NDTV Khabar

IND vs WI, 3rd T20I : भारत ने विंडीज को छह विकेट से हराया, शिखर धवन के 92 रन

IND vs WI, 3rd T20I: बेहतरीन 92 रन की पारी खेलने वाले शिखर धवन मैन ऑफ द मैच, तो तीसरे मैच से बाहर रहे कुलदीप यादव को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
IND vs WI, 3rd T20I : भारत ने विंडीज को छह विकेट से हराया, शिखर धवन के 92 रन

भारतीय टीम के सदस्य ट्रॉफी के साथ

खास बातें

  1. विंडीज- (20 ओवरों में 3 पर) 181 रन, पूरण 53*, ब्रावो 43*
  2. भारत- (20 ओवरों में 4 पर) 182 रन, धवन 92, पंत 58
  3. मैन ऑफ द मैच-शिखर धवन, मैन ऑफ द सीरीज-कुलदीप यादव
चेन्नई:

भारत ने शिखर धवन (92 रन, 62 गेंद, 10 चौके, 2 छक्के) और ऋषभ पंत (58 रन, 38 गेंद, 5 चौके, 3 छक्के) की उम्दा बल्लेबाजी की बदौलत अति रोमांचक बन गए मुकाबले में विंडीज को छह विकेट से हराकर तीन टी-20 मैचों की सीरीज में उसका सूपड़ा साफ कर दिया. विंडीज ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए कोटे के 20 ओवरों में 3 विकेट पर 181 रन बनाए. उसकी तरफ से निकोलस पूरण (नाबाद 53) और डेरेन ब्रावो (43) ने  अच्छी बल्लेबाजी की. भारत के लिए युजवेंद्र चहल ने 2 विकेट लिए. जवाब में भारत ने खराब शुरुआत के बाद धवन और पंत के बीच तीसरे विकेट के लिए हुई 130 रन की साझेदारी से 20वें ओवर की आखिरी गेंद पर छह विकेट बाकी रहते मैच जीत लिया. इसी के साथ ही मेजबान टीम ने सीरीज भी 3-0 से जीत ली. शानदार बैटिंग करने वाले शिखर धवन को मैन ऑफ द मैच चुना गया, तो कुलदीप यादव मैन ऑफ द सीरीज चुने गए.


विकेट पतन: 13-2 (रोहित, 2.2)​, 45-2 (राहुल, 5.2), 175-3 (ऋषभ, 18.2), 181-4 (धवन, 19.5)

लड़खड़ा गई पावर!
विंडीज से मिले मजबूत टारगेट को देखते हुए भारत के लिए पावर-प्ले के शुरुआती छह ओवर बहुत ही अहम थे. इन छह ओवरों में टीम इंडिया ने पचास रन तो बनाए, लेकिन उसकी पावर लड़खड़ा गई. वजह यह रही कि पहले कप्तान रोहित शर्मा (4) और धीरे-धीरे आक्रामक रुख अख्तियार कर रहे केएल राहुल (15) जल्द ही पवेलियन लौट गए. इन दो अहम विकेटों के कारण भारत शुरुआती छह ओवरों को वैसे नहीं भुना सका, जिसकी जरूरत थी या जिसकी उम्मीद करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमी कर रहे थे. 
 

इससे पहले मेहमान विंडीज ने निकोलस पूरण (नाबाद 53 रन, 25 गेंद, 4 चौके, 4 छक्के) और डेरेन ब्रावो  (नाबाद 43 रन, 37 गेंद, 2 चौके, 2 छक्के) की बेहतरीन बल्लेबाजी की बदौलत भारत के सामने जीत के लिए 182 का मजबूत स्कोर रखा था. लेकिन एक बेहतरीन कोशिश के बावजूद विंडीज तीसरा मैच जीत पाने में नाकाम रहा.   पंत-धवन की रिकॉर्ड साझेदारी
दो विकेट पावर-प्ले में गंवाने के बाद शिखर धवन और ऋषभ पंत ने भारत की पारी को आगे बढ़ाते हुए टीम इंडिया के स्कोर को आगे बढ़ाया. जहां धवन ने पूरे भरोसे के साथ बल्लेबाजी की, तो दूसरे छोर पर कुछ बेहतरीन स्ट्रोक लगाने वाले ऋषभ पंत कुछ बहुत ही जोखिम भरे शॉट खेलने के कारण आउट होने से बाल-बाल बचे. लेकिन आखिरकार शुरुआती दो मैचों में प्लॉप रहने वाले पंत ने अपना पहला टी-20 पचासा जड़ा, तो उन्होंने धवन के साथ मिलकर टी20 में तीसरे विकेट के  लिए भारत के लिए दूसरी सर्वश्रेष्ठ साझेदारी की. धवन और पंत ने 130 रन जोड़े, लेकिन वह कोहली और रैना का 134 रनों की साझेदारी का रिकॉर्ड तोड़ने से पांच रन पीछे रह गए. इस साझेदारी से उन्होंने भारत की जीत सुनिश्चित कर दी. लेकिन जब लग रहा था कि यह साझेदारी नाबाद रहते हुए मैच जिता कर लौटेगी, तभी पंत बहुत ही अटपटा स्ट्रोक खेलने की कोशिश में 19वें ओवर में बोल्ड हो गए. और यहां से एक अजीबोगरीब नाटकीय स्थिति देखने को मिली.  ...वो आखिरी ओवर का रोमांच

भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए पांच रन बनाने थे. 
कीमो के फेंके 19वें ओवर में भारत ने पंत का विकेट गंवाया, तो रन सिर्फ तीन ही आए. कीमो ने कुछ बेहतरीन व सटीक यार्कर फेंकी और उन्होंने नए बल्लेबाज मनीष पांडे को आजादी नहीं लेने दी. आखिरी ओवर में भारत को जीत के लिए 5 रन बनाने थे. फाबियान एलन की फेंकी तीसरी गेंद पर स्कोर बराबर भी हो गया. यहां से तीन गेंदों पर भारत को एक रन की दरकार थी, लेकिन पांचवीं गेंद पर शिखर धवन हवाई शॉट लगाने की कोशिश में क्या आउट हुए कि स्टेडियम में जमा हजारों दर्शकों के साथ टीवी पर मैच देख रहे करोड़ों क्रिकेटप्रेमियों की सांसें अटक गईं. यह सोचकर कि यहां से मैच टाई भी हो सकता है. भाग्य ने विंडीज को आखिरी गेंद पर टाई का मौका भी दिया, लेकिन उसके फील्डर बेहतरीन रन आउट करने का मौका नहीं भुना सके. मनीष पांडे ने किसी तरह रन पूरा किया. और इसी के साथ स्टेडियम में खुशी का ज्वारा फूटा पड़ा. भारत ने 6 विकेट से मुकाबला अपनी झोली में डालने के साथ ही सीरीज पर भी 3-0 से कब्जा कर लिया.  

विकेट पतन: 51-1 (होप. 6.1), 62-2 (हेटमायर, 8.6), 94-3 (रामदीन, 12.5)

पावर प्ले में दिखी पावर !
तीसरे और आखिरी टी-20 में विंडीज ने इस बार बेहतर शुरू की. खलील के फेंके तीसरे ओवर में होप और हेटमायर दोनों ने एक-एक चौका जड़ा. लेकिन चौथे ओवर में गति एक नए स्तर पर पहुंच गई. और इस बार निशाने पर आए लंबे समय बाद खेल रहे युवा वॉशिंगटन सुंदर. हेटमायर ने इस ओवर में दो चौके जड़े, तो एक चौका वाइड से आया. कुल मिलाकर 14 रन चौथे ओवर में विंडीज के खाते में जमा हुए. बदलाव के तौर पर पांचवां ओवर भुवनेश्वर कुमार लेकर आए, तो होप ने दो चौके लगाकर उनका स्वागत किया. और पावर-प्ले में सबसे महंगा ओवर साबित हुआ आखिरी छठा ओवर. गेंद थमाई गई क्रुणाल पंड्या को, लेकिन एक छक्का जड़ा होप ने और एक जड़ा हेटमायर ने. इस तरह पावर-प्ले में विंडीज का स्कोर रहा बिना नुकसान के 51 रन. 

चहल आए, विकेट लाए!
पावर-प्ले खत्म हुआ, तो सातवें ओवर में पहला ओवर मिला युजवेंद्र चहल को. और उन्होंने पहली ही गेंद पर उन्होंने शाई होप (24) को मिडविकेट पर वॉशिंगटन सुंदर के हाथों लपकवा उनकी पारी का अंत कर भारत को जरूरी विकेट प्रदान किया. ठीक एक ओवर बाद युजवेंद्र ने फिर से साथियों को चहकने का मौका दिया. नौवें ओवर की आखिरी गेंद पर चहल ने धीरे-धीरे और खतरनाक हो रहे और इन-फॉर्म शिरोम हेटमायर (24) को डीप-प्वाइंट पर क्रुणाल पंड्या के हाथों लपकवा अपना दूसरा विकेट सुनिश्चित कर लिया.  निकोलस पूरण ने चौंकाया !
एक समय विंडीज काफी कम स्कोर बनाता दिखाई पड़ रहा था, लेकिन नंबर पांच बल्लेबाज निकोलस पूरण के इरादे कुछ और ही थे. इस लेफ्टी बल्लेबाज ने अपनी बैटिंक से हर किसी को हैरान कर दिया. सिर्फ 25 गेंदों पर 4 चौकों और 4 छक्कों से ही नाबाद 53 रन बनाकर निकोलस पूरण पहली पारी में सभी के आकर्षण का केंद्र बन गए. और उनका पूरा-पूरा साथ दिया डेरेन ब्रावो ने. ब्रावो ने 37 गेंदों पर बिना आउट हुए 43 रन बनाए, दो चौकों और इतने ही छक्कों के साथ इन दोनों ने मिलाकर आखिरी के पांच ओवरों में बहुत ही धुआंधार बल्लेाबजी की और चौथे विकेट के लिए नाबाद 87 रन की साझेदारी कर विंडीज को 3 विकेट पर 181 का मजबूत दिलाने में अहम भूमिका निआई, लेकिन चर्चा और आकर्षण निकोलस पूरण के इर्द-गिर्द सिमट कर रह गया था.

इससे पहले विंडीज ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया. भारतीय टीम ने इलेवन में दो बदलाव किए हैं. जसप्रीत बुमराह और कुलदीप यादव इस मैच का हिस्सा नहीं है. उनकी जगह युजवेंद्र चहल और वॉशिंगटन सुंदर को शामिल किया गया है. वहीं विंडीज ने पिछले मैच की ही अपनी इलेवन को बरकरार रखा है. दोनों देशों की इलेवन इस प्रकार है:

भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, ऋषभ पंत, लोकेश राहुल, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), क्रुणाल पंड्या, वॉशिंगटन सुंदर, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद और युजवेंद्र चहल
वेस्टइंडीज: कार्लोस ब्रेथवेट (कप्तान), शाई होप, शिमरोन हेटमायर,​ डेरेन ब्रावो, दिनेश रामदीन, निकोलस पूरण, कीरोन पोलार्ड, फाबियान एलन, कीमो पाल, खेरी पियरे और ओशाने थॉमस


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement