Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इसका मतलब यह नहीं कि मेरे भीतर जोश या भावनाएं नहीं हैं, शिखर धवन ने कहा

इसका मतलब यह नहीं कि मेरे भीतर जोश या भावनाएं नहीं हैं, शिखर धवन ने कहा

शिखर धवन

खास बातें

  • शादी के बाद जिंदगी में ठहराव आया
  • अभी भी शुरुआती दिनों जैसा लुत्फ उठाता हूं
  • प्रशंसकों का नजरिया सही नहीं
नई दिल्ली:

टीम इंडिया के लिए मैदान पर हालात कैसे भी रहते हों, लेफ्टी ओपनर शिखर धवन (Shikhar Dhawan) के चेहरे पर मुस्कान हमेशा बरकरार रहती है. फिर चाहे वह शतक बनाएं, जीरो पर आउट हो जाएं, या फिर उनसे कोई कैच छूट जाए, लेकिन मुस्कान धवन (Shikhar Dhawan) का साथ नहीं छोड़ती. लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि धवन के चाहने वाले इस पहलू से यह राय बना चुके हैं कि धवन मैदान पर ज्यादा भावुक शख्स नहीं हैं. बहरहाल, अब इस स्टार क्रिकेटर ने इन तमाम बातों को खारिज कर दिया है. 

यह भी पढ़ें:  कुछ ऐसे आईसीसी के ट्रोल पर हावी हो गई तेंदुलकर की 'हाजिरजवाबी'

धवन ने कहा कि यह सही है कि वह मैदान पर बमुश्किल ही भावनाओं का प्रदर्शन करते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह मैदान पर चीजों को लेकर किसी से कम परवाह करते हैं. धवन ने साफ करते हुए कहा कि ज्यादा उत्तेजित होना कभी भी आपके लक्ष्य हासिल करने में मदद नहीं करता, लेकिन वह अपने बाकी साथी खिलाड़ियों की तरह ही पूरे उत्साह के साथ खेलते हैं. धवन ने कहा कि उनके भीतर काफी ठहराव आया है, लेकिन वह अपने करियर के शुरुआती दिनों की तरह अभी भी पूरी तरह आनंद उठाते हैं. 

यह भी पढ़ें:  गौतम गंभीर को वर्ल्ड कप टीम चयन में नजर आई यह बड़ी खामी

धवन ने कहा कि मैं बमुश्किल ही भावनाएं प्रदर्शित करता हूं. जोश और उत्साह मेरे भीतर है. उन्होंने कहा कि मैं बिल्कुल स्पष्ट मनोदशा के साथ आगे बढ़ना पसंद करता हूं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मेरे भीतर उत्साह या जोश नहीं है. और जब मैं ठहराव की बात करता हूं, तो मैं अभी भी अपने शुरुआती रणजी ट्रॉफी दिनों की तरह ही लुत्फ उठाना पसंद करता हूं. जब भी मेरी इच्छा होती है, तो मैं आनंद लेने के के लिए अपनी पत्नी को बाइक पर लेकर निकल जाता हूं. 

यह भी पढ़ें:  आईसीसी ने जारी की सूची, ये दिग्गज करेंगे वर्ल्ड कप में कमेंटरी, लेकिन...

धवन ने अपने जीवन में पत्नी और बेटियों की अहमियत के बारे में कहा कि इनके जरिए मेरी ऊर्जा केंद्रित हुई है और शादी के बाद मैं पहले से ज्यादा केंद्रित हुआ हूं. उन्होंने कहा कि मैं भाग्यशाली था कि मेरी पत्नी अपनी दो बेटियों के साथ आईं. इस बात ने मेरी ऊर्जा को केंद्रित करने में मदद मिली. पत्नी और बेटियां मेरी जिंदगी में ठहराव लेकर आई हैं.  

VIDEO:  वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेले जाने मैच पर रविशंकर प्रसाद के विचार सुन लीजिए. 

हाल ही में खत्म आईपीएल में शिखर धवन का बल्ला बखूबी बोला है. उन्होंने अपनी बैटिंग से दिल्ली को प्ले-ऑफ राउंड में पहुंचाने में मदद की. और अब उनके प्रशंसकों की नजरें धवन के वर्ल्ड कप प्रदर्शन पर लगी हैं.