NDTV Khabar

भारतीय कप्तान विराट कोहली का टी-20 में भी खेलना तय नहीं

श्रीलंका के खिलाफ तीन टी-20 मैच 20, 22 और 24 दिसंबर को क्रमश: कटक, इंदौर और विशाखापत्तनम में खेले जाएंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारतीय कप्तान विराट कोहली का टी-20 में भी खेलना तय नहीं

भारतीय कप्तान विराट कोहली (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बीसीसीआई के अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर दी जानकारी.
  2. कहा-विराट ने चयनकर्ताओं से सोचने कुछ दिन का समय मांगा है.
  3. इसी वजह से नहीं हुई टी-20 टीम की घोषणा.
नागपुर:

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से आराम दिए जाने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली का टी-20 सीरीज में भी खेलना तय नहीं है. वह टीम प्रबंधन और चयन समिति से इस हफ्ते सलाह मशविरा करने के बाद अपने प्रतिनिधित्व पर फैसला करेंगे. चयन मामलों की जानकारी रखने वाले बीसीसीआई के एक अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर को बताया, विराट ने चयनकर्ताओं से कहा है कि उन्हें यह फैसला करने के लिए कुछ समय चाहिए कि वह टी-20 में खेलेंगे या नहीं. यही कारण है कि उन्होंने टी-20 टीम की घोषणा नहीं की है.

उन्होंने कहा,  '12 दिसंबर तक विराट की कुछ निजी प्रतिबद्धताएं हैं. इसके बाद वह आराम करना चाहेंगे या टी-20 खेलेंगे, यह पूरी रह से उनका फैसला होगा.' श्रीलंका के खिलाफ तीन टी-20 मैच 20, 22 और 24 दिसंबर को क्रमश: कटक, इंदौर और विशाखापत्तनम में खेले जाएंगे.


यह भी पढ़ें : IND vs SL: श्रीलंका के कप्‍तान दिनेश चंदीमल बोले, यहां आने से पहले हमने बनाई थी खास योजना, लेकिन...

राष्ट्रीय चयन समिति और मुख्य कोच रवि शास्त्री तथा कोहली की मौजूदगी वाला टीम प्रबंधन इस हफ्ते नई दिल्ली में दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट मैचों के लिए टीम के चयन के दौरान इस मुद्दे पर फैसला करेगा. यह भी पता चला है कि तैयारी के लिए समय की कमी को लेकर कोहली की चिंता के बाद फैसला किया जाएगा कि कुछ टेस्ट विशेषज्ञों को दक्षिण अफ्रीका के हालात से सामंजस्य बैठाने के लिए वहां जल्दी भेजा जा सकता है या नहीं.

टिप्पणियां

चयनसमिति की बैठक के दौरान दक्षिण अफ्रीका दौरे की तैयारी को लेकर विस्तृत चर्चा हो सकती है. तमिलनाडु और सौराष्ट्र के रणजी ट्रॉफी नॉकआउट में जगह नहीं बनाने से मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा जैसे टेस्ट विशेषज्ञों को दिल्ली में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच के बाद कोई और मैच खेलने को नहीं मिलेगा. अधिकारी ने कहा, कुछ लोगों का मानना है कि हमें कुछ 2010 के दक्षिण अफ्रीका दौरे की तरह करना चाहिए. जब कुछ बल्लेबाज बाकी खिलाड़ियों से 10 दिन पहले वहां चले गए थे और डरबन में गैरी कर्स्टन अकादमी में ट्रेनिंग की थी. भारत ने तब दक्षिण अफ्रीका में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए सीरीज 1-1 से बराबर की थी. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement