Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

INDvsNZ : पहली बार टेस्ट की मेजबानी के लिए इंदौर तैयार, 90 फीसद टिकट बिके

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsNZ : पहली बार टेस्ट की मेजबानी के लिए इंदौर तैयार, 90 फीसद टिकट बिके

फाइल फोटो

खास बातें

  1. सैयद मुश्ताक अली की जन्मभूमि पहली बार टेस्ट क्रिकेट गवाह बनने को तैयार
  2. होलकर स्टेडियम के बाहर लोग अपने चहेते खिलाड़ियों की एक झलक पाने को बेताब
  3. शुक्रवार को दिनभर मौसम साफ रहा और धूप खिली रही
इंदौर:

भारत और न्यूजीलैंड के बीच जारी वर्तमान टेस्ट सीरीज के शनिवार यानी आठ अक्टूबर से शुरू होने वाले तीसरे और आखिरी मैच के लिए यहां मैदान सज चुका है और महान खिलाड़ी सैयद मुश्ताक अली की जन्मभूमि पहली बार टेस्ट क्रिकेट गवाह बनने को तैयार है. इस मैच को लेकर स्थानीय दर्शकों के उत्साह का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि भारत और न्यूजीलैंड के अभ्यास सत्र के दौरान कल और आज होलकर स्टेडियम के बाहर खासकर उन युवाओं की भारी भीड़ जमा रही जो किसी भी तरह अपने चहेते खिलाड़ियों की एक झलक पाने को बेताब थे.

मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) रोहित पंडित ने शनिवार को बताया, 'भारत-न्यूजीलैंड टेस्ट के लिए बिक्री को उपलब्ध करीब 19,000 टिकटों में से 90 प्रतिशत टिकट बिक चुके हैं.

हम उम्मीद करते हैं कि दर्शकों को दोनों देशों के बीच शानदार क्रिकेट देखने को मिलेगा.' इस बीच, मौसमी हालात भी भारत-न्यूजीलैंड टेस्ट के लिए अनुकूल होते नजर आ रहे हैं. शहर में हफ्ते भर से रक-रक कर हल्की बारिश हो रही थी और वातावरण में नमी बनी हुई थी लेकिन शुक्रवार को दिनभर मौसम साफ रहा और धूप खिली रही.


मध्यप्रदेश के इस सबसे बड़े शहर में भारत और न्यूजीलैंड के बीच 28 साल के लम्बे अंतराल के बाद दूसरी दफा भिड़ंत होने वाली है. हालांकि, इस मुकाबले के दौरान खेल का प्रारूप बदल गया है और स्टेडियम भी अलग है.  

इंदौर में भारत और न्यूजीलैंड की पहली भिड़ंत  नेहरू स्टेडियम में 15 दिसंबर 1988 को खेले गए एक दिवसीय मैच में हुई थी, जब दिलीप वेंगसरकर की अगुवाई वाली मेजबान टीम ने जॉन राइट की कप्तानी में आई मेहमान टीम को 53 रन से हराया था. नेहरू स्टेडियम की हालत खराब होने के कारण इसमें वर्ष 2001 में अंतरराष्ट्रीय मैचों का आयोजन बंद कर दिया गया था. इसके बाद अंतरराष्ट्रीय मुकाबले मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के होलकर स्टेडियम में खेले जाने लगे.

वैसे करीब 27,000 दर्शकों की क्षमता वाला होलकर स्टेडियम भारतीय टीम के लिये बेहद भाग्यशाली रहा है. दशक भर में इस स्टेडियम में भारत ने चार एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं और मेजबान टीम को चारों मुकाबलों में जीत हासिल हुई है. इस स्टेडियम में पिछला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच 14 अक्तूबर 2015 को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला गया था.

टिप्पणियां

इस मुकाबले में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 22 रन से शिकस्त दी थी. बीसीसीआई की गत नवंबर में आयोजित वाषिर्क साधारण सभा :एजीएम: में इंदौर के साथ पुणे, राजकोट, विशाखापट्टनम, धर्मशाला और रांची को टेस्ट केंद्र का दर्जा प्रदान किया गया था.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... अब पाकिस्तानी ऑलराउंडर शाहिद आफरीदी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर कसा यह ताना

Advertisement