पूर्व तेज गेंदबाज राजू कुलकर्णी ने कहा, प्रदर्शन में निरंतरता नहीं होना ईशांत शर्मा की प्रमुख समस्‍या

भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज राजू कुलकर्णी का मानना है कि प्रदर्शन में स्थिरता नहीं होना ईशांत शर्मा की हमेशा से समस्‍या रही है और इसी कारण वे बेहद अनुभवी होने के बावजूद भारतीय तेज गेंदबाजी का नेतृत्‍व करने में नाकाम रहे हैं.

पूर्व तेज गेंदबाज राजू कुलकर्णी ने कहा, प्रदर्शन में निरंतरता नहीं होना ईशांत शर्मा की प्रमुख समस्‍या

ईशांत शर्मा ने 79 टेस्ट मैचों में 226 विकेट लिए हैं (फाइल फोटो)

मुंबई:

भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज राजू कुलकर्णी का मानना है कि प्रदर्शन में स्थिरता नहीं होना ईशांत शर्मा की हमेशा से समस्‍या रही है और  इसी कारण वे बेहद अनुभवी होने के बावजूद भारतीय तेज गेंदबाजी का नेतृत्‍व करने में नाकाम रहे हैं.  राजू ने कहा कि ईशांत के साथ समस्‍या यह है कि वन हर बार कुछ नया करने की कोशिश करते हैं, इससे उनके प्रदर्शन में स्‍थायित्‍व नहीं रह पाता. राजू ने कल रात यहां कहा, ‘ईशांत शर्मा ने देश के लिए 79 टेस्ट मैच खेले है और भारत के लिये इतने टेस्ट मैच खेलना कमाल की बात है, लेकिन मुझे नहीं लगता कि उन्होंने कभी गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्व किया है. यह उनकी समस्या रही है.’

यह भी पढ़ें: अपने लंबे बालों के कारण स्‍कूल में मुसीबत में फंसे थे तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा

Newsbeep

देश के लिए तीन टेस्ट और 10 वनडे मैच खेलने वाले इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘ईशांत बहुत अनियमित है, हर बार वह नई तकनीक और रणनीति के साथ आते है जो उनके लिये भी काफी भ्रामक होता है.’ ईशांत ने 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट करियर का आगाज करने के बाद 79 टेस्ट मैचों में 226 विकेट लिए हैं. दिल्ली के इस तेज गेंदबाज ने 80 वनडे मैचों में 115 विकेट झटके हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा से खास बातचीत
कुलकर्णी ने लीजेंड्स क्लब के कार्यक्रम के इतर कहा, ‘पिछले दो सीरीज में उनकी (ईशांत की) गेंदबाजी का स्तर काफी खराब रहा है. वह परिस्थितियों का सामना ठीक से नहीं कर रहे थे और मुझे लगता है कि हर बार वह कुछ नया करने की कोशिश करते है जिससे वह बहुत अनियमित हो गए हैं.’ राजू ने भारतीय टीम के  मौजूदा तेज गेंदबाजी आक्रमण की जमकर प्रशंसा की.(इनपुट: एजेंसी)