NDTV Khabar

निधास ट्रॉफी: जयदेव उनादकट पर भारतीय तेज गेंदबाजी की बड़ी जिम्‍मेदारी, क्‍या भरोसे पर खरे उतरेंगे!

श्रीलंका में मंगलवार से होने वाली निधास टी20 ट्रॉफी त्रिकोणीय सीरीज में जयदेव उनादकट पर भारतीय तेज गेंदबाजी के आक्रमण का नेतृत्‍व करने की अहम जिम्‍मेदारी होगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
निधास ट्रॉफी: जयदेव उनादकट पर भारतीय तेज गेंदबाजी की बड़ी जिम्‍मेदारी, क्‍या भरोसे पर खरे उतरेंगे!

निधास ट्रॉफी में जयदेव उनादकट भारतीय टीम के तेज गेंदबाजी आक्रमण का नेतृत्‍व करेंगे (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. भुवनेश्‍वर और बुमराह को सीरीज के लिए दिया गया रेस्‍ट
  2. सीरीज में भारत, श्रीलंका और बांग्‍लादेश टीमें भाग लेंगी
  3. वर्ल्‍डकप की टीम में जगह बनाने पर टिकी जयदेव की नजर
मुंबई: श्रीलंका में मंगलवार से होने वाली निधास टी20 ट्रॉफी त्रिकोणीय सीरीज में जयदेव उनादकट पर भारतीय तेज गेंदबाजी के आक्रमण का नेतृत्‍व करने की अहम जिम्‍मेदारी होगी. प्रतियोगिता के लिए भुवनेश्‍वर कुमार और जसप्रीत बुमराह जैसे प्रमुख गेंदबाजों को रेस्‍ट दिया है. बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव अपने ऊपर आई इस जिम्‍मेदारी से भलीभांति अवगत हैं. वे इस मौके पूरा फायदा उठाकर अगले साल होने वाले वर्ल्‍डकप की टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करना चाहते हैं. वैसे, यह देखना दिलचस्‍प होगा कि भुवी और बुमराह की गैरमौजूदगी में जयदेव चयनकर्ताओं द्वारा उन पर जताए गए भरोसे पर खरे उतर पाएंगे. आईपीएल 11 के लिए राजस्‍थान रायल्‍स की टीम ने जयदेव उनादकट को साढ़े 11 करोड़ रुपये में खरीदा है. गुजरात के जयदेव उनादकट ने 2016 में जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में टी20 मैच से आगाज किया था लेकिन इसके बाद वह एक साल से ज्यादा समय तक टीम से बाहर रहे और श्रीलंका के खिलाफ दिसंबर में खेली गयी घरेलू सीरीज से उन्होंने वापसी की. इस तेज गेंदबाज की नजरें अब टी20 वर्ल्‍डकप और अगले साल इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्‍डकप पर टिकी हैं. हालांकि वह अभी 50 ओवर के प्रारूप में टीम का हिस्सा नहीं है. उनादकट ने कहा, ‘मैं सोचता हूं कि यह आने वाले बड़े टूर्नामेंट की तैयारी है, न कि सिर्फ टी20 वर्ल्‍डकप लेकिन वनडे के लिए भी. जैसा कि मैंने कहा यह टीम में जगह बनाने के साथ-साथ मैदान पर अपने कौशल दिखाने का भी मौका है. अब टीम प्रबंधन को भी मुझ पर भरोसा है.’ उनादकट के मुताबिक श्रीलंका के खिलाफ उनकी रणनीति वैसी ही रहेगी, जैसी पिछली घरेलू सीरीज में थी. उन्होंने कहा, ‘पक्के तौर पर, यह हमारे लिए फायदेमंद होगा. हमें उनके मजबूत पक्षों के बारे पता है. पिछली बार हम टी20 में भिड़े थे और इस बार भी हम टी20 में ही खेलेंगे. उनके बल्लेबाजों के लिए हमें रणनीति बनाने में फायदा होगा. कुछ नये खिलाड़ी आए है हम उनके लिए भी रणनीति बनाएंगें.’

टिप्पणियां
वीडियो: पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा से खास बातचीत

भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की गैर मौजूदगी में गेंदबाजी आक्रमण की अगुवाई करने वाले उनादकट इसे मौके की तरह देख रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘भारतीय टीम के साथ दो सीरीज में खेलने के बाद मुझे लगता है मेरे लिए यह (त्रिकोणीय सीरीज) काफी अच्छा मौका है. मैं टीम में अपनी जगह बना रहा हूं और अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी रणनीति को मैदान में उतारने का आत्मविश्वास भी बढ़ा है. जब मैंने वापसी की थी उस समय इसकी काफी जरूरत थी.’ उनादकट ने श्रीलंका के खिलाफ घरेलू टी20 सीरीज में चार विकेट लिए थे. दक्षिण अफ्रीका में उन्हें दो मैचों में मौका मिला जिसमें उन्होंने तीन विकेट चटकाए. टी20 करियर में उन्होंने छह मैचों में सात विकेट लिए हैं. श्रीलंका में त्रिकोणीय सीरीज में तीसरी टीम बांग्लादेश की है.(इनपुट: भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement