NDTV Khabar

INDvsAUS:वाह! क्‍या खूब खेले 'सर' रवींद्र जडेजा, धर्मशाला की पारी के आगे पिछले 6 अर्धशतक फीके पड़े

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsAUS:वाह! क्‍या खूब खेले 'सर' रवींद्र जडेजा, धर्मशाला की पारी के आगे पिछले 6 अर्धशतक फीके पड़े

धर्मशाला में रवींद्र जडेजा ने बेहतरीन अर्धशतकीय पारी खेली (फाइल फोटो)

टिप्पणियां
रवींद्र जडेजा को ऐसे खिलाड़ी के रूप में जाना जाता है जो कि गेंदबाजी में जलवे बिखरने के बावजूद अपनी बल्‍लेबाजी की क्षमता के साथ अब तक न्‍याय नहीं कर सका है. बहरहाल, धर्मशाला टेस्‍ट में विपरीत परिस्थितियों में शानदार बल्‍लेबाजी का प्रदर्शन कर आलोचकों के मुंह एक हद तक बंद करने की कोशिश की. जडेजा ने धर्मशाला टेस्‍ट की पहली पारी में ऐसे वक्‍त पर 63 रन की पारी खेली जब टीम इंडिया को इसकी सख्‍त जरूरत थी.  जडेजा की इस पारी को उनकी अब तक की सर्वश्रेष्‍ठ पारी माना जा सकता है. दरअसल इस पारी ने टीम इंडिया को ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पहली पारी के आधार पर बढ़त दिलाने में अहम योगदान दिया. यह भी ध्‍यान रखने लायक है कि यह पारी धर्मशाला के तेज गेंदबाजों (कुछ हद तक स्पिनरों के लिए भी) के मददगार विकेट पर खेली गई. गौरतलब है कि जडेजा घरेलू क्रिकेट में तीन तिहरे शतक बना चुके हैं लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट में अभी तक एक भी शतक उनके नाम नहीं है. टेस्‍ट में सात (धर्मशाला की पारी को मिलाकर)और वनडे में 10 अर्धशतक जरूर उनके नाम पर दर्ज है.

अपनी इस पारी में जडेजा ने धैर्य और आक्रामक क्षमता, दोनों का प्रदर्शन किया.  अपनी 63 रनों की पारी के दौरान जड्डू ने 95 गेंदों का सामना किया और चार चौके तथा इतने ही छक्‍के लगाए. खास बात यह रही कि स्पिन और तेज गेंदबाजों के खिलाफ बल्‍ले का मुंह खोलने से भी वे नहीं चूके. मैच के दूसरे दिन की समाप्ति पर टीम इंडिया का स्‍कोर 6 विकेट पर 248 रन था और ऐसा लग रहा था कि ऑस्‍ट्रेलिया के 300 रन के पहले ही कहीं टीम इंडिया की पहली पारी समाप्‍त न हो जाए. इस आशंका के पीछे वजह भी थी. हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला का विकेट शुरुआत घंटे में तेज गेंदबाजों की मदद करता है. ऐसा माना जा रहा था कि जोश हेजलवुड और पैट कमिंस की जोड़ी पहले घंटे में ही टीम इंडिया पर भारी पड़ सकती है लेकिन साहा और जडेजा की जोड़ी ने ऐसा नहीं होने दिया. इन्‍होंने पहले घंटे में ऑस्‍ट्रेलियाई गेंदबाजों को कोई विकेट नहीं लेने दिया और टीम को बढ़त पर पहुंचा दिया. एक तरह से यह बढ़त टीम इंडिया की ऑस्‍ट्रेलिया पर 'मनोवैज्ञानिक जीत' मानी जा सकती है. हालांकि जडेजा के आउट होने के बाद टीम इंडिया की पारी बहुत लंबी नहीं खिंच सकी और टीम लंच के पहले 332 रन बनाकर आउट हो गई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement