IPL 2020: ...तो यह इन युवा खिलाड़ियों के लिए करोड़ों रुपये के नुकसान से कम नहीं होगा

इस साल भी कई युवा खिलाड़ी आंखों में सपना पाले बैठे थे कि वे छाप छोड़कर भारत की जर्सी पहनने के बड़े सपने को साकार करेंगे, लेकिन अब उनका यह सपना धूमिल होता दिखाई पड़ रहा है

IPL 2020: ...तो यह इन युवा खिलाड़ियों के लिए करोड़ों रुपये के नुकसान से कम नहीं होगा

आईपीएल की प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • इस बार आईपीएल होने की न के बराबर उम्मीद
  • बीसीसीआई ने साध रखी है चुप्पी
  • आगे के हालात पर निर्भर करेगा छोटा फॉर्मेट
नई दिल्ली:

जहां इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के रद्द होने जहां सितारा खिलाड़ियों को करोड़ों रुपये का नुकसान होता दिख रहा है, तो वहीं कई युवा खिलाड़ियो भी ऐसे नुकसान के लपेटे में आते दिख रहे हैं, जो उनके लिहाज से करोड़ों व अरबों से कम नहीं है. अमरीकी कंसल्टिंग फर्म डफ एंड फेल्प्स ने कहा है कि यह सही है कि आईपीएल सितारों की प्रतियोगिता है, लेकिन युवा खिलाड़ियों के लिए भी इसके अलग ही मायने हैं. आपको बता दें कि वर्तमान के कई इंटरनेशलन स्टार खिलाड़ी हैं, जिन्होंने पहली बार आईपीएल के जरिए ही अपनी पहचान बनाई. और आईपीएल में किए प्रदर्शन ने ही उन्हें राष्ट्रीय जर्सी पहनाने में योगदान दिया. वहीं, आईपीएल ने किसी सितारे को वापसी कराने में भी भूमिका निभाई. ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर और जसप्रीत बुमराह ऐसे ही खिलाड़ी हैं. इनके अलावा और भी कई खिलाड़ी हैं, जिन्होंने आईपीएल के जरिए राष्ट्रीय टीम में दावा ठोका. और यह एक ऐसी बात है, जिसकी कितनी भी  बड़ी रकम से तुलना नहीं हो सकती है. यही वजह है कि कई उभरते हुए खिलाड़ी आईपीएल के करीब-करीब रद्द होने से खासे निराश हैं. 

इस साल भी कई युवा खिलाड़ी आंखों में सपना पाले बैठे थे कि वे छाप छोड़कर भारत की जर्सी पहनने के बड़े सपने को साकार करेंगे, लेकिन अब उनका यह सपना धूमिल होता दिखाई पड़ रहा है. राजस्थान के 20 साल के लेग स्पिनर राहुल चाहर एक ऐसे ही खिलाड़ी हैं, जिन्हें मुंबई इंडियस ने साइन किया था. 

यह भी पढ़ें:   धवन की हुई ऐसी हालत, घर पर रहकर कपड़े धोते दिखे तो वाइफ कर रही है मेकअप, देखें Viral Video

राहुल ने कहा कि यह बहुत ही निराशजनक है. यह मेरे लिए बड़ा अवसर है और मैं तो अभी भी प्रैक्टिस में जुटा हुआ हूं. मुंबई में सबकुछ बंद है. अगर आप प्रैक्टिस नहीं करोगे, तो आप लय खो दोगे. मैंने पिछले साल अपने लिए एक पैमाना सेट किया था. और इस बार में इसे ऊंचा उठाने के बारे में सोच रहा था. 

इसी तरह महाराष्ट्र के 23 साल के ओपनर और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में इस साल के दूसरे बेस्ट स्कोरर रितुराज गायकवाड़ एक और ऐसे खिलाड़ी हैं. चेन्नई ने उन्हें सिर्फ पिछले साल 20 लाख रुपये में खरीदा था, लेकिन उन्हें अभी पहला मैच खेलना बाकी है. रितुराज ने कहा कि पिछले साल का अनुभव बहुत ही शानदार रहा और मैंने एमएस धोनी, सुरेश रैना व वॉटसन जैसे खिलाड़ियों से बहुत कुछ सीखा. गायकवाड़ ने कहा कि इस साल अगर आईपीएल नहीं होता है, तो यह मेरे लिए बड़ा झटका होगा. मैं बड़े नामों के साथ खेलने की ओर निहार रहा था. 

यह भी पढ़ें:  बांग्लादेश के 27 क्रिकेटरों ने कोरोनावायरस से लड़ने के लिए दान में दी इतनी रकम पर...

मुंबई के 24 साल के तेज गेंदबाज तुषार देशपांडे को दिल्ली डेयरडेविल्स ने 20 लाख रुपये में खरीदा था. तुषार भी इस साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में दूसरे सफल गेंदबाज थे. तुषार कहते हैं कि अगर आप खेलते भी नहीं हैं, तो भी आप बातचीत से बहुत सीखते हैं. ट्रेनिंग सुविधाएं विश्व स्तरीय होती हैं. पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के रियान हैरिस से मैंने बहत सीखा, लेकिन इस बार निराश होने वाली खबर है. 

VIDEO:  पिंक बॉल बनने की कहानी. स्पेशल स्टोरी. 

कुल मिलाकर ऐसे खिलाड़ियों के लिए चयनकर्ताओं को इंप्रेस करने और टीम इंडिया के लिए दावा ठोकने का एक बड़ा मौका हाथ से निकल जाएगा. और यह उनके लिए करोड़ों के नुकसान से कम नहीं होने जा रहा. 
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com