Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

'इस कारण' वर्ल्‍डकप-2019 की भारतीय टीम में रवींद्र जडेजा को चाहते हैं हरभजन सिंह...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'इस कारण' वर्ल्‍डकप-2019 की भारतीय टीम में रवींद्र जडेजा को चाहते हैं हरभजन सिंह...

हरभजन ने माना कि कलाई के स्पिनरों के मुकाबले अंगुली के स्पिनरों के तरकश में कम तीर होते हैं

खास बातें

  1. कहा, हरफनमौला होने के कारण जडेजा के पास मौका
  2. विपक्षी टीम में ज्‍यादा राइट हैंड बैट्समैन हैं तो वे उपयोगी
  3. रवींद्र जडेजा टीम के सर्वश्रेष्‍ठ फील्‍डर भी हैं
नई दिल्ली:

दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने वर्ल्‍डकप-2019 के लिए भारतीय टीम में रवींद्र जडेजा को स्‍थान देने का समर्थन किया है. हालांकि उन्‍होंने कहा कि इसके लिए जडेजा को ऑलराउंडर के तौर पर अपनी उपयोगिता भी साबित करनी होगी. हरभजन ने कहा कि हरफनमौला कौशल के कारण जडेजा के वर्ल्‍डकप की टीम में उनके पास जगह बनाने का मौका होगा है लेकिन सिर्फ अंगुली के स्पिनर के तौर पर टीम में बने रहने के लिए उन्हें सुधार करना होगा. गौरतलब है कि रिस्‍ट स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल पिछले 18 महीने में छोटे प्रारूप (वनडे और टी20) में भारत के शीर्ष स्पिनर हैं जबकि जडेजा और रविचंद्रन अश्विन के लिए टीम में जगह बनाना मुश्किल हो गया है.

हरभजन सिंह ने वेस्‍टइंडीज टीम को लेकर तंज कसा तो फैंस ने दी यह नसीहत..


 न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में जडेजा को अंतिम एकादश में मौका नहीं मिला लेकिन हरभजन का मानना है कि वह (जडेजा) वर्ल्‍डकप की टीम में जगह बना सकते हैं. हरभजन ने PTI को दिए गए विशेष इंटरव्‍यू में कहा, ‘अगर आपको याद हो, 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी में ब्रिटेन में मौसम गर्म और उमस भरा था. इस बार भी वैसा मौसम हुआ तो जडेजा का इस्तेमाल एक पैकेज की तरह किया जा सकता है. अगर विरोधी टीम में पांच या छह दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं तो उन्हें टीम में रखा जा सकता है. वह छठे नंबर पर बल्लेबाजी भी कर सकते हैं जबकि हार्दिक पंड्या सातवें नंबर पर. वह टीम के सर्वश्रेष्ठ फील्‍डर भी हैं.' अपने जमाने के सबसे शानदार ऑफ स्पिनर माने जाने वाले हरभजन सिंह ने माना कि कलाई के स्पिनरों के मुकाबले अंगुली के स्पिनरों के तरकश में कम तीर होते हैं.

'खास तोहफे' के साथ हरभजन सिंह से मिला टीम इंडिया का सबसे बड़ा फैन

टेस्ट में 417 और एकदिवसीय में 269 विकेट लेने वाले 38 साल के इस गेंदबाज ने कहा, ‘इसे समझना काफी आसान है, कलाई के स्पिनर के पास तीन विकल्प होते है. लेग स्पिन, गुगली और फ्लिपर। अगर आप टॉप स्पिनर हैं तो आपके पास चार विकल्प होंगे.'उन्होंने कहा, ‘ऑफ स्पिनर की बात करें तो अगर आपके पास दमदार दूसरा का विकल्प नहीं है तो अच्छा बल्लेबाज आपकी गेंदबाजी का अंदाजा लगा लेगा और बड़े शॉट खेल सकता है. नाथन लियोन क्लासिकल ऑफ स्पिनर है और वह वनडे में संघर्ष करते दिखे.'इस गेंदबाज ने कहा कि दुनियाभर के बल्लेबाजों के स्पिन के खिलाफ खासकर कलाई के स्पिनरों के विरुद्ध प्रदर्शन में गिरावट आई है. उन्होंने कहा, ‘स्पिनरों को उनके हाथ को देखकर गेंद का अंदाजा लगाने का चलन कम हो रहा है. ज्यादातर विदेशी बल्लेबाज ऐसा नहीं कर पा रहे. कुलदीप और चहल ने हालांकि काफी निरंतर गेंदबाजी की है. लगभग 40 मैचों में आप उनका पिच मैप देखेंगे तो पायेंगे कि उनकी लेंथ बिलकुल सटीक रहती है.'

टिप्पणियां

वीडियो: तुसाद म्‍यूजियम में विराट कोहली

 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली में हुई हिंसा पर बोले सीएम केजरीवाल- 'बाहरी थे दंगाई', अब नफरत की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी

Advertisement