INDvsAUS 4th ODI : ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 25 रन से हराया, सीरीज में 4-0 से ली बढ़त

INDvsAUS 4th ODI : ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 25 रन से हराया, सीरीज में 4-0 से ली बढ़त

विराट कोहली (फाइल फोटो)

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चौथा वनडे कैनबरा के मानुका ओवल मैदान पर खेला गया। ऑस्ट्रेलिया के 349 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया 49.2 ओवर में 323 रन पर ऑलआउट हो गई। इस प्रकार उसे 25 रनों से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार चौथी हार का सामना करना पड़ा। टीम इंडिया ने आखिरी ओवरों में महज 46 बनाकर 9 विकेट खो दिए। केन रिचर्डसन को मैन ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने 10 ओवर में 65 रन देकर 5 विकेट झटके।

-------- ---------- ----------- ------------- ------------ ------------- ------------- ----------
यह भी पढ़ें - कैनबरा ODI : टीम इंडिया की तय जीत के हार में बदल जाने के मुख्य कारण
-------- ---------- ----------- ------------- ------------ ------------- ------------- ----------

टीम इंडिया की बैटिंग का अपडेट :

41 से 50 ओवर : 6 खोए, हार तय
274 रन पर एक विकेट के साथ एक समय काफी मजबूत स्थिति में दिख रही टीम इंडिया बिखर गई और जमे हुए खिलाड़ियों ने अपना विकेट फेंक दिया। खासतौर से विराट कोहली ने बिल्कुल आसान कैच थमा दिया। 40वें ओवर तक टीम इंडिया का स्कोर चार विकेट पर 282 रन था, लेकिन 41 से 50 ओवर के बीच हमने 6 विकेट खो दिए, जबकि जीत के लिए 67 रन चाहिए थे।

31 से 40 ओवर : टीम इंडिया बिखरी
आउट होने से पहले शिखर धवन ने 31वें ओवर में 92 गेंदों में अपना शतक पूरा किया। यह उनके वनडे करियर का नौवां शतक रहा। धवन ने 113 गेंदों में 126 रन बनाए, जिसमें 14 चौके और दो छक्के शामिल रहे। 38वें ओवर में धवन के बाद कप्तान एमएस धोनी भी बिना खाता खोले ही चलते बने। इसके बाद विराट कोहली ने भी गैर-जिम्मेदराना शॉट खेलकर अपना विकेट फेंक दिया। उन्होंने 92 गेंदों में 106 रन बनाए, जिसमें 11 चौके और एक छक्का शामिल रहा।

शिखर धवन और कोहली ने 212 रन की साझेदारी की (फोटो : AP)

इससे पहले 35वें ओवर में मिचेल मार्श की गेंद पर पॉइंट पर खड़े जॉर्ज बेली ने शिखर धवन का कैच पकड़ने की अपील की थी, लेकिन अंपायर संतुष्ट नहीं हुए और उन्होंने थर्ड अंपायर की मदद ली। टीवी रीप्ले के अनुसार अंपायर ने उन्हें नॉटआउट करार दिया।

21 से 30 ओवर : विराट-शिखर के बीच 150 से अधिक की साझेदारी
विराट कोहली और शिखर धवन ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम इंडिया की पहली जीत की आस कायम रखी। दोनों ने 150 से अधिक की साझेदारी करते हुए 30वें ओवर के अंत तक टीम इंडिया का स्कोर एक विकेट पर 227 रन तक पहुंचा दिया, जबकि ऑस्ट्रेलिया ने 30 ओवर में एक विकेट पर 188 रन बनाए थे।

11 से 20 ओवर : रोहित के बाद विराट-शिखर ने बनाए रखा मोमेंटम
तेज शुरुआत देने के बाद रोहित शर्मा के आउट हो जाने पर भी शिखर धवन और विराट कोहली ने रनगति कम नहीं होने दी और टीम इंडिया ने 12.2 ओवर में ही अपने 100 रन पूरे कर लिए। यदि ऑस्ट्रेलिया से तुलना करें, तो उसने 20 ओवर में बिना कोई विकेट खोए 125 रन बनाए थे, जबकि टीम इंडिया ने एक विकेट पर 155 रन बना लिए।इसमें धवन और विराट की फिफ्टी का अहम रोल रहा।

पहले 10 ओवर : तेज पारी के बाद रोहित आउट
कप्तान स्टीव स्मिथ ने सबको चौंकाते हुए गेंदबाजी की शुरुआत तेज गेंदबाजों की बजाए स्पिनर नैथन लियोन से कराई। उन्होंने अपने पहले ओवर में 6 रन दिए, जिसमें रोहित शर्मा का एक शानदार चौका भी शामिल था। शुरुआती ओवर में शिखर धवन और रोहित शर्मा ने धीमी शुरुआत की, लेकिन 8वें ओवर में रिचर्डसन की गेंदों पर रोहित शर्मा ने 16 रन ठोक दिए। हालांकि वे ओवर की अंतिम गेंद पर लेग साइड में खेलने के चक्कर में विकेटकीपर मैथ्यू वेड को कैच दे बैठे। उन्होंने 25 गेंदों में 41 रन बनाए, जिसमें दो चौके और तीन छक्के शामिल रहे। 10वें ओवर में टीम इंडिया का स्कोर एक विकेट पर 80 रन रहा।

टीम इंडिया की दयनीय गेंदबाजी
इससे पहले पहली बार भारतीय गेंदबाजों को सीरीज में पहली बार पहले गेंदबाजी का मौका मिला। सभी गेंदबाजों ने दिशाहीन गेंदबाजी करते हुए जमकर रन लुटाए। इससे ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवर में 8 विकेट पर 348 रन का विशाल स्कोर बना लिया। ईशांत शर्मा ने चार विकेट जरूर लिए, लेकिन उन्होंने 10 ओवर में 77 रन लुटा दिए। उमेश यादव को तीन विकेट मिले, लेकिन उनकी भी खूब पिटाई हुई और उन्होंने 10 ओवर में 67 रन दे डाले।
----------- ---------- ---------- ---------- ----------- ---------- ----------- ---------
यह भी पढ़ें - क्या करें कप्तान धोनी : ईशांत, उमेश और भुवी की फिर वही कहानी...
----------- ---------- ---------- ---------- ----------- ---------- ----------- ---------

ऑस्ट्रेलिया की बैटिंग का अपडेट

41 से 50 ओवर : स्मिथ-मैक्सवेल की तूफानी पारी
डेविड वॉर्नर और फिंच के आउट होने के बाद कप्तान स्टीव स्मिथ ने मोर्चा संभाला और भारतीय गेंदबाजों की जमकर पिटाई की। उन्होंने धीमी पड़ रही रनगति को एक बार फिर से तेजी प्रदान की। स्मिथ ने अनुभवी ईशांत शर्मा और भुवनेश्वर कुमार की गेंदों पर भी चौके और छक्के जड़े। स्मिथ का साथ दे रहे मिचेल मार्श 42 गेंदों में 33 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें उमेश यादव की गेंद पर कोहली ने लपका। इसके बाद कप्तान स्टीव स्मिथ 29 गेंदों में 51 रन की तूफानी पारी खेलने के बाद ईशांत शर्मा की गेंद पर छक्का लगाने के फेर में गुरकीरत सिंह को कैच दे बैठे। ग्लेन मैक्सवेल 20 गेंदों में 41 रन बनाकर पारी की अंतिम गेंद पर आउट हुए।

31 से 40 ओवर : फिंच शतक बनाकर आउट
डेविड वॉर्नर के शतक से चूकने के बाद एरॉन फिंच ने 34वें ओवर में वनडे करियर की 7वीं सेंचुरी पूरी की। उन्होंने इसके लिए 97 गेंदें खेलीं। 30वें ओवर में एकमात्र सफलता हासिल करने के बाद भारतीय गेंदबाज एक बार फिर विकेट को तरसे। 38वें ओवर में आउट होने से पहले फिंच ने 107 रन बनाए। 40वें ओवर की समाप्ति पर ऑस्ट्रेलिया ने दो विकेट पर 237 रन बना लिए। हालांकि इस बीच उनकी रन बनाने की गति थोड़ी धीमी रही।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

21 से 30 ओवर : शतक से चूके वॉर्नर, आक्रामक शॉट खेलने की कोशिश में आउट
वॉर्नर के साथ शतकीय साझेदारी करने के बाद फिंच ने भी अपनी फिफ्टी पूरी की। टीम इंडिया का कोई भी गेंदबाज बिल्कुल भी प्रभावी नजर नहीं आया। दोनों ऑस्ट्रेलियाई ओपनर्स ने चारों ओर दिल खोलकर शॉट खेले और हमारे गेंदबाज विकेट को तरसते दिखे। सपाट विकेट पर विकेट टू विकेट गेंदबाजी के स्थान पर भारतीय गेंदबाज प्रयोग करते दिखे और यहां-वहां गेंदें फेंककर मार खाते रहे। 30वें ओवर में टीम इंडिया को पहली सफलता ईशांत शर्मा ने दिलाई। उन्होंने जमकर खेल रहे डेविड वॉर्नर को 93 के निजी स्कोर पर बोल्ड किया। दरअसल वॉर्नर ने शतक के करीब होने के बावजूद आक्रामक शॉट लगाने की कोशिश की और विकेट दे बैठे। 30वें ओवर की समाप्ति पर ऑस्ट्रेलिया ने एक विकेट पर 188 रन बना लिए।

डेविड वॉर्नर कैनबरा में शतक बनाने से चूक गए (फोटो : AFP)
 
11 से 20 ओवर : वॉर्नर-फिंच की शतकीय साझेदारी, अंपायर कैटलब्रॉ बाहर

डेविड वॉर्नर और एरॉन फिंच ने ऑस्ट्रेलिया को धमाकेदार शुरुआत देने के बाद पारी को और मजबूती प्रदान की। वॉर्नर को 12वें ओवर में गुरकीरत सिंह की गेंद पर जीवनदान मिला, जब उमेश यादव ने उनका कैच टपका दिया। हालांकि यह चांस थोड़ा मुश्किल था, लेकिन उनके दोनों हाथ गेंद तक पहुंच गए थे. फिर भी वे उसे पकड़ नहीं सके। वॉर्नर ने जहां अपनी फिफ्टी पूरी की, वहीं फिंच ने इस मैच में वनडे क्रिकेट में अपने 2000 रन पूरे कर लिए। दोनों ने 10 से 20 ओवर के बीच में 66 रन जोड़े और टीम का कुल स्कोर 20वें ओवर की समाप्ति पर बिना किसी नुकसान के 125 रन तक पहुंचा दिया। इस बीच अंपायर केटलब्रॉ भी मैदान के बाहर चले गए, क्योंकि उन्हें छठवें ओवर में ईशांत की गेंद पर चोट लग गई थी। उनकी जगह अंपायर विल्सन ने दूसरे मैदानी अंपायर की कमान संभाली। दरअसल फिंच ने ईशांत की एक गेंद को सीधे बल्ले से खेला था, जो केटलब्रॉ को जा लगी। बाद में उन्होंने भी हेलमेट पहन लिया था, जबकि अंपायर जॉन वार्ड पहले से ही हेलमेट लगाए हुए थे।

पहले 10 ओवर : टीम इंडिया का वही हाल
चौथे वनडे में भी टीम इंडिया के लिए कुछ नहीं बदला। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने एक फिर उसके गेंदबाजों की पिटाई शुरू कर दी। पहला ओवर उमेश यादव ने मेडन डाला, लेकिन उसके बाद वॉर्नर ने भुवनेश्वर कुमार के दूसरे ओवर में 13 रन ठोक दिए। इसके बाद उन्होंने यादव के तीसरे ओवर में 14 रन जड़ दिए। 10वें ओवर की समाप्ति पर ऑस्ट्रेलिया ने बिना कोई विकेट खोए 59 रन बना लिए।