NDTV Khabar

भारतीय महिला क्रिकेट की 'सचिन तेंदुलकर', जिसने पाकिस्तान के मिस्बाह सहित कई पुरुष क्रिकेटरों को पीछे छोड़ा...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारतीय महिला क्रिकेट की 'सचिन तेंदुलकर', जिसने पाकिस्तान के मिस्बाह सहित कई पुरुष क्रिकेटरों को पीछे छोड़ा...

मिताली राज 1999 से भारतीय महिला क्रिकेट टीम का हिस्सा हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मिताली राज ने द. अफ्रीका के पूर्व कप्तान क्रोन्ये को भी पछाड़ा है
  2. मिताली के नाम वनडे क्रिकेट में 5 शतक, 40 फिफ्टी दर्ज हैं
  3. वह चार्लोट के बाद 5 हजार रन बनाने वाली दूसरी महिला क्रिकेटर हैं
नई दिल्ली:

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने हाल ही में पाकिस्तान को हराकर एशिया कप जीता है. इसमें लगभग 17 सालों से टीम इंडिया को सेवाएं दे रही महिला क्रिकेट का अहम रोल रहा, वह टीम की कप्तान भी रह चुकी है. हालांकि पुरुष खिलाड़ियों की उपलब्धियों के बीच उनकी चर्चा कोई नहीं करता, जबकि उन्होंने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं और वर्ल्ड लेवल पर कई पुरुष खिलाड़ियों को भी रिकॉर्ड के मामले में पीछे छोड़ दिया है. यहां तक कि पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक को भी उन्होंने वनडे और टी-20 क्रिकेट में पछाड़ा है. तभी तो उन्हें भारतीय महिला क्रिकेट टीम की 'सचिन तेंदुलकर' कहा जाता है. इस महिला क्रिकेटर का नाम है मिताली राज. हम आपको मिताली की उपलब्धियों से रूबरू कराने जा रहे हैं, जो कहीं से भी पुरुष खिलाड़ियों से कमतर नहीं हैं. साथ ही जानते हैं कि कौन-से पुरुष क्रिकेटर उनसे पीछे रह गए...

जोधपुर की रहने वाली भारतीय महिला क्रिकेट की इस स्टार ने 1999 में वनडे क्रिकेट में कदम रखा था, जबकि उन्होंने पहला टेस्ट 2002 में, तो अंतिम टेस्ट 2014 में खेला था. फिलहाल वह वनडे और टी-20 क्रिकेट में जलवा दिखा रही हैं. एशिया कप टी-20, 2016 में वह 'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट' रहीं और फाइनल में उन्हें 'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट' खिताब मिला. मिताली ने एशियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ग्राउंड पर खेले गए फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ नाबाद 73 रन बनाए थे. इस मैच में भारत ने पाकिस्तान को 17 रनों से मात देकर खिताबी जीत हासिल की थी. पूरे टूर्नामेंट में मिताली राज ने 220 रन बनाए. आईसीसी की टी-20 महिला बल्लेबाजों की रैंकिंग में वह इस समय पांचवे स्थान पर हैं.


मिस्बाह वनडे और टी-20 दोनों में पिछड़े
वनडे क्रिकेट में मिताली राज ने 5407 रन बनाए हैं, जो 5000 का आंकड़ा पार करने वाली इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स के बाद दूसरी महिला क्रिकेटर हैं. उन्होंने 167 मैचों में 49.60 के औसत से 5 शतक और 40 फिफ्टी के साथ यह रन बनाए हैं, जो पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक (Misbah-ul-haq) के वनडे रिकॉर्ड से बेहतर है. मिस्बाह के बल्ले से 162 वनडे में 5122 रन निकले, जिसमें 42 फिफ्टी लगाईं और वह कोई भी शतक नहीं लगा पाए, जबकि मिताली के नाम वनडे में 5 शतक हैं. उन्होंने टी-20 में भी कमाल किया और 39 मैचों में 788 रन ठोके, जबकि मिताली ने 63 टी-20 में 1708 रन जड़े हैं, जिनमें 10 फिफ्टी हैं, जबकि मिस्बाह केवल 3 फिफ्टी ही बना पाए.

तमीम इकबाल vs मिताली
बांग्लादेश के स्टार बल्लेबाज तमीम इकबाल भी भारतीय महिला स्टार मिताली से पीछे हैं. उनके नाम 159 वनडे में 5007 रन हैं और उनका औसत 32.30 रहा है. मिताली ने उन्हें वनडे में रन और औसत दोनों ही मामलों में पीछे छोड़ा है. उन्होंने 52 टी-20 में 1154 रन जोड़े हैं और उनका औसत 24.55 रहा है, जबकि मिताली का टी-20 में औसत 37.95 का है. हां शतक के मामले में जरूर तमीम ने मिताली को मात दी है. उनके नाम वनडे में 7 शतक हैं, जबकि मिताली 5 शतक ही लगा पाई हैं.

 
मिताली का टी-20 में भी बेहतर रिकॉर्ड है, उन्होंने इसमें 10 फिफ्टी लगाई हैं (फाइल फोटो)

दक्षिण अफ्रीका के महान हैंसी क्रोन्ये को भी पछाड़ा
मिताली ने दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट को नई ऊंचाई तक ले जाने वाले हैंसी क्रोन्ये को भी रन के मामले में मात दी है. मिताली राज से तुलना किए जाने पर क्रोन्ये रन और औसत दोनों में पीछे नजर आते हैं. क्रोन्ये ने 188 वनडे खेले, जिनमें 5565 रन ठोके और उनका औसत 38.64 रहा, जो मिताली से कम है. वह शतक में भी पीछे हैं. अपनी कप्तानी में दक्षिण अफ्रीका को 27 टेस्ट जिताने वाले क्रोन्ये ने 138 वनडे में से 99 में जीत हासिल की थी.

टिप्पणियां

एंड्रयू स्ट्रॉस, इयोन मॉर्गन, मो. अशरफुल भी नहीं टिकते
क्रोन्ये ही नहीं इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एंड्रयू स्ट्रास, इंग्लैंड के वर्तमान क्रिकेटर इयोन मॉर्गन और बांग्लादेश के मो. अशरफुल भी मिताली से हर मामले में कमतर हैं. स्ट्रॉस ने 127 वनडे में 4205 रन बनाए थे और उनका औसत 35.63 रहा, जबकि मॉर्गन ने 170 वनडे में 5020 रन बनाए हैं और उनका औसत मिताली से कम 37.18 है. मैच फिक्सिंग के चलते बैन झेलने वाले बांग्लादेश के मो. अशरफुल ने 176 वनडे खेले हैं और उनके बल्ले से 22.23 के औसत से 3468 रन निकले हैं.

इस प्रकार महिला क्रिकेट के लिहाज से देखें तो मिताली का टीम इंडिया में रोल कहीं से भी पुरुष टीम के महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से कम नहीं है. 1999 में अपने पहले ही अंतर्राष्ट्रीय मैच में नाबाद 114 रन बनाने वाली मिताली ने इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच में  214 रन की पारी खेली थी, जो एक समय महिला क्रिकेट का सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड था.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement