NDTV Khabar

INDvsSL: विकेट लेने की 'मशीन' बनते जा रहे आर. अश्विन, इस मामले में अभी अनिल कुंबले से हैं पीछे

श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो टेस्‍ट में रविचंद्रन अश्विन ने पहली पारी में पांच विकेट हासिल किए.

83 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
INDvsSL: विकेट लेने की 'मशीन' बनते जा रहे आर. अश्विन, इस मामले में अभी अनिल कुंबले से हैं पीछे

रविचंद्रन अश्विन ने कोलंबो टेस्‍ट की पहली पारी में पांच विकेट लिए (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 26 बार पारी में हासिल कर चुके हैं पांच या इससे ज्‍यादा विकेट
  2. अनिल कुंबले ने टेस्‍ट में 35 बार पांच या इससे ज्‍यादा विकेट लिए
  3. कोलंबो टेस्‍ट की पहली पारी में अश्विन ने पांच विकेट हासिल किए
कोलंबो: श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो टेस्‍ट में रविचंद्रन अश्विन ने पहली पारी में पांच विकेट हासिल किए. अश्विन के इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारतीय टीम श्रीलंका टीम को पहली पारी में 183 रन पर आउट करके फॉलोआन देने में सफल रही. मैच के दूसरे दिन ही अश्विन ने श्रीलंका उपुल थरंगा और दिमुथ करुणारत्‍ने के विकेट ले लिए थे. उन्‍होंने आज मैच के तीसरे दिन श्रीलंका की पहली पारी के दौरान एंजेलो मैथ्‍यूज, दिलरुवान परेरा और नुवान प्रदीप को भी आउट किया. अश्विन करियर का 51वां टेस्‍ट खेल रहे हैं और 26बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट (श्रीलंका की पहली पारी तक) हासिल कर चुके हैं. भारत की ओर से इससे ज्‍यादा बार पारी में पांच या अधिक विकेट टीम इंडिया के पूर्व कोच अनिल कुंबले ने ही हासिल किए हैं. दाएं हाथ के लेग स्पिनर कुंबले ने 131 टेस्‍ट में 35 बार पारी में पांच या इससे ज्‍यादा विकेट लिए थे.

अश्विन ने आज पांच या इससे ज्‍यादा विकेट लेने के हरभजन सिंह के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा. 'भज्‍जी' ने 103 टेस्‍ट में 25 बार यह उपलब्धि हासिल की है. महान हरफनमौला कपिलदेव 23 और पूर्व लेग स्पिनर भगवत चंद्रशेखर 16 बार पारी में पांच या इससे ज्‍यादा विकेट लेने की उपलब्धि हासिल कर चुके हैं. कपिलदेव ने 131 और चंद्रशेखर ने 58 टेस्‍ट मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्‍व किया था.

यह भी पढ़ें : वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के बाद अश्विन जा पहुंचे 250वें शिकार रहीम के पास

साल 2016 में 72 टेस्ट विकेट लेकर आईसीसी के बेस्ट टेस्ट क्रिकेटर ऑफ ईयर बने अश्विन का प्रदर्शन दिनोंदिन बेहतर होता जा रहा है. अश्विन ने गेंदबाजी में ही नहीं बल्कि बल्लेबाजी में भी जौहर दिखाया है. वह टेस्ट मैचों में अब तक चार शतक लगा चुके हैं.  वेस्टइंडीज के खिलाफ वर्ष  2011 में टेस्ट मैचों में ऑफ स्पिनर के रूप में टीम इंडिया में जगह बनाने वाले रविचंद्रन अश्विन ने वर्ल्ड क्रिकेट में खुद एक ऑलराउंडर के रूप में स्थापित कर लिया है.

यह भी पढ़ें : समरवीरा बोले, आर. अश्विन ले सकते हैं 800 तक विकेट 

अश्विन की क्रिकेट की उपलब्धियों को देखकर हर कोई उनकी सराहना कर रहा है, फिर चाहे वह कोई भारतीय क्रिकेटर हो या विदेशी. पिछले दिनों ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज कप्तान स्‍टीव वॉ ने तो आर अश्विन को गेंदबाजी का 'डॉन' करार दिया था.अश्विन अपनी गेंदों के वेरिएशन से बल्‍लेबाजों की कड़ी परीक्षा लेते हैं.

वीडियो : रविचंद्रन अश्विन से खास बातचीत



दरअसल स्‍टीव वॉ ने अश्विन को यह नाम ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन से तुलना करते हुए दिया है, जिनके बल्लेबाजी औसत तक कोई नहीं पहुंच पाया है. स्टीव वॉ के अनुसार अगर ब्रैडमैन बल्लेबाजी के 'डॉन' थे, तो अश्विन 'गेंदबाजी के डॉन' हैं. भारतीय गेंदबाजी में सबसे तेज 100 विकेट लेने का रिकॉर्ड भी अश्विन के ही नाम पर है. उन्‍होंने 18 टेस्ट मैचों में 100 विकेट के आंकड़े को छुआ था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement