NDTV Khabar

INDvsAUS: ऑस्‍ट्रेलिया के ग्‍लेन मैक्‍सवेल और टीम इंडिया के करुण नायर में है यह समानता...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsAUS: ऑस्‍ट्रेलिया के ग्‍लेन मैक्‍सवेल और टीम इंडिया के करुण नायर में है यह समानता...

मैक्‍सवेल ने रांची में शतक बनाया जबकि करुण नायर ने चेन्‍नई टेस्‍ट में तिहरा शतक बनाया था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. जो है सर्वोच्‍च स्‍कोर, उतने रन बाकी पारियों में मिलाकर भी नहीं बना पाए
  2. रांची टेस्‍ट में ग्‍लेन मैक्‍सवेल ने खेली है शतकीय पारी
  3. चेन्‍नई टेस्‍ट में तिहरा शतक बनाकर सुर्खियों में आए थे करुण नायर
रांची टेस्‍ट में ऑस्‍ट्रेलिया के कप्‍तान स्‍टीव स्मिथ के बाद तेजतर्रार बल्‍लेबाज ग्‍लेन मैक्‍सवेल भी शतक लगाने में कामयाब हुए हैं. स्मिथ ने जहां मैच में पहले दिन शतक बनाया था वहीं मैक्‍सवेल ने दूसरे दिन शतक पूरा किया. मूल रूप से शॉर्टर फॉर्मेट के विशेषज्ञ खिलाड़ी माने जाने वाले मैक्‍सवेल ने इस शतकीय पारी से साबित किया है कि उनमें टेस्‍ट क्रिकेट में भी कामयाब होने का जज्‍बा है. मैक्‍सवेल के टेस्‍ट करियर का यह पहला शतक है. मैक्‍सवेल के करियर का यह चौथा टेस्‍ट है.

टिप्पणियां
रांची में टीम इंडिया के खिलाफ शतकीय पारी से मैक्‍सवेल ने ऑस्‍ट्रेलियाई टेस्‍ट टीम में नियमित स्‍थान बनाने का दावा पेश किया है. इस पारी के दौरान मैक्‍सवेल और टीम इंडिया के बल्‍लेबाज करुण नायर के बीच अजीब समानता सामने आई. दरअसल, मैक्‍सवेल और नायर का जो टेस्‍ट क्रिकेट का सर्वोच्‍च स्‍कोर है, उतनी रनसंख्‍या ये दोनों बल्‍लेबाज अपनी बाकी की सारी पारियों को मिलाकर भी नहीं बना पाए हैं. पहले बात, रांची में शतक बनाने वाले मैक्‍सवेल की. 'मैक्‍सी' ने इस टेस्‍ट की पहली पारी में 104 रन की पारी खेली. उन्‍हें लेग स्पिनर रवींद्र जडेजा ने विकेटकीपर साहा के हाथों कैच कराया. 104 रन के इस स्‍कोर को अलग कर दें तो मैक्‍सवेल का शेष तीन टेस्‍ट की छह पारियों का जोड़ 80 रन है.  दूसरे शब्‍दों में कहें तो मैक्‍सवेल ने रांची में जितने रन बनाए, उतने रन वे अपने तीन टेस्‍ट की छह पारियों में मिलाकर भी नहीं बना पाए. भारत के खिलाफ हैदराबाद (मार्च 2013) में टेस्‍ट डेब्‍यू करने वाले मैक्‍सवेल ने अपने पहले टेस्‍ट में 13 रन और 8 रन बनाए थे. दिल्‍ली के अपने दूसरे टेस्‍ट में उनका स्‍कोर 10 और 8 रन रहा. मैक्‍सवेल ने अपना तीसरा टेस्‍ट पाकिस्‍तान के खिलाफ अबूधाबी में खेला जिसमें उन्‍होंने 37 और 4 रन बनाए. रांची टेस्‍ट के दूसरे दिन की शुरुआत मैक्‍सवेल के लिए नाटकीय सी रही. दिन की पहली ही गेंद पर उमेश यादव की तेज गेंद पर उनका बल्‍ला टूट गया.

टीम इंडिया के नवोदित बल्‍लेबाज करुण नायर की स्थिति भी मैक्‍सवेल की तरह ही है. करुण ने अपने टेस्‍ट करियर का सर्वोच्‍च स्‍कोर चेन्‍नई टेस्‍ट में इंग्‍लैंड के खिलाफ तिहरे शतक के रूप में बनाया था. इस मैच में करुण ने नाबाद 303 रन बनाए थे. रांची में करुण अपना पांचवां टेस्‍ट खेल रहे हैं. नाबाद 303 रन की उनकी सर्वोच्‍च पारी को छोड़ दिया जाए तो शेष चार पारियों में उनकी रन संख्‍या का जोड़ 43 रन.. जी हां महज 43 रन रहा.  इंग्‍लैंड के खिलाफ मोहाली में टेस्‍ट करियर का आगाज करने वाले इस मैच में 4 रन (दूसरी पारी में बैटिंग का मौका नहीं मिला) बनाए. मुंबई टेस्‍ट की एक पारी में उन्‍होंने 13 रन बनाए . चेन्‍नई टेस्‍ट में इंग्‍लैंड के खिलाफ बनाए गए 303*  के स्‍कोर के बाद उन्‍हें ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरू टेस्‍ट में मौका मिला जिसमें उन्‍होंने पहली पारी में 26 रन बनाए जबकि दूसरी पारी में बिना कोई रन बनाए (0) आउट हो गए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement