NDTV Khabar

INDvsSL First Test: टीम इंडिया के 'गब्‍बर' ने इस मामले में की वीरेंद्र सहवाग, सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ की बराबरी

भारत और श्रीलंका के बीच गाले टेस्‍ट के दौरान शिखर धवन ने एक और उपलब्धि अपने नाम की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsSL First Test: टीम इंडिया के 'गब्‍बर' ने इस मामले में की वीरेंद्र सहवाग, सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ की बराबरी

शिखर धवन ने गाले टेस्‍ट की दोनों पारियों में कुल मिलाकर 204 रन बनाए (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पहली पारी में 190 और दूसरी पारी में 14 रन बनाए
  2. श्रीलंका के खिलाफ इस टेस्‍ट में बनाए कुल 204 रन
  3. सहवाग दो बार बना चुके हैं 200 या इससे ज्‍यादा रन
गाले: भारत और श्रीलंका के बीच गाले टेस्‍ट के दौरान शिखर धवन ने एक और उपलब्धि अपने नाम की. पहली पारी में 190 रन की पारी खेली जबकि दूसरी पारी में वे 14 रन पर आउट हो गए. इस तरह वे श्रीलंका के खिलाफ एक टेस्‍ट में 200 या इससे अधिक रन बनाने वाले भारत के चौथे बल्‍लेबाज बन गए हैं. 'गब्‍बर' के नाम से लोकप्रिय शिखर ने इस मामले में वीरेंद्र सहवाग, सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ जैसे धाकड़ बल्‍लेबाजों की उपलब्धि की बराबरी की. ये दोनों बल्‍लेबाज श्रीलंका के खिलाफ एक टेस्‍ट में 200 या इससे अधिक रन बना चुके हैं. वीरेंद्र सहवाग को यह काम श्रीलंका के खिलाफ दो बार कर चुके हैं.

गाले टेस्‍ट में धवन का दोनों पारियों का योग 204 रन रहा. पहली पारी में उन्‍होंने अपने टेस्‍ट करियर का सर्वोच्‍च स्‍कोर (190 रन) बनाया. दिल्‍ली के धवन का टेस्‍ट में पिछला सर्वोच्‍च स्‍कोर 187 रन था जो उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ वर्ष 2013 में मोहाली में बनाया था. अपनी 190 रन की इस पारी के दौरान भी धवन रिकॉर्ड बुक में अपना स्‍थान दर्ज कराने में भी सफल रहे थे.

यह भी पढ़ें
धवन और पुजारा के शतक, पहले ही दिन भारत ने लगाया रनों का अंबार

31 वर्षीय धवन, सर डॉन ब्रेडमैन और वीरेंद्र सहवाग के बाद ऐसे तीसरे बल्‍लेबाज हैं जिन्‍होंने दो बार, किसी मैच के एक सेशन में 100 या इससे अधिक रन बनाए हैं.इससे पहले अपने टेस्‍ट डेब्‍यू के दौरान भी वर्ष 2013 में धवन ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे सेशन (स्‍थान मोहाली) में 106 रन बनाए थे. धमाकेदार बल्‍लेबाज वीरेंद्र सहवाग यह उपलब्धि वर्ष 2005 (विरुद्ध पाकिस्‍तान) और वर्ष 2007 (विरुद्ध दक्षिण अफ्रीका) में हासिल कर चुके हैं. दुनिया के सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाज ब्रेडमैन ने वर्ष 1930 और 1934 में यह कारनामा किया था.

INDvsWI : शतकीय साझेदारी के दौरान रहाणे-धवन की जोड़ी ने बनाए यह रिकॉर्ड

धवन एक तरह से किस्‍मत के सहारे ही श्रीलंका दौरे की भारत की टेस्‍ट टीम का हिस्‍सा बनने में सफल रहे थे. उन्‍हें श्रीलंका दौरे की टेस्‍ट टीम में नहीं चुना गया था, लेकिन टेस्‍ट टीम में चुने गए सलामी बल्‍लेबाज मुरली विजय कलाई की चोट के कारण बाहर हो गए. उनकी जगह धवन को टीम में स्‍थान मिल गया. बाएं हाथ के इस बल्‍लेबाज ने हासिल हुए इस मौके पर भरपूर फायदा उठाया और ऐसी धमाकेदार पारी खेली कि अगले कुछ समय तक टेस्‍ट टीम में अपना स्‍थान लगभग निश्चित कर लिया. धवन ने इससे पहले इंग्‍लैंड में आयोजित चैंपियंस ट्रॉफी में भी बल्‍ले से खूब धमाल मचाया था.

वीडियो : प्रदर्शन में निरंतरता लाना है धवन का लक्ष्‍य



गाले टेस्‍ट में एक और मामले में भी धवन को किस्‍मत का साथ मिला. पहली पारी के शुरुआती क्षणों में ही श्रीलंका के असेला गुणरत्‍ने ने उनका कैच ड्रॉप कर दिया. इसके बाद धवन ने कोई मौका नहीं दिया और बड़ा शतक जड़ दिया. श्रीलंका टीम को यह कैच ड्रॉप होने के साथ एक और निराशा मिली. कैच पकड़ने की कोशिश के दौरान गुणरत्‍ने अपने बाएं अंगूठे पर चोट खा बैठे और मैच से बाहर हो गए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement