MI vs DC, IPL 2020: मुंबई इंडियंस छठी बार आईपीएल के फाइनल में, दिल्ली को दी 57 रन से मात

IPL 2020, Mumbai Indians vs Delhi Capitals Live Score: मुंबई इ़ंडियंस ने श्रेयस अय्यर की टीम के सामने जीत के लिए 201 रनों का विशाल टारगेट रखा था. मुंबई की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और कप्तान रोहित शर्मा बिना खाता खोले ही आउट हो गए, लेकिन पहले क्विंटन डि कॉक के 40, सूर्यकुमार यादव के 51, ईशान किशन के नाबाद 55 रनों ने मुंबई को मजबूत स्कोर तक पहुंचा दिया, लेकिन अलग से खास जिक्र करना होगा हार्दिक पंड्या का. यह हार्दिक ही थे, जिनके आतिशी तेवर से मुंबई ने दो सौ का आंकड़ा छुआ.

MI vs DC, IPL 2020: मुंबई इंडियंस छठी बार आईपीएल के फाइनल में, दिल्ली को दी 57 रन से मात

MI vs DC, IPL 2020: क्वालीफायर में टीम रोहित ने टीम अय्यर को बुरी तरह से धो दिया.

खास बातें

  • जसप्रीत बुमराह बने मैन ऑफ द मैच
  • बुमराह ने चटकाए 4 विकेट
  • गेंदबाजों का हल्ला बोल, दिल्ली का डिब्बा गोल !

बड़े मैचों में खेलने का अपार अनुभव रखने वाली मुंबई इंडियन्स (Mumbai Indians) ने इंडियंस प्रीमियर लीग (IPL 2020) में वीरवार को खेले गए पहले क्वालीफायर (Qualifier1) मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) को हर डिपार्टमेंट में बुरी तरह मात देते हुए उसे 57 रन के अंतर से हराकर जारी संस्करण के फाइनल में प्रवेश कर  लिया. मुंबई (MI) की तरफ से दिया गया 201 का टारगेट दिल्ली के लिए पहाड़  सरीखा साबित हुआ, और जब उसने लक्ष्य का पीछा करते हुए पावर-प्ले के शुरुआती 6 ओवरों में 32 रन पर ही अपने 4 टॉप बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए, तभी यह साफ हो गया कि ऊंट किस करवट बैठेगा. दिल्ली की हालत हालात इतनी खराब थी एक समय दिल्ली का स्कोर 0 रन पर 3 विकेट था. इतने बुरे हालात के बाद दिल्ली  कैपिटल्स को सम्मान बचाने के लिए ही खेलना था और उसकी तरफ से मारकस स्टोइनिस (65) और निचले ्क्रम में अक्षर पटेल (42)  पूरी-पूरी कोशिश की और इस प्रयास से दिल्ली कैपिटल्स की टीम कोटे के 20 ओवरों में 8 विकेट पर 143 रन ही बना सके. और दिल्ली के इस बुरे हाल के लिए पूरी तरह जिम्मेदार रहे जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट. बुमराह ने चार और बोल्ट ने 2 विकेट चटकाकर दिल्ली को पूरी तरह से उजाड़ दिया. 

इससे पहले न्योता पाकर मुंबई इ़ंडियंस ने श्रेयस अय्यर की टीम के सामने जीत के लिए 201 रनों का विशाल टारगेट रखा था. मुंबई की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और कप्तान रोहित शर्मा बिना खाता खोले ही आउट हो गए, लेकिन पहले क्विंटन डि कॉक के 40, सूर्यकुमार यादव के 51, ईशान किशन के नाबाद 55 रनों ने मुंबई को मजबूत स्कोर तक पहुंचा दिया, लेकिन अलग से खास जिक्र करना होगा हार्दिक पंड्या का. यह हार्दिक ही थे, जिनके आतिशी तेवर से मुंबई ने दो सौ का आंकड़ा छुआ. हार्दिक ने 5 छक्कों से सिर्फ 14 गेंदो नाबाद 34 रन की पारी खेली और इसने अंतर पैदा किया. दिल्ली के सबसे ज्यादा तीन विकेट आर. अश्विन ने चटकाए. 

मौजूदा चैंपियन मुंबई ने टास गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट पर 200 रन का मजबूत स्कोर बनाया. इसके जवाब में दिल्ली की टीम आठ विकेट पर 143 रन ही बना पायी. मुंबई इससे पहले 2010, 2013, 2015, 2017 और 2019 में भी फाइनल में पहुंचा था. दिल्ली का सफर अभी समाप्त नहीं हुआ है. वह दूसरे क्वालीफायर में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच शुक्रवार को होने वाले एलिमिनेटर के विजेता से भिड़ेगा. मुंबई नियमित अंतराल में विकेट गंवाने के बावजूद क्विंटन डिकाक (25 गेंदों पर 40), सूर्यकुमार यादव (38 गेंदों पर 51 रन, छह चौके, दो छक्का), इशान किशन (30 गेंदों पर नाबाद 55, चार चौके, तीन छक्के) और डैथ ओवरों में धमाल मचाने वाले हार्दिक पंड्या (14 गेंदों पर पांच छक्कों की मदद से नाबाद 37) के योगदान से बड़ा स्कोर बनाने में सफल रहा. मुंबई ने अंतिम तीन ओवरों में 55 रन जुटाये.

इसके बाद जसप्रीत बुमराह (14 रन देकर चार विकेट) और ट्रेंट बोल्ट (दो ओवर में नौ रन देकर दो) ने कहर बरपाया और दिल्ली को पहले दो ओवरों में ही बैकफुट पर भेज दिया। दिल्ली की आधी टीम 41 रन तक पवेलियन में विराजमान थी. मार्कस स्टोइनिस (46 गेंदों पर 65) और अक्षर पटेल (33 गेंदों पर 42) ने छठे विकेट के लिये 71 रन जोड़कर हार का अंतर कम किया. बड़े लक्ष्य के सामने दिल्ली की शुरुआत बेहद खराब रही। बोल्ट ने पहले ओवर में ही पृथ्वी शॉ और अजिंक्य रहाणे को आउट किया तो बुमराह ने अगले ओवर में शिखर धवन की गिल्लियां बिखेरी. दिल्ली का खाता भी नहीं खुला था और उसके तीन विकेट गिर गये थे. बुमराह ने भी कप्तान श्रेयस अय्यर (12) को नहीं टिकने दिया जबकि ऋषभ पंत (तीन) फिर से नाकाम रहे. ओस ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था और ऐसे में स्टोइनिस ने राहुल चाहर को निशाने पर रखा जिन्होंने दो ओवर में 35 रन लुटाये. स्टोइनिस ने उन पर तीन छक्के लगाये जबकि अक्षर ने कीरोन पोलार्ड पर दो छक्के जड़कर मैच को रोमांचक बना दिया.ऐसे में बुमराह ने गेंद थामी और पहली गेंद पर ही स्टोइनिस की गिल्लियां बिखेरी और फिर डेनियल सैम्स को विकेट के पीछे कैच कराया. स्टोइनिस ने अपनी पारी में छह चौके और तीन छक्के लगाये. पटेल आखिरी ओवर में आउट हुए. उनकी पारी में दो चौके और तीन छक्के शामिल हैं. कैगिसो रबाडा 15 रन बनाकर नाबाद रहे.

इससे पहले शुरुआती 10 ओवरों में अगर सूर्यकुमार ने पारी संवारी तो अंतिम 10 ओवर में यह जिम्मा किशन ने बखूबी संभाला. इन दोनों ने एक छोर संभाले रखा.किशन और हार्दिक ने अंत में 23 गेंदों पर 60 रन की साझेदारी की. दिल्ली के दो प्रमुख गेंदबाजों कैगिसो रबाडा (42 रन) और एनरिक नोर्जे (50 रन देकर एक विकेट) ने आठ ओवर में 92 रन लुटाये. रविचंद्रन अश्विन (29 रन देकर तीन) ने हालांकि प्रभावशाली गेंदबाजी की. डिकॉक ने डेनियल सैम्स के पहले ओवर में तीन चौकों की मदद से 15 रन जुटाये लेकिन रोहित शर्मा चोट से उबरने के बाद लगातार दूसरे मैच में नाकाम रहे. अश्विन ने खूबसूरत ऑफ ब्रेक पर रोहित को पगबाधा आउट कर दिया. रोहित ने आईपीएल में सर्वाधिक 13 बार शून्य पर आउट होने के हरभजन सिंह और पार्थिव पटेल के रिकार्ड की बराबरी की.

डिकॉक ने अपने आक्रामक तेवर बरकरार रखे और नये बल्लेबाज सूर्यकुमार ने उनका पूरा साथ दिया जिससे मुंबई ने पावरप्ले में स्कोर एक विकेट पर 63 रन पर पहुंचाया. सूर्यकुमार ने अश्विन को निशाने पर रखकर उन पर दो छक्के लगाये लेकिन इस आफ स्पिनर ने डिकाक को हवा में लहराता कैच देने के लिये मजबूर किया. डिकॉक ने पांच चौके और एक छक्का लगाया. लेकिन बीच के ओवरों में केवल 15 रन बने तथा सूर्यकुमार और कीरोन पोलार्ड पवेलियन लौटे. नॉर्जे ने सूर्यकुमार को पवेलियन भेजा जिन्होंने सीमा रेखा पर कैच देने से पहले मिडविकेट पर दर्शनीय चौके से अर्धशतक पूरा किया था. अश्विन ने पोलार्ड को खाता भी नहीं खोलने दिया. किशन ने इसके बाद ‘गियर' बदले। किशन का रबाडा पर डीप स्क्वायर लेग पर लगाया गया छक्का दर्शनीय था। क्रुणाल भी नोर्जे पर छक्का जड़कर स्टोइनिस की गेंद पर आसान कैच दे बैठे.सैम्स के 18वें ओवर में हार्दिक ओर किशन ने छक्के लगाये। हार्दिक ने रबाडा और नोर्जे पर दो छो छक्के जड़कर उनका गेंदबाजी विश्लेषण बिगाड़ दिया.किशन ने नॉर्जे की पारी की आखिरी गेंद छक्के के लिये भेजकर अपना अर्धशतक पूरा किया.

शुरुआती पाली में दिल्ली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया है और उसने अपने पिछले ही मुकाबले की इलेवन को चुना है, तो मुंबई की इलेवन में तीन बदलाव हैं. पैटिंसन, धवन और सौरभ तिवारी की जगह जसप्रीत बुमराह, बोल्ट और हार्दिक पंड्या फिर से इलेवन का हिस्सा बने और इन तीन बदलावों का मैच पर सबसे बड़ा असर रहा. चलिए मैच में खेलीं दोनों टीमों की इलेवन पर भी गौर फरमा लें. 

दिल्ली की टीम:

Newsbeep

मुंबई की टीम:

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.