ललित मोदी के बेटे रुचिर का दावा - पिता की प्रॉक्सी नहीं हूं, आरसीए के लिए मेरे पास खुद का विज़न है

ललित मोदी के बेटे रुचिर का दावा - पिता की प्रॉक्सी नहीं हूं, आरसीए के लिए मेरे पास खुद का विज़न है

अनुभव के बारे में पूछे जाने पर रुचिर मोदी ने कहा, "मुझे शानदार अनुभव है... मैंने 200 से ज़्यादा क्रिकेट मैच सामने बैठकर देखे हैं..."

नई दिल्ली:

इंटरपोल से क्लीन चिट मिल जाने के बावजूद ललित मोदी भले ही फिलहाल देश से बाहर हैं, लेकिन भारतीय क्रिकेट जगत में उनका 22-वर्षीय बेटा रुचिर मोदी उनकी जगह ले सकता है.

ललित मोदी राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (आरसीए) के अध्यक्ष हुआ करते थे, लेकिन भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) ने उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया है, सो, अब अगले अध्यक्ष की दौड़ में रुचिर मोदी का नाम सबसे आगे चल रहा है.

ललित मोदी के परिवार की मिल्कियत सिगरेट कंपनी गॉडफ्रे फिलिप्स के निदेशक रुचिर ने पहली बार टीवी को इंटरव्यू देते हुए NDTV से कहा कि वह अपने पिता की जगह अस्थायी रूप से नहीं ले रहे हैं. उन्होंने कहा, "मैं खुद को अपने पिता की प्रॉक्सी हरगिज़ नहीं कहूंगा... राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के लिए मेरे पास अपना खुद का विज़न है..."

देखिए, रुचिर मोदी का पहला टीवी इंटरव्यू


लेकिन जब रुचिर मोदी से उनके अनुभव के विषय में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, "मुझे क्रिकेट में शानदार अनुभव है... मैंने अपने जीवन में 200 से ज़्यादा क्रिकेट मैचों को सामने बैठकर (स्टेडियम में) देखा है..."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बीसीसीआई ने आरसीए को इसलिए निलंबित कर रखा है, क्योंकि उसने ललित मोदी को अपना अध्यक्ष चुना था. लेकिन रुचिर मोदी राज्य एसोसिएशन के भविष्य के प्रति आशावान हैं. उन्होंने कहा, "लोढा समिति द्वारा सुझाए सुधार लागू हो चुके हैं... बीसीसीआई में अधिक पारदर्शिता आई है, और हमें उम्मीद है कि आरसीए को पूरी तरह क्लीन चिट मिल जाएगी..."

क्या वह अपने पिता ललित मोदी के लौटने तक उनकी जगह भर रहे हैं, यह जानने के इरादे से रुचिर से सवाल किया गया कि क्या ललित मोदी कभी भारत लौटेंगे, इस पर रुचिर का कहना था कि यह 'ओपन-एन्डेड' सवाल है, और फिलहाल वह इसका कोई जवाब नहीं दे सकते.