अब श्रीसंत बन चुके हैं कुछ ऐसे गेंदबाज, रणजी ट्रॉफी की तैयारियों में जुटे हैं, VIDEO

केरल एसोसिएशन ने पहले ही साफ कर दिया था कि श्रीसंत का रणजी ट्रॉफी में खेलना उनकी फिटनेस पर साबित करेगा. इसीलिए श्रीसंत इन दिनों अपनी फिटनेस के अलावा नेट पर जमकर पसीना बहा रहे हैं. सात साल बाद नेट पर  वापसी करते हुए एक बार को लगा नहीं कि श्रीसंत को क्रिकेट से दूर हुए इतना समय हो गया है. 

अब श्रीसंत बन चुके हैं कुछ ऐसे गेंदबाज, रणजी ट्रॉफी की तैयारियों में   जुटे हैं, VIDEO

Sreesanth की फाइल फोटो

खास बातें

  • केरल एसोसिएशन ने दी है रणजी टीम में जगह
  • जिम और नेट पर बहा रहे हैं जमकर पसीना
  • क्या श्री को मिल पाएगी पुरानी धार?
नई दिल्ली:

कोरोनाकाल में यह कहना मुश्किल है कि इस साल घरेलू सत्र का आयोजन हो भी पाएगा या नहीं, लेकिन साल 2013 में आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग में सलाखों के पीछे रहे तेज गेंदबाज श्रीसंत (#Sreesanth) अब पूरे दिल से रणजी ट्रॉफी (#RanjiTrophy) खेलने की तैयारियों में जुटे हैं. श्रीसंत (#Sreesanth) को पिछले दिनों ही केरल की रणजी ट्रॉफी टीम में वापसी की कोशिशों में जुटे थे. ध्यान दिला दें कि बीसीसीआई ने श्रीसंत को आजीवन प्रतिबंधित कर दिया था, लेकिन बाद में सबूतों के अभाव में सुप्रीम कोर्ट ने उनके आजीवन प्रतिबंध को सात साल के बैन में तब्दील कर दिया था. 

केरल एसोसिएशन ने पहले ही साफ कर दिया था कि श्रीसंत का रणजी ट्रॉफी में खेलना उनकी फिटनेस पर साबित करेगा. इसीलिए श्रीसंत इन दिनों अपनी फिटनेस के अलावा नेट पर जमकर पसीना बहा रहे हैं. सात साल बाद नेट पर  वापसी करते हुए एक बार को लगा नहीं कि श्रीसंत को क्रिकेट से दूर हुए इतना समय हो गया है. 

शायद इसके पीछे वजह यह रही कि क्रिकेट से दूर रहने के दौरान श्रीसंत ने फिटनेस पर जमकर काम किया. हालांकि, दूसरे वीडियो में श्रीसंत थोड़े वजनी दिखाई पड़ रहे हैं, लेकिन उनके पास खुद को शेप में लाने के लिए अच्छा खासा समय है. और जैसे दौर से श्रीसंत गुजरे हैं, निश्चित ही उसने इस तेज गेंदबाज को मानसिक रूप से और ज्यादा मजबूत बनाया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ऐसे में में सभी की निगाहें इस पर लगी होंगी कि रणजी ट्रॉफी से पहले स्थानीय लीग में कैसा प्रदर्शन करते हैं. जाहिर है कि श्रीसंत को रणजी मैचों से अपनी गेंदों में ठीक पुराने दिनों जैसी ही धार देनी होगी. कारण यह है कि अगर वह रणजी ट्रॉफी मैचों में बेहतर नहीं कर पाते हैं, तो फिर केरल एसोसिएशन एक युवा की कीमत पर उन्हें ज्यादा मैच नहीं दे पाएगी. खैर देखते हैं कि जिम और नेट पर जमकर पसीना बहा रहे श्री की गेंदों में पुरानी धार कब लौटती है.

VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने अपने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.