NDTV Khabar

कपिल देव ने हार्दिक पांड्या को बताया खुद से बेहतर, लेकिन दी एक बड़ी नसीहत

उन्होंने कहा, 'हार्दिक पांड्या मुझे बेहतर हैं. लेकिन उन्हें काफ़ी मेहनत करनी होगी. ये बहुत जल्दबाज़ी है.

183 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कपिल देव ने हार्दिक पांड्या को बताया खुद से बेहतर, लेकिन दी एक बड़ी नसीहत

फाइल फोटो

मुंबई: 1983 वर्ल्ड कप के विश्वविजेता कप्तान कपिल देव ने मुंबई में हार्दिक पांड्या को खुद से बेहतर बताकर सबको हैरान कर दिया. उन्होंने कहा, 'हार्दिक पांड्या मुझे बेहतर हैं. लेकिन उन्हें काफ़ी मेहनत करनी होगी. ये बहुत जल्दबाज़ी है. उनमें एक महान खिलाड़ी बनने की काबिलियत और क्षमता भी है.' पिछले ही साल धर्मशाला में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ वनडे मैच के दौरान महान कपिल देव ने तब 22 साल के गुजरात के ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पांड्या को डेब्यू कैप दिया तो इस युवा खिलाड़ी के लिए गौरव भरा लम्हा था. तब शायद ही किसी ने सोचा होगा कि पांड्या कि तुलना इतनी जल्दी खुद कपिल से होने लगेगी.  दरअसल मुंबई में बॉलीवुड निर्देशक कबीर ख़ान की मूवी '83' के प्रोमोशनल इवेंट पर इकट्ठा हुए वर्ल्ड चैंपियन खिलाड़ियों से मीडिया की ओर से सवाल किए जा रहे थे.  

क्या टीम इंडिया का ऑल राउंडर का इंतजार हुआ खत्म? 

क्या कहते हैं अभी रिकॉर्ड
1983 में टीम इंडिया को वर्ल्ड चैंपियन बनाने में कपिल का क्या योगदान रहा है, इससे क्रिकेट को जानने वाली कई पीढ़ियां अच्छी तरह वाकिफ़ हैं. कपिल के आंकड़ों की तुलना (वनडे 225, शतक 1, अर्द्धशतक 14, सर्वाधिक 175*, रन 3783, विकेट 253) हार्दिक पांड्या (वनडे 24, शतक 0, अर्द्धशतक 4, रन 489, सर्वाधिक 83, विकेट 28) से बिल्कुल नहीं की जा सकती क्योंकि कपिल ने 131 टेस्ट में 8 शतकों के सहारे 5248 रन बनाए और 434 विकेट झटककर तब एक
वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था. हार्दिक के नाम अभी महज़ 3 टेस्ट में 1 शतक के साथ 178 रन हैं जिसमें उनके नाम 4 विकेट हैं. यही नहीं, कपिल को 'क्रिकेटर ऑफ़ द मिलेनियम' (2002 में) के ख़िताब से भी नवाज़ा जा चुका है.

IND Vs AUS: विराट कोहली ने वह किया जो कपिल देव, गांगुली और धोनी भी नहीं कर पाए...

कभी अनफिट नहीं हुए कपिल 
कपिल का करियर 16 साल लंबा रहा और इस दौरान वो दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमियों और जानकारों के बीच अपना एक अलग रुतबा बनाया. इन 16 साल में कपिल कभी अनफ़िट होकर टीम से बाहर नहीं निकले. कपिल के नाम कई ऐसे रिकॉर्ड हैं जो दुनिया भर क्रिकेटरों की पहुंच से बाहर हैं. मसलन, कपिल ने अपने करियर में कभी 'नो बॉल' नहीं डाली. इसलिए हार्दिक पांड्या को अभी बेहद लंबा सफ़र तय करना है. पिछले तीन मैचों में 2 अर्द्धशतकों के साथ 5 विकेट हासिल करने वाले पांड्या को टीम इंडिया के लिए तुरुप का इक्का ज़रूर माना जा रहा है लेकिन अभी इनसे इतनी बड़ी उम्मीद लगा लेना जल्दबाजी होगी.


राहुल द्रविड़ ने भी की तारीफ
भारत-ए के कोच राहुल द्रविड़ ने भी ऑलराउंडर पांड्या की खुलकर तारीफ़ की है. उन्होंने कहा 'अगर वो चौथे नंबर पर बल्लेबाज़ी करते हैं तो अलग तरीके से करते हैं. ये उनकी परिपक्वता दिखाता है और यही आप देखना चाहते हैं'.
 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement