IPL 2020: आईपीएल के आधे पड़ाव तक इन युवाओं ने छोड़ा गहरा असर, कोचों ने बयां किया सकारात्मक पक्ष

IPL 2020: शुबमन गिल और पृथ्वी शॉ जैसे युवा हैं, जो पहले से आईपीएल (IPL 2020) से जुड़े हैं, लेकिन अब नयी फसल अपना असर दिखा रही है, जो पहली बार आईपीएल से जुड़े हैं. और इन युवाओं ने दिग्गज खिलाड़ियों के साथ खेलते हुए न केवल बेहतरीन टेम्प्रामेंट (मनोदशा) का परिचय दिया, बल्कि बल्ले और गेंद से बहुत ही प्रभावी असर छोड़ते हुए बेहतर भविष्य की उम्मीद जगायी है. 

IPL 2020: आईपीएल के आधे पड़ाव तक इन युवाओं ने छोड़ा गहरा असर, कोचों ने बयां किया सकारात्मक पक्ष

IPL 2020: 19 साल के युवा तेज गेंदबाज कार्तिक त्यागी में अच्छी संभावनाएं दिख रही हैं.

खास बातें

  • आईपीएल में युवाओं का हल्ला बोल!
  • राजस्थान के कार्तिक त्यागाी ने दिखाया दम
  • रबि विश्नोई और प्रियम गर्ग ने भी छोड़ी छाप
नई दिल्ली:

यूएई (UAE) में जारी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) ने अपना करीब-करीब आधा पड़ाव तय कर लिया है. बहुत ही रोमांचक क्रिकेट देखने को मिली है. रनों की बारिश, बेहतरीन बॉलिंग और कैचों के तो क्या कहने! जहां केएल राहुल (KL Rahul) और इंग्लिश सीमर कैगिसो रबाडा (Kigiso Rabada) ने बल्ला और गेंद के साथ जलवा बिखेर कर अपने-अपने वर्ग में अव्वल चल रहे हैं , तो यहां टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे कई युवा भारतीय और  पिछले साल अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा रहे खिलाड़ी भी हैं, जिन्होंने भविष्य की बहुत ही ज्यादा उम्मीदें जगायी हैं. ये आने वाले दिनों में सालों में आपको सीनियर भारतीय टीम में खेलते दिखाई पड़ सकते हैं. शुबमन गिल और पृथ्वी शॉ जैसे युवा हैं, जो पहले से आईपीएल (IPL 2020) से जुड़े हैं, लेकिन अब नयी फसल अपना असर दिखा रही है, जो पहली बार आईपीएल से जुड़े हैं. और इन युवाओं ने दिग्गज खिलाड़ियों के साथ खेलते हुए न केवल बेहतरीन टेम्प्रामेंट (मनोदशा) का परिचय दिया, बल्कि बल्ले और गेंद से बहुत ही प्रभावी असर छोड़ते हुए बेहतर भविष्य की उम्मीद जगायी है. 

यह भी पढ़ें: राजस्‍थान के खिलाफ चेन्‍नई की बल्लेबाजी रही फ्लॉप, केदार जाधव को लेकर बने Memes और जोक्स

इनमें सबसे आगे हैं राजस्थान के लिए रणजी खेलने वाले युवा लेग स्पिनर रवि बिश्नोई, जिन्होंने खासा प्रभावित किया है. रवि ने खेले अभी तक 9 मैचों में 32 ओवरों में 7.90 के इकॉनमी रेट से 9 विकेट चटकाए हैं. और हेड कोच अनिल कुंबले के मार्गदर्शन में मैच दर मैच इस गेंदबाज ने प्रभावित किया है और क्रिकेट पंडित मान रहे हैं आने वाला समय रवि विश्नोई का है. वहीं, ऐसा कम होता है कि कोई युवा भारतीय सीमर अपनी छाप 19 साल की उम्र में ही छोड़ता दिखाई पड़े, लेकिन हापुड़ जैसे छोटे शहर से आने वाले राजस्थान के 19 साल के कार्तिक त्यागी एक ऐसे सीमर हैं, जिनमें बहुत ज्यादा संभावनाएं दिखाई पड़ रही हैं. शेन वॉटसन जैसे बल्लेबाज सहित कार्तिक अभी तक जिन्होंने रॉयल्स के लिए खेले 6 मैचों में फेंके 23 ओवरों में 6 विकेट चटकाए हैं, लेकिन इस युवा ने 135-140 किमी/घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी कर मैसेज दिया है कि अगर इसकी देखभाल अच्छी तरह से की गई, तो आने वाला समय कार्तिक का है. 

यह भी पढ़ें: Virendra Sehwag के 5 अनोखे रिकॉर्ड जिसे तोड़ पाना लगभग नामुमकिन है

युवा कार्तिक त्यागी के कोच और पूर्व रणजी क्रिकेटर विपिन वत्स ने कहा. "कार्तिक उनके पास तब आए थे, जब वह 13-14 साल के थे. और हापुड़ के छोटे से गांव से आने वाले त्यागी के लिए मैंने  उनके घर स्थित घेर (गांव में जानवरों को बांधने वाली जगह) से ही ट्रेनिंग की शुरुआत करायी, जिसका कार्तिक ने शिद्दत से पालन किया और नतीजा सामने है". वत्स ने कहा, "कार्तिक को आईपीएल के दौरान मैच दर मैच उन्होंने बताया है कि कहां और कैसे गेंदबाजी करनी है और वह सही ट्रैक पर हैं. कार्तिक का मजबूत पक्ष यह है कि मानसिक रूप से मजबूत हैं और पिटाई के बाद बिल्कुल भी नर्वस नहीं होते. एक लड़ने वाली मानसिकता है कार्तिक की".

सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल रहे भारतीय अंडर-19 टीम के कप्तान प्रियम गर्ग एक और खिलाड़ी हैं, जिन्होंने शुरुआती मैच में छाप छोड़ी और इनसे भी भविष्य में काफी उम्मीदें हैं. गर्ग ने अभी तक 9 मैचों में भले ही 17.66 के औसत से रन 106 रन बनाए हैं, लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ नाबाद 51 रन सहित कुछ छोटी इंपैक्टफुल पारियां खेलीं. मेरठ शहर के भामाशाह मैदान स्थित क्रिकेट अकादमी से निकले प्रियम गर्ग के कोच संजय रस्तोगी ने कहा, "प्रियम में प्रतिभा है. एक मैच को छोड़ दिया जाए, तो वह ज्यादातर मुकाबलों में पांचवें या छठे नंबर पर खेलने आए हैं. उन्हें इस क्रम पर कम समय और गेंद खेलने को मिलती हैं, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने गहरा असर छोड़ा. कुछ बेहतरीन कैच लिए और बेहतरीन फील्डिंग से अच्छे रन आउट किए. बेहतरीन फील्डिंग से वह 10-15 रन बचाते हैं". रस्तोगी ने कहा. "हैदराबाद मैनेजमेंट अगर उन्हें आगे भी ऊपरी क्रम में खिलाना जारी रखता है,  तो उनके बल्ले से रन जरूर निकलेंगे".

यह भी पढ़ें: विवाद के बाद क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन की बायोपिक '800' से हटे साउथ स्टार विजय सेतुपति

Newsbeep

इसके अलावा किंग्स इलेवन पंजाब के ही लेफ्टी सीमर 21 साल के अर्शदीप हैं, जिन्होंने अच्छा रवैया दिखाया है और यह गेंदबाज 4 मैचों में छह विकेट ले चुका है. इनके अलावा जम्मू-कश्मीर के 18 साल के अब्दुल समाद फारुक हैं, जो उम्मीद जगाते दिखते हैं और उन्होंने भी अच्छे टेम्प्रामेंट का परिचय दिया है. समाद ने हैदराबाद के लिए 5 मैचों में 23.66 के औसत से 41 रन जरूर बनाए हैं. ये संख्या कम है, लेकिन यह उनकी योग्यता से मेल नहीं खाती. बहरहाल, इन तमाम युवाओं को खुद की प्रतिभा दिखाने और दिग्गजों के साथ खेलने व सीखने का अच्छा मंच मिला है, लेकिन अभी इनका आगाज शुरू हुआ है और यहां से यह देखन की बात होगी कि ये प्रथम श्रेणी क्रिकेट और खासकर रणजी ट्रॉफी में कैसा प्रदर्शन करते हैं क्योंकि यहां किया प्रदर्शन ही इन्हें सीनियर इंडिया की जर्सी दिलाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी. ​