भारतीय तेज गेंदबाजों के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए उसे अविश्वसनीय बताया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कपिल देव ने विराट कोहली के आक्रामक अंदाज को लेकर कही यह बात...

कपिल देव के नेतृत्‍व में भारतीय टीम ने वर्ष 1983 में वर्ल्‍डकप जीता था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कहा-जब तक टीम अच्‍छा खेल रही, इससे फर्क नहीं पड़ता
  2. हर कप्‍तान की अपनी सोच होती है, दो लोग एक जैसे नहीं होते
  3. ऑस्‍ट्रेलिया में भारतीय तेज गेंदबाजों के प्रदर्शन को सराहा
चेन्नई:

महान हरफनमौला कपिल देव (Kapil Dev) ने ऑस्ट्रेलिया में भारतीय तेज गेंदबाजों के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए उसे अविश्वसनीय बताया है. कपिल ने एक सवाल के जवाब में कहा,‘शानदार. पिछले 15 महीने में कोई और टीम तेज गेंदबाजी में इतना अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी. भारतीय टीम ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया. यह अविश्वसनीय है.'मैदान पर विराट कोहली (Virat Kohli) की आक्रामकता के बारे में पूछने पर कपिल देव ने कहा कि जब तक टीम अच्छा खेल रही है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. उन्होंने कहा,‘एमएस धोनी (MS Dhoni) का इतना खामोश रहना खेल के लिये अच्छा था या बुरा. हर कप्तान की अपनी सोच होती है और यह आप पर निर्भर करता है कि आप इसे कैसे लेते हैं. मैदान पर जब तक वह अच्छा प्रदर्शन कर रहा है , इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.दो लोग एक जैसे नहीं हो सकते.'

IND vs AUS 2nd Test: बुमराह ने पर्थ में वह कर डाला, जो कपिल देव भी नहीं कर सके


गौरतलब है कि कपिल देव की कप्‍तानी में भारतीय टीम ने वर्ष 1983 का वर्ल्‍डकप जीता था. इस वर्ल्‍डकप में कपिल देव ने जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ नाबाद 175 रन की ऐतिहासिक पारी भी खेली थी. वर्ल्‍डकप की इस खिताबी जीत ने भारतीय क्रिकेट की सूरत बदलकर रख दी. कपिल देव के देश के क्रिकेट में उभरने के पहले भारतीय गेंदबाजी आक्रमण स्पिनरों पर निर्भर हुआ करता था. उस समय तेज गेंदबाजों (मध्‍यम गति के गेंदबाज) की भूमिका गेंद की चमक को खत्‍म करने तक ही सीमित होती थी ताकि स्पिन गेंदबाजों को आक्रमण पर लगाया जा सके.

टिप्पणियां

वीडियो: मैडम तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली

कपिल के आने के बाद तेज गेंदबाजी की सूरत बदली. उनकी कामयाबी ने युवा खिलाड़ि‍यों को तेज गेंदबाजी में करियर बनाने के लिए प्रेरित किया. कपिल के बाद जवागल श्रीनाथ, वेंकटेश प्रसाद, अजित आगरकर, आशीष नेहरा और जहीर खान जैसे खिलाड़ि‍यों ने भारतीय तेज गेंदबाजी का पहचान दी.(इनपुट: एजेंसी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement