SRH vs CSK: हैदराबाद से मिली हार के बाद फूटा धोनी का गुस्सा, खिलाड़ियों को यूं लगाई फटकार

CSK Vs SRH: मौजूदा सत्र में लगातार तीसरा मैच गंवाने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने कहा कि उनके खिलाड़ियों को बार बार एक ही गलती दोहराने से बचना होगा और इस तरह से कैच टपकाकर मैच नहीं जीते जा सकते

SRH vs CSK: हैदराबाद से मिली हार के बाद फूटा धोनी का गुस्सा, खिलाड़ियों को यूं लगाई फटकार

SRH vs CSK: हैदराबाद से मिली हार के बाद फूटा धोनी का गुस्सा, खिलाड़ियों को यूं लगाई फटकार

खास बातें

  • सीएसके को हैदराबाद ने 7 रनों से हराया
  • धोनी की धीमी पारी ने किया निराश
  • हार के बाद धोनी ने खिलाड़ियों की गलती को लेकर लगाई फटकार

CSK Vs SRH: मौजूदा सत्र में लगातार तीसरा मैच गंवाने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने कहा कि उनके खिलाड़ियों को बार बार एक ही गलती दोहराने से बचना होगा और इस तरह से कैच टपकाकर मैच नहीं जीते जा सकते . चेन्नई ने सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के खिलाफ बेहद खराब क्षेत्ररक्षरण किया और अभिषेक शर्मा को दो बार जीवनदान दिये.शर्मा ने प्रियम गर्ग के साथ 77 रन की साझेदारी करके हैदराबाद को पांच विकेट पर 164 रन तक पहुंचाया. जवाब में तीन बार की चैम्पियन चेन्नई पांच विकेट पर 157 रन ही बना सकी. धोनी (नाबाद 47 रन) ने कहा ,‘‘ मैं कई गेंदों पर खुलकर नहीं खेल सका. शायद कुछ ज्यादा ही कोशिश कर रहा था. मुझे कोई परेशानी नहीं है लेकिन इस तरह की गर्मी में गला बार बार सूखता ही है.

ये भी पढ़े- सुरेश रैना के कारण चेन्नई सुपर किंग्स को सारी समस्याएं पैदा हुईं, इरफान पठान ने कहा

उन्होंने कहा ,‘‘ हमने लगातार तीन मैच शायद कभी नहीं हा. हमें गलतियों को सुधारना होगा. बार बार एक जैसी गलतियां नहीं कर सकते. कै; छूटे, नोबॉल डाली. हम कुल मिलाकर बेहतर खेल सकते थे. अगर यह नॉकआउट मैच होता तो कैच छूटना कितना भारी पड़ सकता था. बता दें कि मैच में धोनी (नाबाद 47 रन) बनाने में सफल रहे लेकिन गर्मी के कारण बल्लेबाजी के दौरान उन्हें काफी थकान का सामना करना पड़ा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

आईपीएल में पहला अर्धशतक लगाने वाले भारत की जूनियर विश्व कप टीम के पूर्व कप्तान रहे प्रियम गर्ग (Priyam Garg) ने कहा ,‘‘ यह बड़ा मंच है जिसमें सीनियर खिलाड़ियों के साथ खेल रहे हैं. मैने ज्यादा सोचे बिना अपना स्वाभाविक खेल दिखाया. सबसे अच्छी बात यह है कि पहले मैच में नाकाम रहने के बावजूद टीम प्रबंधन ने मुझ पर भरोसा किया. ' उन्होंने कहा ,‘‘ मैने बचपन में अभिषेक के साथ काफी बल्लेबाजी की है तो उसके साथ खेलना आसान था । फील्ड में भी काफी सकारात्मक ऊर्जा थी, मेरा आत्मविश्वास भी इस पारी के बाद काफी बढ गया है. 

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी. ​



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)