INDvsNZ : आखिर एमएस धोनी से क्यों डर रहे थे केन विलियम्सन, उनके कैच को बताया टर्निंग पॉइंट

INDvsNZ : आखिर एमएस धोनी से क्यों डर रहे थे केन विलियम्सन, उनके कैच को बताया टर्निंग पॉइंट

दिल्ली वनडे में टीम इंडिया के कप्तान एमएस धोनी ने 39 रन बनाए (फाइल फोटो)

खास बातें

  • टीम इंडिया नजदीकी मुकाबले में 6 रन से हार गई
  • भारत की ओर से केदार जाधव ने बनाए सर्वाधिक 41 रन
  • वऩडे सीरीज में दोनों टीमें एक-एक से बराबरी पर हैं
नई दिल्ली:

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने भारत के खिलाफ दिल्ली में वनडे में मिली जीत को अहम करार देते हुए टीम के लिए प्रेरक बताया है. उन्होंने कीवी टीम की जीत में टीम इंडिया के एक खिलाड़ी के रिटर्न कैच को अहम करार दिया. गौरतलब है कि अंतिम ओवर तक चले सीरीज के दूसरे मैच का फैसला अंतिम ओवर में हुआ, जब टीम इंडिया 10 रन नहीं बना पाई और मैच 6 रन से हार गई. इस मैच में कीवी टीम ने जबर्दस्त गेंदबाजी की और टीम इंडिया के बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया.

दिल्ली वनडे में 243 रन के लक्ष्य का पीछा करने में टीम इंडिया की ओर से केदार जाधव, एमएस धोनी और हार्दिक पांड्या ने अहम पारी खेली. केदार जाधव ने जहां तेजी से 37 गेंदों में 41 रन ठोके, वहीं कप्तान ने सधी हुई बल्लेबाजी करते हुए मैच फिनिश करने की ओर कदम बढ़ाया, लेकिन 40वें ओवर में टिम साउदी ने 39 रन पर महेंद्र सिंह धोनी का रिटर्न कैच पकड़कर मैच अपनी तरफ मोड़ दिया.
 

कप्तान धोनी ने केदार जाधव के साथ 66 रन जोड़े. (फोटो : BCCI)

दरअसल केदार जाधव ने ज्यादा तेजी से रन बनाए, लेकिन विलियम्सन को चिंता एमएस धोनी के टिकने को लेकर थी. हो भी क्यों न उनकी मैच फिनिश करने की क्षमता से तो हर कोई परिचित है और धोनी मैच को धीरे-धीरे अंतिम ओवरों तक ले जाकर कुछ ऐसा ही करने की सोच रहे थे, लेकिन साउदी की गेंद पर सीधा शॉट खेलते समय वह गेंद को जमीन पर नहीं रख पाए और वह सीधे साउदी के ही हाथों में समा गई. इसके बाद तो कीवी टीम ने मैच पर पकड़ बना ली.
Newsbeep

मैच के बाद जब विलियम्सन से पूछा गया कि उनके गेंदबाजों और क्षेत्ररक्षकों ने इतने कम स्कोर का बचाव करने में कैसे मदद की, तो उन्होंने कहा, ‘महेंद्र सिंह धोनी जैसे खिलाड़ी मैच फिनिशर हैं, अगर उन्हें उनके शॉट खेलने दिए जाएं, तो वे सर्वश्रेष्ठ हैं. वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं. उसका कैच हमारे लिए काफी बड़ा रहा.’
 

केन विलियम्सन ने 118 रन की शानदार पारी खेली, जो उनकी टीम के लिए अहम साबित हुई (फाइल फोटो)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


विलियम्सन इस पिच पर अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन से काफी खुश थे, उन्होंने कहा, ‘कोटला की इस तरह की पिच पर आपको बल्लेबाजों पर दबाव बनाने के लिये कुछ विशेष क्षेत्रों में गेंदबाजी करनी होती है. ओस के कारण गेंद गीली थी, इसे देखते हुए उनका प्रयास काफी अच्छा था.’
(एजेंसी इनपुट के साथ)