Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हफ़्ते भर में इंग्लैंड के दो विकेटकीपरों ने कहा अलविदा, मैट प्रायर ने भी लिया संन्‍यास

हफ़्ते भर में इंग्लैंड के दो विकेटकीपरों ने कहा अलविदा, मैट प्रायर ने भी लिया संन्‍यास

मैट प्रायर की फाइल फोटो

नई दिल्‍ली:

इसे इत्तेफ़ाक ही कहा जा सकता है कि जिस हफ़्ते विकेटकीपर बल्लेबाज़ जॉस बटलर ने धमाकेदार पारी खेलकर इंग्लैंड को 400 के आंकड़े के पार करवाया उसी हफ़्ते इंग्लैंड के दो विकेटकीपर ने क्रिकेट से संन्यास का फ़ैसला ले लिया। इंग्लैंड के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज़ मैट प्रायर ने सभी फ़ॉर्मेट के क्रिकेट को अलविदा कहने का फ़ैसला कर लिया।

मैट प्रायर ने अपना आख़िरी टेस्ट मैच लॉर्ड्स पर भारत के ख़िलाफ़ खेला था जबकि आख़िरी वनडे चार साल पहले 2011 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ खेला था। ख़बरों के मुताबिक प्रायर ने चोट की वजह से खेल को अलविदा कहा है। पिछले हफ़्ते चोट की वजह से ही इंग्लैंड के पूर्व विकेटकीपर क्रैग कीस्वेटर ने क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया था।

33 साल के क्रिकेटर मैट प्रायर ने 79 टेस्ट मैचों में 7 शतकों के सहारे 4099 रन बनाये। जबकि, 68 वनडे मैचों में उनके नाम 1282 रन हैं। 33 साल के मैट प्रायर ने बार-बार हो रही पांव में चोट की वजह से क्रिकेट छोड़ने का फ़ैसला किया तो 27 साल के क्रेग कीस्वेटर ने आंख में चोट की वजह से।

फिर भी इंग्लैंड की विकेटकीपिंग बेहद सुरक्षित हाथों में नज़र आती है और उसकी वजह है इंग्लैंड की टीम में 24 साल के धमाकेदार विकेटकीपर बल्लेबाज़ जॉस बटलर का होना। बटलर कमाल के फ़ॉर्म में हैं। दो दिनों पहले न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 77 गेंदों पर उनकी 129 रनों की पारी के सहारे इंग्लैंड ने वनडे में पहली बार 400 का आंकड़ा (408/9) पार कर लिया।

जॉस बटलर ने 8 टेस्ट मैचों में 474 रन बनाए हैं 52.66 के औसत और पांच अर्द्धशतकीय पारियों के साथ। 56 वनडे में उन्होंने 2 शतक और 7 अर्द्धशतकों के साथ 1409 रन बनाए हैं 34.36 के औसत के साथ। अंतरराष्ट्रीय टी 20 में उनका स्ट्राइक रेट 131.96 और घरेलू स्तर की टी 20 में उनका स्ट्राइक रेट 144.10 है। यानी क्रिकेट के सभी फ़ॉर्मेट में उनका बल्ला दमदार नज़र आता है। उनकी विकेटकीपिंग भी लगातार सुधर रही है।

बटलर क्रिकेट के जीनियस विकेटकीपर-बल्लेबाज़ एबी डिविलियर्स को अपना रोल मॉडल मानते हैं और कहते हैं कि उन्हें अभी बहुत काम करने की ज़रूरत है। बटलर का सितारा बुलंदी पर है और इंग्लैंड के जानकार और फ़ैन्स उनसे बड़ी उम्मीदें रखने लगे हैं।