NDTV Khabar

इंग्‍लैंड-पाक सीरीज के पहले 'प्रेशर गेम', पीटरसन, स्‍वान बोले-आमिर दूसरे चांस के हकदार नहीं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इंग्‍लैंड-पाक सीरीज के पहले 'प्रेशर गेम',  पीटरसन, स्‍वान बोले-आमिर दूसरे चांस के हकदार नहीं

मोहम्‍मद आमिर पर स्‍पॉट फिक्सिंग मामले में लगातार निशाना साधा जा रहा है।

खास बातें

  1. दोनों देशों के बीच पहले टेस्‍ट के मौके पर ही सामने आये हैं ये बयान
  2. बयान को इंग्‍लैंड की पाक टीम-आमिर पर दबाव की रणनीति माना जा रहा
  3. स्‍पॉट फिक्सिंग मामले में बैन झेल चुके हैं तेज गेंदबाज मोहम्‍मद आमिर
लंदन: इंग्‍लैंड और पाकिस्‍तान के बीच टेस्‍ट सीरीज के पहले 'प्रेशर गेम' शुरू हो गया है। इंग्‍लैंड के दो पूर्व क्रिकेटरों ने स्‍पॉट फिक्सिंग मामले में पांच साल का बैन झेल चुके पाकिस्‍तान के बॉलर मोहम्‍मद आमिर पर निशाना साधा है। केविन पीटरसन और ग्रीम स्वान का मानना है कि पाकिस्तानी तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर को 2010 में पाकिस्तान के इंग्लैंड दौरे के दौरान स्‍पॉट फिक्सिंग का दोषी पाये जाने के बाद दूसरा मौका नहीं दिया जाना चाहिए था। दोनों देशों के बीच पहले टेस्‍ट मैच के ठीक पहले आए इन बयानों को इंग्‍लैंड की पाकिस्‍तान और खासतौर पर मोहम्‍मद आमिर पर दबाव बनाने की रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है।

टिप्पणियां
दोनों देशों के बीच पहला टेस्‍ट मैच गुरुवार से खेला जाना है और आमिर इस समय पाकिस्‍तान के स्‍ट्राइक बॉलर हैं। दूसरे शब्‍दों में कहें तो सीरीज में पाकिस्‍तान के प्रदर्शन का काफी कुछ दारोमदार बाएं हाथ के तेज गेंदबाज आमिर पर ही होगा । पीटरसन ने ‘द टेलीग्राफ’ में अपने कालम में लिखा है, 'लोग जिंदगी में हमेशा दूसरे मौके के हकदार होते हैं लेकिन खेलों में यह हटकर है। हमें उस खेल को खेलने के लिये पैसा मिलता है जिसे हम चाहते हैं। ड्रग्स लेकर फायदा उठाने की कोशिश करना या रिश्वत लेकर अपने खेल का बदनाम करने वाले की वापसी नहीं हो सकती है। '

इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर स्वान ने कहा कि आमिर की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी से वह दुखी हैं। स्वान ने 'द सन' में अपने कालम में लिखा है, 'मोहम्मद आमिर गुरुवार को लार्डस के हरे और गौरवशाली मैदान पर खेलने के लिये उतरेगा और इससे मैं आहत महसूस करूंगा। यह वही व्यक्ति है जिसने खेल की नैतिकता को मटियामेट किया था। और फिर भी उसे क्रिकेट के मक्का पर खेलने की अनुमति दी जा रही है। आमिर पर 2010 के भ्रष्टाचार के लिये आजीवन प्रतिबंध लगना चाहिए था।'  गौरतलब है कि केविन पीटरसन और स्‍वान से पहले इंग्‍लैंड टेस्‍ट टीम के कप्‍तान एलिस्‍टर कुक भी आमिर के बारे में कुछ इसी तरह की राय जाहिर कर चुके हैं।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement