NDTV Khabar

INDvsAUS:पुणे की हार और ICC की खिंचाई का असर! बैटिंग के लिए अनुकूल रह सकती है बेंगलुरू की पिच

35 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsAUS:पुणे की हार और ICC की खिंचाई का असर! बैटिंग के लिए अनुकूल रह सकती है बेंगलुरू की पिच

भारत-ऑस्‍ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्‍ट बेंगलुरू के चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम में खेला जाएगा (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पुणे में हुआ पहला टेस्‍ट महज तीन दिन में हो गया था खत्‍म
  2. वहां के विकेट को मैच रैफरी क्रिस ब्रॉड ने खराब बताया है
  3. चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम की पिच पर हल्‍की घास हो सकती है
बेंगलुरू: ऑस्ट्रेलिया के हाथों पहला टेस्ट तीन दिन के भीतर हारने और पुणे टेस्ट की पिच की खराब गुणवत्ता को लेकर आईसीसी से खिंचाई झेलने का असर बेंगलुरू के चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम की पिच पर दिख सकता है. इस बात की संभावना है कि पिच बैटिंग के लिए अनुकूल रह सकती है, इसके साथ ही इस पर हल्‍की घास भी हो सकती है. गौरतलब है कि भारतीय टीम पुणे में स्पिन के अनुकूल पिच पर स्‍टीव स्मिथ के नेतृत्‍व वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना करने उतरी थी, लेकिन उसका दांव उल्टा पड़ा था. आस्ट्रेलियाई स्पिन गेंदबाज स्टीव ओकीफी ने दोनों पारियों में छह-छह विकेट चटकाते हुए भारत की दोनों पारियां 105 और 107 रन पर समेट दिया था. मैच में टीम इंडिया को 333 रनों की हार का सामना करना पड़ा था.

इसे पुणे टेस्‍ट में मिली हार का असर मानें या वहां की पिच को लेकर मैच रैफरी की रिपोर्ट, लेकिन भारतीय टीम को कोशिश अब बल्लेबाजी के अनुकूल पिच पर उतरने की हो सकती है. दूसरा टेस्ट मैच बेंगलुरू के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में शनिवार से शुरू होगा. वेबसाइट 'ईएसपीएनक्रिकइंफो' के अनुसार, दूसरा टेस्ट मैच शुरू होने में तीन दिन रह गए हैं और चिन्नास्वामी स्टेडियम की पिच पर घास की एक हल्की परत दिख रही है. हालांकि एक छोर पर घास के बीच जमीन का एक पैच भी दिख रहा है, जो बाएं हाथ के बल्लेबाज के लिए ऑफ स्टंप के करीब है. वेबसाइट के अनुसार, यह भारतीय उपमहाद्वीप की चिर-परिचित अंदाज वाली बल्लेबाजी के अनुकूल धीमी पिच हो सकती है.

इससे पहले, कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केसीए) के सचिव सुधाकर राव भी कह चुके हैं कि चिन्‍नास्‍वामी स्‍टेडियम की पिच ऐसी होगी जिस पर बल्ले और गेंद के बीच बराबरी का मुक़ाबला हो सके. उन्‍होंने कहा कि 'हमारा मकसद है कि स्पोर्टिंग पिच बने और मैच पूरे पांच दिन चले. हम नहीं चाहेंगे कि मैच दो या तीन दिन में ख़त्म हो जाए.' राव ने कहा कि हम पिच की नमी को बरक़रार रखने की कोशिश कर रहे हैं. हमने पिच पर पानी देना बंद नहीं किया है और मैच से एक-दो दिन पहले तक पिच पर पानी डाला जाएगा. तब हम देखेंगे कि पिच की क्या स्थिति है फिर कोई फ़ैसला लिया जाएगा. (एजेंसी से इनपुट)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement