Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Ranji Trophy: कर्नाटक 13 साल बाद फाइनल में पहुंचा बंगाल, गुजरात के सामने मुश्किल चुनौती

बंगाल ने कर्नाटक के सामने चौथी पारी में 352 रनों का लक्ष्य रखा था, जवाब में कर्नाटक मैच के चौथे दिन मंगलवार को 177 रनों पर ढेर हो गया. मैच में बंगाल के ल‍िए तेज गेंदबाज इशान पोरेल ने शानदार प्रदर्शन क‍िया. पहली पारी में पांच व‍िकेट लेने वाले इस छरहरे गेंदबाज ने दूसरी पारी में भी दो व‍िकेट हास‍िल क‍िए. बंगाल की टीम ने 13 साल बाद रणजी ट्रॉफी के फाइनल में जगह बनाई है.

Ranji Trophy: कर्नाटक 13 साल बाद फाइनल में पहुंचा बंगाल, गुजरात के सामने मुश्किल चुनौती

रणजी ट्रॉफी के फाइनल में बंगाल ने कर्नाटक को 174 रनों से हराया (फोटो: PTI)

खास बातें

  • दूसरी पारी में 177 रन पर स‍िमटा कर्नाटक
  • मुकेश कुमार ने छह व‍िकेट हास‍िल क‍िए
  • अनुस्‍तुप मजूमदार रहे मैन ऑफ द मैच
कोलकाता/राजकोट:

Ranji Trophy: बंगाल ने शानदार प्रदर्शन करते हुए रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) के फाइनल में स्‍थान बना ल‍िया है. ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले गए सेमीफाइनल मैच में उसने कर्नाटक को (Bengal vs Karnataka) 174 रनों से हराया. बंगाल ने कर्नाटक के सामने चौथी पारी में 352 रनों का लक्ष्य रखा था, जवाब में कर्नाटक मैच के चौथे दिन मंगलवार को 177 रनों पर ढेर हो गया. मैच में बंगाल के ल‍िए तेज गेंदबाज इशान पोरेल ने शानदार प्रदर्शन क‍िया. पहली पारी में पांच व‍िकेट लेने वाले इस छरहरे गेंदबाज ने दूसरी पारी में भी दो व‍िकेट हास‍िल क‍िए. बंगाल की टीम ने 13 साल बाद रणजी ट्रॉफी के फाइनल में जगह बनाई है. पहली पारी में शतक जमाने वाले बंगाल के बल्‍लेबाज अनुस्‍तुप मजूमदार मैन ऑफ द मैच रहे. वहीं, राजकोट में खेले जा रहे दूसरे सेमीफाइनल में गुजरात के सामने फाइनल में जगह बनाने के लिए एक मुश्किल चुनौती है और सौराष्ट्र ने आखिरी दिन उसके सामने जीत के लिए चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा है. 

अरुण लाल बोले, इशान पोरेल राष्‍ट्रीय टीम के ल‍िए तैयार, व‍िराट कोहली को भी कर सकते हैं परेशान

कर्नाटक ने दिन की शुरुआत तीन विकेट के नुकसान पर 98 रनों के साथ की. देवदत्‍त पड्डीकल और मनीष पांडे पर टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी थी लेकिन मुकेश कुमार ने इन दोनों को पवेलियन भेज कर्नाटक की उम्मीदों को धराशायी कर द‍िया. मुकेश ने पहले पांडे को 99 के कुल स्कोर पर विकेटकीपर श्रीवत्स गोस्वामी के हाथों कैच कराया. उन्होंने 12 रन बनाए. इसके बाद 118 रनों के कुल स्कोर पर देवदत्‍त भी मुकेश और गोस्वामी की जोड़ी द्वारा पवेलियन भेज दिए गए. देवदूत ने 129 गेंदों की पारी में 62 रन बनाए जिसमें सात चौके शामिल रहे. कृष्णप्पा गौतम और अभिमन्यु मिथुन ने अंत में रन तो बनाए लेकिन तब तक देर हो चुकी और दूसरे छोर से उनका साथ देने कोई नहीं था. गौतम ने 22 और मिथुन ने 38 रनों का योगदान दिया. आकाशदीप ने मिथुन को आउट कर कर्नाटक की पारी का अंत किया.

बंगाल के ल‍िए मुकेश कुमार ने दूसरी पारी में 61 रन देकर छह व‍िकेट हास‍िल क‍िए. मुकेश ने छह विकेट लिए. ईशान पोरेल और आकाश के हिस्से दो-दो विकेट आए. बंगाल ने पहली पारी में 312 रन बनाए थे और कर्नाटक को पहली पारी में 122 रनों पर समेट दूसरी पारी में 190 रनों की बढ़त के साथ उतरी थी. अपनी दूसरी पारी में बंगाल की टीम हालांकि 161 रनों पर ढेर हो गई थी.

संक्ष‍िप्‍त स्‍कोर: बंगाल 312 और 161 रन, कर्नाटक 122 और 177 रन (देवदत्‍त 62 रन, मुकेश कुमार 6/61)

गुजरात के सामने मुश्किल चुनौती
राजकोट: सौराष्ट्र ने रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल में गुजरात के सामने 327 रनों का लक्ष्य रखा है, जिसके जवाब में गुजरात ने चौथे दिन मंगलवार का खेल खत्म होने तक सात रन बना लिए हैं, लेकिन प्रियंक पांचाल के रूप में एक बड़ा विकेट भी खो दिया. दूसरे सलामी बल्लेबाज समित गोहेल पांच और भार्गव मेरई एक रन बनाकर खेल रहे हैं. पांचाल को जयदेव उनादकट ने बिना खाता खोले पवेलियन भेजा.

सौराष्ट्र ने दिन की शुरुआत पांच विकेट के नुकसान पर 66 रनों के साथ की थी. लगा था कि वह जल्दी ऑल आउट हो जाएगी, लेकिन अर्पित वासवाडा और चिराग जानी ने टीम को दूसरी पारी में 274 रनों तक पहुंचाया. अर्पित ने 230 गेंदों पर 16 चौके और एक छक्के की मदद से 139 रनों की पारी खेली. वहीं चिराग ने 143 गेंदों पर छह चौके और एक छक्का लगा 51 रन बनाए. इन दोनों ने सातवें विकेट के लिए 109 रनों की साझेदारी की. चिराग के साथ साझेदारी से पहले अर्पित ने चेतन सकारिया के साथ भी 90 रनों की साझेदारी की. यह दोनों ही तीसरे दिन टीम को 15/5 के स्कोर से 66 तक ले गए थे और फिर चौथे दिन 100 का आंकड़ा पार कराया था. चेतन पांच रनों से अर्धशतक से चूक गए. उन्होंने 118 गेंदों पर छह चौकों की मदद से 45 रन बनाए. चेतन रन आउट हुए. चिराग का विकेट 207 के कुल स्कोर पर गिरा. चिराग के बाद प्रेरक मांकड एक रन बनाकर आउट हो गए. अर्पित हालांकि खड़े रहे और अब फिर उन्हें धर्मेदसिन्हा का साथ मिला जिन्होंने 21 रन बनाए. 263 पर जडेजा आउट हुए तो अर्पित 274 रनों पर आउट हो गए और इसी के साथ टीम की पारी समाप्त हो गई. गुजरात के लिए चिंतन गाजा ने सात जबकि अर्जन नागवास्वल्ला ने दो विकेट लिए.
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)