DC vs SRH: सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को घर में दी 5 विकेट से मात, लेकिन...

DC vs SRH: सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को घर में दी 5 विकेट से मात, लेकिन...

DC vs SRH Live Score: कोटला की धीमी पिच पर राशिद खान सबसे किफायती बॉलर साबित हुए.

खास बातें

  • हैदराबाद की पांच विकेट से जीत
  • जॉनी बैर्यस्टो बने मैन ऑफ द मैच, 28 गेंदों पर 48 रन
  • प्वाइंट्स टेबल में हैदराबाद चल रहा टॉप पर
नई दिल्ली:

थोड़ा रोमांच पैदा हुआ, हैदराबाद को थोड़ी सी हिचकियां भी जरूर आईं! थोड़ा सा तनाव भी पैदा, लेकिन इस बात को लेकर तो किसी को कोई शक नहीं ही था कि हैदराबाद आखिरी 12 गेंदों पर दस रन नहीं ही बनाएगा. वास्तव में अफगानी मोहम्मद नबी ने 19वें ओवर की शुरुआती तीन गेंदों में ही एक छक्का और चौका जड़कर हैदराबाद के उस मजबूत आधार पर जीत की मुहर लगा दी, जो डेविड वॉर्नर और जॉनी बैर्यस्टो (48 रन, 28 गेंद, 9 चौके, 1 छक्का) ने करीब 7 ओवरों में 64 रन जोड़कर रखा था.

इस साझेदारी के साथ ही चर्चा यह हो चली थी कि दिल्ली कैपिटल्स से मिले 130 रन के टारगेट को हैदराबाद कितनी जल्दी हासिल कर पाते हैं. इसमें दो राय नहीं कि मनीष पांडे, विजय शंकर और फिर दीपक हूडा के नियमित अंतराल पर विकेट गिरने से संभावित जीत को थोड़ा लंबित तो कर दिया, लेकिन यूसुफ पठान और मोहम्मद नबी ने नाबाद रहते हुए 9 गेंद और पांच विकेट बाकी रहते ही हैदराबाद कोे जीत दिला दी, लेकिन अगर दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ी पूरे  जज्बे के साथ खेलते, मैदान पर बेहतर रवैया दिखाते, थोड़े रन और बनाते, तो यह मैच फंस सकता था. बहरहाल, जॉनी बैर्यस्टो को उनके आतिशी 48 रन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

SCORECARD

COMMENTARY

SEE MATCH GRAPHICS

पावर-प्ले (1 से 6 ओवर): 30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ 2 फील्डर: अक्षर चूके, बैर्यस्टो टूटे!

कोटला की पिच स्पिनरों बड़े से बड़े बल्लेबाज के खिलाफ मौके देने वाली थी. मौके दिल्ली को शुरुआत में ही मिले भी, लेकिन अगर गेंदबाज ही चूक जाए, तो फिर तो इतने कम स्कोर के खिलाफ खेल रही टीम का भगवान ही मालिक है! दोनों छोरों से श्रेयस ने स्पिनरों को लगाया. फायदा मिला, और अक्षर के फेंके दूसरे ही ओवर में जॉनी बैर्यस्टो ने खुद को पवेलियन भेजने का पूरा मौका दिया, लेकिन चूक गए अक्षर पटेल अपनी ही गेंद पर कैच लपकने में. फिर क्या था! वही हुआ, जो होना था! बैर्यस्टो टूटे पड़े दोनों स्पिनरों पर. क्रिस मौरिस के चौथे ओवर में तो चार चार चौके गए. और जब रवाडा छठा ओवर लेकर आए, तो बैर्यस्टो ने तीन चौके जड़कर उनकी भी कटाई कर डाली! और पावर-प्ले की समाप्ति पर स्कोर पहुंचा दिया बिना नुकसान के 62 रन. तब बैर्यस्टो के थे 25 गेंदों पर 47 और वॉर्नर के थे 11 गेंदों पर 6 रन

विकेट पतन: 64-1 (बैर्यस्टो, 6.5), 68-2 (वॉर्नर, 7.6), 95-3 (मनीष, 12.6), 101-4 (विजय शंकर, 14.3), 111-5 (हू़डा, 15.6)

शुरुआती सेशन में बैटिंग का न्योता पाने के बाद दिल्ली के बल्लेबाजों ने एक बार फिर से वैसा रवैया नहीं दिखाया, जिसकी दरकार थी. और इसकी शुरुआत ओपनरों पृथ्वी शॉ और शिखर धवन से ही शुरू हो गई. और एक बार विकेट गिरना शुरू हुए, तो 20वां ओवर तक खत्म होने पर नियमित अंतराल पर दिल्ली के विकेट गिरना जारी रहा. वह तो भला हो कप्तान श्रेयस अय्यर (43 रन, 41 गेंद, 3 चौके, 1 छक्का) और अक्षर पटेल (नाबाद 23 रन, 13 गेंद, 1 चौका, 2 छक्के) का. इस प्रयास से दिल्ली की टीम कोटे के 20 ओवर में 8 विकेट पर 129 रन तक पहुंचने में कामयाब रही. 

किसी ने नहीं दिया कप्तान श्रेयस का साथ

खराब शुरुआत हुई, तो थोड़े मुश्किल होते विकेट पर कप्तान श्रेयस अय्यर ने एक छोर पर मिश्रित अंदाज दिखाया, लेकिन दूसरे छोर तो हालात ऐसे थे कि मानो बल्लेबाजों का पिच पर मन ही नहीं लग रहा था! नियमित अंतराल पर विकेट लगातार गिरते रहे. जब बल्लेबाजों को विकेट पर थोड़ा धैर्य दिखाने की जरूरत थी, तो उन्होंने बेपरवाह अंदाज में बल्ला भांजा! एक ऐसे समय जब टीम को ऋषभ पंत की जरूरत थी, वह भी (5) सस्ते में लांगऑफ पर कैच थमा गए, तो युवा राहुल तेवतिया को पता ही नहीं चल पाया कि वह आउट हुए, तो कैसे हुए! विकेट नियमित अंतराल पर गिरे, तो इसने जरूरी रन गति पर कड़ा प्रहार किया. और यह प्रहार कोटे के 20 ओवर में 8 विकेट पर सिर्फ 129 रनों के रूप में देखने को मिला. 

पावर-प्ले (1 से 6 ओवर): 30 गज के घेरे के बाहर सिर्फ 2 फील्डर: धवन और पृथ्वी का निराशाजनक रवैया

कोटला की पिच ऐसी हैं, जहां शुरुआती कुछ ओवरों में खुद को ढालना पड़ता है. पृथ्वी शॉ ने भले ही भुवनेश्वर को पहले ही ओवर में दो बार सीमा पार पहुंचाया हो, लेकिन तीसरे ओवर ही भुवी की ही तीसरी गेंद ने पृथ्वी को बड़ा सबक दिया! पिच से खुद को ढालने का! गलत शॉट का चयन. और गेंद रह गई उम्मीद से नीचे. नतीजा गिल्लियां जमीं पर और पृथ्वी ने एक और बेहतरीन मौका गंवा दिया. स्कोर चार ओवर में 1 विकेट पर 19 हुआ, तो कप्तान अय्यर ने सिद्धार्थ कौल के फेंके पांचवें ओवर में छक्का जड़ तेवर दिखाए, लेकिन यह शुरुआती ओवरों में तेवरों वाली नहीं, बल्कि कैलकुलेटिड रिस्क लेने वाली पिच थी. और यह एक बार फिर से साबित हुआ अफगानी मोहम्मद नबी के ठीक अगले और पावर-प्ले के आखिरी छठे ओवर में. गेंद कोटला में स्किट करती ही है और ऐसे में स्वीप शॉट पर लेने के देने की गुंजाइश शुरुआती ओवरों में बहुत रहती है. धवन ने गैरजरूरी कोशिश की, तो स्वीप के देने पड़ गए. पावर-प्ले के ओवरों में दिल्ली के दोनों ओपनरों खास तौर पर पृथ्वी शॉ का रवैया निराशाजनक रहा. पावर-प्ले का फायदा उठाना तो दूर, ऊपर से विकेट और गंवा दिया. छह ओवर में बने 2 विकेट पर 36 रन

विकेट पतन: 14-1 (पृथ्वी, 2.2),  36-2 (धवन, 5.6), 52-3 (पंत, 9.1), 61-4 (राहुल, 10.4), 75-5 (इंग्राम, 13.3), 93-6 (श्रेयस, 16.1), 107 (मौरिस, 18.2), 115-8 (रबाडा, 19.2)

पिच रिपोर्ट: कोटला की इस पिच पर बिल्कुल भी घास नहीं थी. पिछला सुपर ओवर का मुकाबला आपको ध्यान ही होगा कि 180 से ज्यादा रन इस पिच पर बने थे. बहरहाल, सामान्य तौर पर कोटला में पहली पारी में शुरुआती 10 ओवरों के दौरान गेंद टप्पा खाने के बाद उठती है, तो वहीं 10 ओवर के बाद गेंद बल्लेबाज पर आने के लिहाज से धीमी हो जाती है. यह धीमापन स्पिरनों को खूब रास आया. मोहम्मद नबी और राशिद खान चार विकेट चटका ले गए. पिच में स्पिनरों के लिए दिल्ली कैपिटल्स की गेंदबाजी के भी दौरान था, लेकिन कैच छोड़े गए, तो लैमिछाने और अक्षर पटेल एक-एक विकेट लेने में कामयाब रहे. अगर कुछ रन दिल्ली के बल्लेबाज और बनाते, तो इस सूरत में उसके स्पिनर और ज्यादा असर छोड़ते. और कौन जानता है कि रिजल्ट कुछ और रहता.

इससे पहले सनराइजर्स हैदराबाद ने टॉस जीतने के बाद पहले फील्डिंग करने का फैसला किया. दिल्ली ने अपन टीम में तीन बदलाव किए. और ईशांत शर्मा, अक्षर पटेल और तेवतिया की इलेवन में वापसी हुई है. वहीं, हैदराबाद ने अपने पिछले मैच की ही इलेवन को बरकरार रखा. दोनों टीमों की फाइनल इलेवन इस प्रकार है:

दिल्ली कैपिटल्स: श्रेयस अय्यर (कप्तान), पृथ्वी शॉ, शिखर धवन, ऋषभ पंत, कोलिन इंग्राम, क्रिस मोरिस, अक्षर पटेल, राहुल तेवतिया, कैगिसो रबाडा, संदीप लैमिछाने और ईशांत शर्मा

सनराइजर्स हैदराबाद: जॉनी बैर्यस्टो, डेविड वॉर्नर, विजय शंकर, मनीष पांड़े, यूसुफ पठान, दीपक हूडा, राशिद खान, मोहम्मद नबी, भुवनेश्वर कुमार (कप्तान), संदीप शर्मा और सिद्धार्थ कौल

VIDEO: वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से मुकाबले पर बात करते केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद. 


 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com