दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली करारी हार के बाद कप्तान विलियम्सन को आई इसकी याद...

दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली करारी हार के बाद कप्तान विलियम्सन को आई इसकी याद...

कप्तान केन विलियम्सन खुद भी इस मैच में कमाल नहीं दिखा पाए (फाइल फोटो)

वेलिंगटन:

दक्षिण अफ्रीका की टीम इस समय न्यूजीलैंड के दौरे पर है. पहला मैच ड्रॉ रहने के बाद शनिवार को दूसरे मैच में प्रोटियाज ने कीवियों को हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली. आठ विकेट से मिली करारी हार के बाद न्यूजीलैंड टीम के कप्तान केन विलियमसन ने हार के कारणों पर चर्चा की और अपनी टीम की कुछ कमियों की ओर इशारा किया. इस बीच उन्हें एक ऐसी कमी भी याद आई जिसके लिए एशियाई महाद्वीप से बाहर की टीमें मशहूर हैं. ठीक उसी तरह से जैसे एशियाई महाद्वीप की टीमें विदेशी मैदानों पर संघर्ष करती नजर आती हैं, लेकिन विलियम्सन ने अपनी ही धरती पर इस कमी की चर्चा करके सबको चौंका दिया..

वास्तव में केन विलियम्सन की कप्तानी वाली न्यूजीलैंड टीम ने दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर के सामने समर्पण कर दिया. अब कप्तान विलियम्सन का मानना है कि उनकी टीम को स्पिन को बेहतर तरीके से खेलना सीखना होगा. न्यूजीलैंड की पिचें तेज गेंदबाजों की मददगार होती हैं. ऐसे में एक स्पिनर का चमकना वास्तव में चौंकाने वाला रहा. दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर केशव महाराज ने दूसरी पारी में छह विकेट लेकर न्यूजीलैंड की हार तय कर दी. न्होंने इस टेस्ट मैच में कुल आठ विकेट लिए. कप्तान का बयान केशव के खिलाफ टीम के पूरी तरह से ढेर हो जाने के बाद आया है. उ

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने विलियम्सन के हवाले से लिखा, 'मैच काफी जल्दी हमारे हाथ से निकल गया, खासकर आज (शनिवार), हालांकि कल भी आखिरी समय में हम बैकफुट पर पहुंच गए थे.'

विलियम्सन ने यह भी स्वीकार किया कि इन विकेटों पर स्पिन के लिए कोई मदद नहीं होती, फिर भी उनकी टीम के बल्लेबाजों ने बेहतर खेल नहीं दिखाया. इसी से टीम को नुकसान हुआ और विरोधी स्पिनर ने इसका फायदा उठा लिया.

मैच के बाद कप्तान ने कहा, 'आप यहां बेसिन में ज्यादा स्पिन की उम्मीद नहीं करते हैं. यहां विकेट पर घास होती है और गेंद को स्विंग मिलती है. स्पिनरों का यहां आमतौर पर काम एक छोर पर बल्लेबाजों को रोकना होता है, आप उन्हें 12 विकेट दे देते हैं तो यह निराशाजनक है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा, "इसका श्रेय उनका जाता है. उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की. लेकिन ऐसे विकेट पर जहां तेज गेंदबाजों को मदद हो खासकर पहली पारी में जहां विकेट से स्पिन नहीं मिल रही हो तब इस तरह विकेट खो देना निराशाजनक है. हमें इस पर काम करने की जरूरत है."

उन्होंने कहा, "हमने ऐसा दौर भारत में भी देखा है. लेकिन हमने वहां इससे बेहतर प्रदर्शन किया था. हमें स्पिन को और बेहतर तरीके से खेलना सीखना होगा."
(इनपुट भाषा से भी)