NDTV Khabar

DRS का सही इस्तेमाल करने में क्यों ऑस्ट्रेलिया से पिछड़ रहा है भारत, विराट कोहली ने खोला राज़

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
DRS का सही इस्तेमाल करने में क्यों ऑस्ट्रेलिया से पिछड़ रहा है भारत, विराट कोहली ने खोला राज़

विराट कोहली अब भी डीआरएस को समझने की कोशिश में लगे हैं...

खास बातें

  1. भारत ने इंग्लैंड सीरीज़ से यूडीआरएस के इस्तेमाल पर मंज़ूरी लगाई थी
  2. लंबे समय तक बीसीसीआई ने यूडीआरएस से मुंह मोड़ रखा था
  3. ऑस्ट्रेलियाई टीम नई तकनीक का सही इस्तेमाल कर रही है
नई दिल्ली: भारत ने इंग्लैंड सीरीज़ से अंपायर डिसीजन रिव्यू सिस्टम (यूडीआरएस) के इस्तेमाल पर मंज़ूरी लगाई. इससे पहले लंबे समय तक बीसीसीआई ने यूडीआरएस से मुंह मोड़ रखा था. भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ में ही विराट कोहली की टीम डीआरएस का सही तरीके से इस्तेमाल करने से चूकती दिखी. आख़िरी क्या वजह है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम नई तकनीक का सही इस्तेमाल कर रही है और विराट कोहली अब भी इस को समझने की कोशिश में लगे हैं.
 
बेंगलुरू टेस्ट में जीत के बाद इस राज़ का ख़ुलासा हुआ. टेस्ट के चौथे दिन स्टीवन स्मिथ के आउट होने के बाद विराट और स्मिथ उलझते दिखे, अंपायर ने बीच बचाव किया और मैच जारी रहा. मैच के बाद विराट ने बताया कि डीआरएस लेने के लिए स्मिथ ड्रेसिंग रूम में बैठे सपोर्ट स्टॉफ़ से इशारों में पूछ रहे थे कि डीआरएस लेना है कि नहीं.

विराट ने कहा, 'जब वो मुड़े तो अंपायर को समझ में आ गया कि क्या चल रहा है. हमने भी इस बात को पहले नोटिस किया था और मैच रेफ़री और अंपायर को इसकी जानकारी दी थी. ऑस्ट्रेलियाई टीम पिछले तीन दिनों से ये कर रही है और उन्हें रोकना ज़रूरी था. स्लेजिंग और विरोधियों के ख़िलाफ़ खेलना अलग है लेकिन क्रिकेट के मैदान के भीतर एक लाइन होती है जो आप पार नहीं कर सकते. मैं यहां उस शब्द का इस्तेमाल नहीं करुगां लेकिन ये वही है. मैं क्रिकेट के मैदान में ऐसा नहीं कर सकता.'

इसके बाद एक रिपोर्टर ने चीटिंग शब्द का इस्तेमाल किया तो विराट ने तुरंत जवाब दिया, 'ये मैं नहीं आप कर रहे हैं.' कोहली के मुताबिक पहले भी उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों को ऐसा करते देखा था. 'जब मैं बल्लेबाज़ी कर रहा था तब मैंने दो बार ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को ऐसा करते देखा. मैंने अंपायरों को कहा और इसी वजह से अंपायर स्मिथ के आउट होने के बाद उनके पीछे खड़े रहे.'

स्मिथ ने मैच के बाद अपनी ग़लती मानी लेकिन दबी ज़ुबान में और कहा कि वो ब्रेन फ़ेड का शिकार हो गए. 'गेंद पैड पर लगी और मैंने पीटर की तरफ़ देखा तो उसने कहा दूसरी तरफ़ देखो. जब मैं मुड़ा तो ब्रेन फ़ेड हो गया. मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था. मैं लड़कों की तरफ़ देख रहा था, मुझे ऐसा नहीं करना चाहिए था.'

टिप्पणियां
कोहली ने स्मिथ की सफ़ाई को क़बूल नहीं किया. 'ईमानदारी से कहूं तो अगर कोई बल्लेबाज़ी करते हुए ग़लती करता है तो मेरे लिए ब्रेन फ़ेड होगा. जैसा पुणे टेस्ट में मेरे साथ हुआ और मैं बोल्ड हो गया लेकिन जो तीन दिन से चल रहा हो उसे ब्रेन फ़ेड नहीं कहेंगे.'

स्मिथ ने कोहली के साथ हुई स्लेजिंग पर चुप्पी नहीं तोड़ी और कहा, 'मैं और विराट बस बातें कर रहे थे. इसमें ज़्यादा कुछ देखने की ज़रूरत नहीं है. हम मज़ा कर रहे थे और दोस्ताना लड़ाई कही जा सकती है जो क्रिकेट में होता है.'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement