NDTV Khabar

कोच बनने के बाद बोले रवि शास्त्री - असली विराट कोहली तो अब देखने को मिलेगा

नव नियुक्त कोच रवि शास्त्री ने बुधवार को कहा कि वर्तमान भारतीय क्रिकेट टीम अपने मजबूत तेज गेंदबाजी आक्रमण के दम पर आगामी वर्षों में देश की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम बन सकती है.

463 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कोच बनने के बाद बोले रवि शास्त्री - असली विराट कोहली तो अब देखने को मिलेगा

शास्त्री ने कहा - मुझे हमेशा चुनौती पसंद है और मैं भारतीय टीम के साथ काम करने के लिये तैयार हूं.

खास बातें

  1. शास्त्री ने कहा कि वह भारत को कोचिंग देने की चुनौती के लिए तैयार हैं
  2. शास्त्री ने कहा - भारतीय क्रिकेट सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम बन सकती है
  3. शास्त्री को कल दिन भरे चले एक लंबे ड्रामे के बाद कोच नियुक्त किया गया था
नई दिल्ली: नव नियुक्त कोच रवि शास्त्री ने बुधवार को कहा कि वर्तमान भारतीय क्रिकेट टीम अपने मजबूत तेज गेंदबाजी आक्रमण के दम पर आगामी वर्षों में देश की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम बन सकती है. शास्त्री को कल दिनभर चले लंबे ड्रामे के बाद कोच नियुक्त किया गया था. वह अनिल कुंबले की जगह लेंगे जिन्होंने पिछले महीने ही कोहली से मनमुटाव के कारण अपने पद से इस्तीफा दिया था. 'चपाती शॉट' के लिए मशहूर रहे रवि शास्त्री भारतीय क्रिकेट के भविष्य को लेकर काफी उत्साहित है. 
ज़हीर ख़ान को गेंदबाज़ी कोच और राहुल द्रविड़ को विदेशी दौरे के लिए बैटिंग कंसल्टेंट नियुक्त किया गया है. सवाल उठ रहे हैं क्या रवि शास्त्री को 'काबू' में रखने के लिए हुई है राहुल द्रविड़, ज़हीर खान की नियुक्ति की गई है.

उन्होंने लंदन से मीडिया से कहा, "यह अब तक हमारी सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम बन सकती है. यह ऐसी टीम है जिसके साथ आप किसी भी देश का दौरा कर सकते हो. टीम में कई अच्छे तेज गेंदबाज हैं जो हर तरह की परिस्थितयों में अच्छा प्रदर्शन करके 20 विकेट ले सकते हैं. उनकी उम्र ऐसी है कि वे सही समय पर खेल रहे हैं." शास्त्री ने कहा कि कप्तान कोहली को अभी अपने चरम पर पहुंचना है और अगले कुछ वर्षों में सही मायनों में असली कोहली देखने को मिलेगा.

उन्होंने कहा, "कोहली चैंपियन क्रिकेटर है और वह अभी अपने चरम पर नहीं पहुंचा है. अगले पांच या छह वर्षों में असली विराट कोहली देखने को मिलेगा." महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह जैसे क्रिकेटरों के भविष्य पर शास्त्री ने कहा, "विश्व कप 2019 में अभी काफी समय है. ये दोनों ही चैंपियन क्रिकेटर हैं. समय आने पर हम इससे निबट लेंगे. मैं फिर से ड्रेसिंग रूम का हिस्सा बनने जा रहा हूं इसलिए मुझे कप्तान के साथ कुछ समय बिताने और चीजों को आगे बढ़ाने के लिये कुछ समय चाहिए."  

शास्त्री ने कहा कि वह भारत को कोचिंग देने की चुनौती के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा, "मुझे हमेशा चुनौती पसंद है और मैं भारतीय टीम के साथ काम करने के लिये तैयार हूं. जब आकाश बादलों से घिरा हो तब अगर आपको बल्लेबाजी का आगाज करने के लिये कहा जाता है तो वह चुनौती होती है. मैंने ऐसी चुनौतियां स्वीकार की हैं और यह एक और चुनौती है." कोच नियुक्त करने वाली क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के पूर्व सदस्य सौरव गांगुली के साथ कड़वे संबंधों के बारे में पूछे जाने पर शास्त्री ने कहा, "हम दोनों ही पूर्व कप्तान है और जिरह होगी, लेकिन हमें बड़े परिदृश्य पर गौर करना चाहिए. उन्होंने (गांगुली) मेरे साक्षात्कार के दौरान कुछ अच्छे सवाल किये. हमें आगे बढ़ना होगा. व्यक्ति महत्व नहीं रखता और हम सभी को भारतीय क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ हित में काम करना चाहिए. यह केंद्र बिंदु होना चाहिए." 
(इनपुट भाषा से भी )
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement