कोरोना वायरस के डर के बीच BCCI कर रहा व‍िचार, खाली स्‍टेड‍ियम में कराए जाएंगे IPL के मैच

IPL 2020: केंद्रीय खेल मंत्रालय ने BCCI सहित अन्य राष्ट्रीय महासंघों को साफ तौर पर कहा कि कोरोनो वायरस के खतरों के बीच अगर देश में किसी भी टूर्नामेंट का आयोजन किया जाता है तो उसे बंद दरवाजों के बीच आयोजित करना होगा.

कोरोना वायरस के डर के बीच BCCI कर रहा व‍िचार, खाली स्‍टेड‍ियम में कराए जाएंगे IPL के मैच

IPL 2020 का शुरुआती मैच मुंबई इंड‍ियंस और चेन्‍नई सुपरक‍िंग्‍स के बीच 29 मार्च को होना है

खास बातें

  • कोरोना वायरस के खतरे के बीच क‍िया जा रहा व‍िचार
  • नए केस आने के बाद सरकार ने जारी की है एडवाइजरी
  • सभी मौजूदा व‍िदेशी वीसा पर 15अप्रैल तक रोक लगाई

कोरोनावायरस (Coronavirus) के दुनियाभर में बढ़ते खतरे के बीच भारतीय क्र‍िकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) इंडियन प्रीमियर लीग, 2020, यानी IPL 2020 के मैचों का आयोजन बंद दरवाज़ों के पीछे (यानी मैच को LIVE देखने के लिए दर्शक मैदान मौजूद नहीं होंगे) करवाए जाने पर विचार कर रहा है. BCCI के एक अधिकारी ने NDTV को बताया, "हम बंद दरवाज़े के पीछे IPL मैचों के आयोजन की संभावना पर विचार कर रहे हैं... टीमों को दिए जाने वाले मुआवज़े पर शनिवार को चर्चा की जाएगी..." गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने देश में कोरोनावायरस के नए पॉज़िटिव केस सामने आने के बाद नई एडवाइज़री जारी करते हुए कूटनीतिक और रोज़गार की खास श्रेणियों को छोड़कर सभी मौजूदा विदेशी वीसा पर 15 अप्रैल तक के लिए रोक लगा दी है.

आईपीएल 2020 का शेड्यूल यहां देखें..

केंद्रीय खेल मंत्रालय ने BCCI सहित अन्य राष्ट्रीय महासंघों को साफ तौर पर कहा कि कोरोनो वायरस के खतरों के बीच अगर देश में किसी भी टूर्नामेंट का आयोजन किया जाता है तो उसे बंद दरवाजों के बीच आयोजित करना होगा. सरकार के इस फैसले के बाद अब यह साफ है कि बीसीसीआई अगर आईपीएल का आयोजन करता है, तो उसे इस टूर्नामेंट को दर्शकों के बिना ही आयोजित करना होगा और ऐसे में यह टूर्नामेंट अब बंद दरवाजों के बीच खेला जा सकता है. खेल सचिव राधे श्याम जुलानिया ने कहा है कि अगर कोई खेल है, जिसे टाला नहीं जा सकता है तो उसे बंद दरवाजों के बीच आयोजित करना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इसमें दर्शक न आए.

खेल सचिव ने कहा, "बीसीसीआई सहित सभी राष्ट्रीय संघों से कहा गया है कि वे स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों और सलाह का पालन करें. हमने उन्हें किसी भी सार्वजनिक सभा से बचने के लिए भी कहा है और अगर कोई खेल टूर्नामेंट का आयोजन होना है, तो उसे बंद दरवाजों के बीच लोगों के बिना आयोजित किया जाना चाहिए." उन्होंने कहा, "यह राज्य सरकार के ऊपर है जिसे दर्शकों का प्रबंधन करना है और उनके पास इसे रोकने के लिए महामारी रोग अधिनियम (1897 की महामारी अधिनियम) के तहत शक्ति प्राप्त है. यदि इसे (टूर्नामेंट को) टाला नहीं जा सकता है तो इसे दर्शकों के बिना ही बंद दरवाजों के बीच आयोजित करना चाहिए."सरकार के इस निर्देश के अब यह साफ है कि बीसीसीआई अगर आईपीएल का आयोजन करता है, तो उसे इसे बंद दरवाजों के बीच कराना होगा.

इस मामले में जब बीसीसीआई अधिकारी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें भी सरकार के फैसले का पालन करने की जरूरत है. इस अधिकारी ने कहा, " बीसीसीआई खेल, अपने खिलाड़ियों, प्रशंसकों और लीग के हित में सर्वश्रेष्ठ संभव कदम उठाएगा. परिस्थितियां तेजी से बदल रही है और बोर्ड का वास्तव में इस स्थिति पर नियंत्रण नहीं है. आईपीएल कार्यकारी परिषद की मुंबई में शनिवार को बैठक होनी है. उस बैठक में परिषद को केंद्र सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों को ध्यान में रखते हुए एक फैसला करना है." (इनपुट: आईएएनएस से भी)

वीडियो: आईपीएल के पहले मैच की ट‍िकट ब‍िक्री पर रोक

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com