NDTV Khabar

पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक भारत-पाक के बीच सीरीज नहीं होने पर इसलिए हैं निराश...

46 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक भारत-पाक के बीच सीरीज नहीं होने पर इसलिए हैं निराश...

India vs Pakistan : मिस्बाह को भारत के खिलाफ टेस्ट कप्तानी का मौका नहीं मिला है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. वर्ल्ड कप टी-20 में हुआ था भारत और पाक का मुकाबला
  2. दोनों देशों के बीच लंबे समय से नहीं हुई है टेस्ट सीरीज
  3. आतंकी हमलों के कारण भारत सरकार ने नहीं दी अनुमति
कराची: भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें जब भी एक-दूसरे के सामने होती हैं, तो खेल का रोमांच अपने चरम पर होता है. स्टेडियम खचाखच भर जाते हैं, तो लोग टीवी स्क्रीन पर से भी नजरें नहीं हटाते. हालांकि पिछले कुछ सालों से वह इस रोमांच से वंचित हैं, क्योंकि आईसीसी के टूर्नामेंटों को छोड़ दें, तो भारत-पाक के बीच कोई भी द्विपक्षीय सीरीज लंबे समय से नहीं हुई है. दोनों ही देशों के क्रिकेट बोर्ड अपनी-अपनी सरकारों से अनुमति की मांग करते रहे हैं. कई बार तो बात बनते-बनते बिगड़ चुकी है. इसका खामियाजा पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को उठाना पड़ा है, क्योंकि भारत के साथ मैचों से उसको अच्छी खासी आय हो जाती है, वहीं वहां के खिलाड़ी भी भारत के साथ खेलने की इच्छा रखते हैं, लेकिन इसका मौका नहीं मिलने से निराश हैं. पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक ने भारत के साथ सीरीज नहीं खेल पाने को लेकर निराशा जताते हुए इसका कारण भी बताया कि सीरीज क्यों संभव नहीं हो पा रही है और उन्हें इसका क्यों मलाल है...
   
दर्शकों को हो रहा नुकसान...
पाकिस्तान के सबसे सफल टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक ने भारत के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज नहीं हो पाने पर निराशा जताते हुए कहा है कि वह खेलों पर किसी भी तरह के प्रतिबंध के खिलाफ हैं. उनके अनुसार राजनीति और राजनीतिक मसलों के कारण सीरीज संभव नहीं हो पा रही है. मिस्बाह के अनुसार इससे सबसे अधिक नुकसान दर्शकों को हो रहा है, क्योंकि उन्हें उच्च दर्जे के मुकाबले देखने को नहीं मिल रहे हैं.

मिस्बाह ने कहा, ‘यह रोक पाकिस्तान और भारत के बीच राजनीति और राजनीतिक मसलों के कारण लगाई गई है, लेकिन मुझे लगता है कि ऐसा नहीं होना चाहिए क्योंकि क्रिकेटरों और प्रशंसकों को अच्छे मुकाबलों से वंचित रखा जा रहा है.’

भारत के खिलाफ टेस्ट कप्तानी का नहीं मिला मौका
मिस्बाह उल हक को इस बात का भी मलाल है कि उन्हें भारत के खिलाफ कभी पाकिस्तान की टेस्ट में अगुवाई करने का मौका नहीं मिला है. उन्होंने यह भी कहा कि वह इस पर विश्वास नहीं करते कि भारतीय टीम पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलना चाहती है. मिस्बाह की मानें तो पाकिस्तान की तरह ही भारतीय टीम भी पाकिस्तान से खेलना चाहती है. बस राजनीति इसके आड़े आ जाती है.

उन्होंने कहा, ‘हमारी तरह वे भी कुछ नहीं कर सकते क्योंकि अन्य मसले इसमें शामिल हैं. मुझे पूरा विश्वास है कि जब राजनीतिक तौर पर चीजों में सुधार होगा तो पाकिस्तान और भारत के बीच क्रिकेट भी होगी.’


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement