ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को मिल गया डैरेन लेहमैन का 'वारिस'

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को मिल गया डैरेन लेहमैन का 'वारिस'

डैरेन लेहमैन की फाइल तस्वीर

नई दिल्ली:

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने टीम के मौजूदा कोच डैरेन लेहमैन का 'वारिस' खोज लिया है। सीए ने 2016 में वेस्ट इंडीज दौरे पर लेहमैन को आराम देने का फैसला किया है और इस दौरान जस्टिन लैंगर कोच की जिम्मेदारी संभालेंगे। वेस्ट इंडीज दौरे में ट्राई-सीरीज खेली जाएगी, जिसमें तीसरी टीम दक्षिण अफ्रीका होगी। ट्राई-सीरीज अगले साल 6-26 जून के बीच खेली जाएगी।

लैंगर लंबे समय से क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से जुड़े हुए हैं और शेफील्ड शील्ड, बीग बैश लीग की टीमों के कोच रह चुके हैं। लैंगर ने इसी साल मई में वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के साथ दो साल के लिए कोच बनाने का करार किया। इससे पहले वो संन्यास के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ बल्लेबाजी कोच के तौर पर भी काम कर चुके हैं। लैंगर ने कंगारुओं के लिए ओपनिंग बल्लेबाज के रूप में 105 टेस्ट खेले, जिसमें उन्होंने 7,500 से ज्यादा रन बटोरे। इस दौरान लैंगर ने 45 की औसत से बल्लेबाजी करते हुए 23 शतक और 30 अर्द्धशतक बनाए।

ऑस्ट्रेलिया के कोच लेहमैन ने कहा कि वो ट्राई-सीरीज को दौरान वेस्ट इंडीज नहीं जाएंगे और पहली बार ब्रेक ले रहे हैं। लेहमैन 2013 में कंगारू टीम के कोच बने थे और तब से लेकर अब तक लगातार टीम के साथ जुड़े हुए हैं। वैसे लेहमैन का क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ 2017 तक का करार है। माना जा रहा है कि ऐशेज सीरीज को देखते हुए उनका करार 2019 तक बढ़ाया जा सकता है। हालांकि लेहमैन ने कहा कि वो करार की आखिरी तारीख लेकर काम नहीं करते और आगे भी काम करना चाहते हैं।

Newsbeep

लैंगर को जिम्मेदारी दिए जाने पर लेहमैन ने कहा, 'फिलहाल मैं ब्रेक ले रहा हूं और मुझे उम्मीद है कि लैंगर टीम के साथ अच्छा काम करेंगे। हमने इस बारे में बात की है और एक सिस्टम की तरह काम कर रहे हैं, जिससे नए कोच को संवारा जा सके।' लेहमैन ने ये भी कहा, 'कोच के तौर पर लैंगर का रिकॉर्ड अच्छा है और उन्हें खिलाड़ियों को करीब से जानने का मौका मिलेगा। मुझे भरोसा है कि वो ऑस्ट्रेलिया के अगले कोच होंगे।'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लैंगर के कोच बनाए जाने पर लेहमैन ने मुहर जरूर लगा दी है, लेकिन ये अभी साफ नहीं है कि 45 साल के लैंगर को दौरे के लिए टीम चुनने वाली चयन कमेटी में जगह मिलेगी या नहीं। वैसे इसी साल टीम इंडिया के कोच डंकन फ़्लेचर का वर्ल्ड कप के बाद करार खत्म होने पर लैंगर टीम इंडिया के कोच बनने के सबसे प्रबल दावेदार थे।