NDTV Khabar

IPL Auction 2018: जयदेव उनादकट को तेज गेंदबाजों में इस कारण मिली सबसे ऊंची कीमत...

आईपीएल 11 के लिए चल रही नीलामी के दौरान गुजरात के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट को जबर्दस्‍त कीमत मिली.

123 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
IPL Auction 2018: जयदेव उनादकट को तेज गेंदबाजों में इस कारण मिली सबसे ऊंची कीमत...

जयदेव उनादकट ने पिछले सीजन में गेंदबाजी में शानदार प्रदर्शन किया था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. गेंदबाजी में जयदेव उनादकट रहते हैं बेहद सटीक
  2. पिछले सीजन में विकेट लेने में दूसरे नंबर पर थे
  3. बाएं हाथ का बॉलर भी होना बना प्‍लस पाइंट
नई‍ दिल्‍ली:

आईपीएल 11 के लिए नीलामी के दौरान गुजरात के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट को जबर्दस्‍त कीमत मिली. दूसरे दिन उनादकट के लिए बोली बढ़ते-बढ़ते 10 करोड़ रुपये के ऊपर पहुंच गई. आखिरकार राजस्‍थान रायल्‍स की टीम उन्‍हें साढ़े 11 करोड़ रुपये में अपनी टीम में शामिल करने में सफल रही. बेहद अनुशासित होने के साथ बाएं हाथ से गेंदबाजी करना उनादकट के लिए प्‍लस पाइंट साबित हुआ, यही कारण रहा कि नीलामी ने उन्‍हें हाथोंहाथ लिया गया. 26 वर्ष के जयदेव ने अब तक भारत के लिए एक टेस्‍ट, सात वनडे और चार टी20 मैच खेले हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में उन्‍हें अभी तक कोई विकेट नहीं मिला है जबकि वनडे में 8 और टी20 में चार विकेट इस खब्‍बू गेंदबाज के नाम हैं.

गौरतलब है कि आईपीएल को पिछला सीजन उनादकट के लिए शानदार रहा था और वे पर्पल कैप हासिल करने वाले भुवनेश्‍वर कुमार के बाद विकेट के मामले में दूसरे नंबर पर रहे थे. प्रतियोगिता के 12  मैचों में उन्‍होंने 24  विकेट हासिल किए थे जिसमें एक हैट्रिक शामिल थी. आईपीएल के पिछले सीजन में वे राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के लिए खेले थे. जयदेव गेंद को स्विंग कराने में माहिर हैं और किफायती भी साबित होते हैं. वैसे भी इरफान पठान के इंटरनेशनल परिदृश्‍य से ओझल होने और जहीर खान और आशीष नेहरा के संन्‍यास के बाद बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों की कमी सी महसूस की जा रही है. ऐसे में वे टीमों के लिए जरूरत बन गए थे. यही कारण रहा किइस आईपीएल सीजन में उनकी कीमत में जबर्दस्‍त उछाल आया.
टिप्पणियां

VIDEO: गावस्‍कर ने इस अंदाज में की विराट कोहली की तारीफ


20 साल की उम्र में में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था टेस्‍ट
पोरबंदर के जयदेव दीपकभाई उनादकट को महज 20 वर्ष उम्र में देश के लिए खेलने का मौका मिल गया था. बाएं हाथ के तेज गेंदबाज उनादकट ने दिसंबर 2010 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन में अपने टेस्‍ट करियर का आगाज किया लेकिन इस मैच में उन्‍हें 100 से अधिक रन खर्च करने के बावजूद कोई विकेट हासिल नहीं हो सका था. इस असफलता के बाद भी जयदेव निराश नहीं हुए. उन्‍होंने अपनी गेंदबाजी में सुधार जारी रखा और जल्‍द ही अपने प्रदर्शन से हर किसी को प्रभावित करने में सफल रहे. उन्‍होंने अब तक 89 टी20 मैचों में 20.83 के औसत से 113 विकेट लिए हैं, जिसमें 25 रन देकर पांच विकेट उनका सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन रहा है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement