टेस्ट क्रिकेट के ऐसे बल्लेबाज जिन्होंने अपने करियर के पहले दो शतक को दोहरे शतक में बदला

टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) के ऐसे बल्लेबाज जिन्होंने अपने टेस्ट करियर के पहले दो शतक को दोहरे शतक में तब्दील करने में सफलता पाई है.

टेस्ट क्रिकेट के ऐसे बल्लेबाज जिन्होंने अपने करियर के पहले दो शतक को दोहरे शतक में बदला

ऐसे बल्लेबाज जिन्होंने टेस्ट करियर के पहले दो शतक को दोहरे शतक में तब्दील करने का किया कमाल

खास बातें

  • ऐसे बल्लेबाज जिन्होंने अपने पहले दो शतक को दोहरे शतक में बदला
  • विनोद कांबली ने अपने पहले दो शतकों को दोहरे शतक में बदलकर रचा था इतिहास
  • पाकिस्तान के जहीर अब्बास भी इस कारनामें को करने में सफल रहे हैं

क्रिकेट का इतिहास (Test Cricket History) बेहद ही रोचक है. खासकर टेस्ट क्रिकेट में कई ऐसा रिकॉर्ड बने हैं जिसके बारे में काफी कम लोग ही जानते हैं. टेस्ट में किसी भी बल्लेबाज के लिए डेब्यू करना बड़ी बात होती है. इन सबके अलावा टेस्ट में शतक जमाना किसी भी बल्लेबाज के लिए बड़ी चुनौती होती है. लेकिन जब बल्लेबाज अपने टेस्ट करियर के पहले शतक को दोहरे शतक में तब्दील कर दें तो क्या कहने. वहीं, दूसरी ओर कुछ बल्लेबाजों ने टेस्ट में ऐसा कारनामा किया है जिसकी चर्चा आज भी होती है. जानते हैं उन बल्लेबाजों के बारे में जिन्होंने अपने टेस्ट करियर के पहले दो शतक को दोहरे शतक में तब्दील करने में सफलता पाई.

वैली हैमंड (Wally Hammond)
इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज वैली हैमंड (Wally Hammond) ने अपना पहला टेस्ट शतक 10वें टेस्ट में जमाया. हैमंड ने 1928 में ऑस्ट्रेलिया के खिलफ सिडनी टेस्ट में अपने करियर का पहला शतक जमाया और इस पहले शतक को दोहरे शतक में तब्दील करने में सफल रहे. सिडनी टेस्ट में हैमंड ने 251 रनों की पारी खेली थी. इसके बाद हैमंड ने अपने दूसरे टेस्ट शतक को भी दोहरे शतक में बदलकर इतिहास रच दिया. (Wally Hammond) ने अपना दूसरा शतक भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जमाया और 1928 मेलबर्न टेस्ट में दूसरे शतक को दोहरे शतक में तब्दील करते हुए 200 रनों की पारी खेली थी. वैसे अपने करियर में हैमंड ने 85 टेस्ट खेले और इस दौरान 22 शतक के साथ-साथ 24 अर्धशतक भी जमाने में सफल रहे थे. वैली हैमंड (Wally Hammond) ने अपने करियर के पहले 3 शतक लगातार 3 टेस्ट मैचों में जमाए थे. 

रोहन कन्हाई (Rohan Kanhai)
वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज रोहन कन्हाई (Rohan Kanhai) ने अपना पहले टेस्ट शतक 13वें टेस्ट में जमाया. कन्हाई ने 1958 में भारत के खिलाफ कोलकाता टेस्ट में अपने करियर का पहला शतक जमाया ही बल्कि इस शतक को दोहरे शतक में बदलने में सफल रहे थे. इस मैच में कन्हाई ने 256 रनों की पारी खेली थी. इसके बाद कन्हाई ने अपना दूसरा टेस्ट शतक 1959 में पाकिस्तान के खिलाफ लाहौर टेस्ट में जमाया. इस दौरान भी वेस्टइंडीज के इस पूर्व बल्लेबाज ने अपने दूसरे शतक को दोहरे शतक में बदलने का कारनामा कर दिखाया. कन्हाई ने इस टेस्ट मैच में 217 रनों की पारी खेली थी. 

जहीर अब्बास (Zaheer Abbas)
पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज जहीर अब्बास (Zaheer Abbas) ने भी अपने टेस्ट करियर का पहले दो शतक को दोहरे शतक में बदलने में कामयाबी पाई. अब्बास ने अपना पहले टेस्ट शतक अपने करियर के दूसरे टेस्ट में ही जमाया था. 1971 में बर्मिंघम में खेले गए टेस्ट मैच में अब्बास ने इंग्लैंड के खिलाफ शानदार 274 रनों की पारी खेली थी. वहीं, अपने करियर के दूसरे शतक के दौरान भी उन्होंने दोहरा शतक जमाकर इतिहास रच दिया. अब्बास ने अपने टेस्ट करियर का दूसरा शतक 1974 में द ओवल के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ ठोका था. इस मैच में अब्बास ने अपने शतक को दोहरे शतक में बदला और 240 रन बनाकर पहली पारी में आउट हुए थे. जहीर अब्बास (Zaheer Abbas) ने अपने टेस्ट करियर में कुल 12 शतक और 20 अर्धशतक जमाने में सफलता पाई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

विनोद कांबली (Vinod Kambli)
भारत के बल्लेबाज Vinod Kambli  ने भी अपने टेस्ट करियर में लगाए गए पहले दो शतकों को दोहरे शतक में बदलकर खूब ख्याती पाई. कांबली ने अपना पहला टेस्ट शतक अपने करियर के तीसरे टेस्ट में ही जमा दिया था. 1993 में मुंबई में खेले गए इंग्लैंड के खिलाफ मैच के दौरान कांबली ने अपना पहला शतक जमाया और इस शतक को दोहरे शतक में बदलने में सफल रहे. कांबली ने अपने पहले शतक के दौरान कुल 224 रन बनाए थे. वहीं, कांबली ने इसके बाद अगले ही टेस्ट में एक और शतक जमाया और इस शतक को भी दोहरे शतक में बदलने में कामयाब रहे थे. कांबली ने 1993 में ही जिम्बाब्वे के खिलाफ दिल्ली टेस्ट में करियर का दूसरा शतक जमाया और 227 रन बनाकर आउट हुए. बता दें कि कांबली एक बेहतरीन बल्लेबाज रहे लेकिन शुरूआती कामयाबी के बाद अपनी सफलता को कायम नहीं रख पाए. विनोद कांबली ने अपने टेस्ट करियर में 4 शतक जमाए.

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.