बीसीसीआई में नये प्रशासकों का भरोसा सीईओ राहुल जौहरी पर, पहली बैठक में जताये इरादे

बीसीसीआई में नये प्रशासकों का भरोसा सीईओ राहुल जौहरी पर, पहली बैठक में जताये इरादे

BCCI को चलाने के लिये बने नये प्रशासनिक पैनल के अध्‍यक्ष विनोद राय (फाइल फोटो)

मुंबई:

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को चलाने के लिये नये प्रशासनिक पैनल की मुंबई में मंगलवार को पहली बैठक हुई. इस पैनल का गठन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हुआ है. बैठक की अध्यक्षता पूर्व सीएजी विनोद राय ने की. बैठक में पूर्व महिला क्रिकेटर डायना इडुलजी और विक्रम लिमये मौजूद थे, लेकिन निजी वजहों से इतिहासकार रामचंद्र गुहा बैठक में शामिल नहीं हो पाए. बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी के साथ बोर्ड को चलाने वाले प्रशासनिक पैनल की पहली मुलाकात हुई और कैमरे के सामने इसे औपचारिकता बताया गया. विनोद राय ने कहा, 'ये एक दूसरे को जानने के लिये एक तरह की औपचारिक बैठक थी, साथ ही हम बीसीसीआई की कार्यप्रणाली को भी समझना चाहते थे. जल्द ही हम आगे काम-काज की रूपरेखा तय करेंगे.'

हालांकि सूत्रों के मुताबिक बंद कमरे में बोर्ड के दो पदाधिकारियों की गुहार आई, सीईओ को बाहर करो, लेकिन इस गुजारिश को ठुकरा दिया गया. असर दिल्ली में भी दिखा, जहां बांग्लादेश के लिये चयन समिति की बैठक से संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया. पैनल ने साफ कर दिया कि वो जौहरी के जरिये ही सारी बातें करेंगे.

विनोद राय की अध्यक्षता में प्रशासकों के पैनल ने कामकाज संभाल लिया है, काम-काज की रूपरेखा दिल्ली में तय होगी, लेकिन इतना साफ है नये निजाम के आने तक बीसीसीआई में सालों से जमे पदाधिकारियों की दाल नहीं गलेगी. जुलाई 2016 में सुप्रीम कोर्ट ने लोढा पैनल की लगभग सारी सिफारिशों को मान लिया था. तीन सदस्यीय लोढा पैनल का गठन 2013 इंडियन प्रीमियर लीग में स्पॉट फिक्सिंग मामले के खुलासे के बाद हुआ था. इस साल जनवरी में सर्वोच्च अदालत ने बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को बाहर का रास्ता दिखा दिया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com