Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

NZ vs ENG World Cup Final: क्या इंग्लैंड फाइनल में इस 40 साल पुराने 'बड़े मिथक' को तोड़ पाएगा

NZ vs ENG World Cup Final: क्या इंग्लैंड फाइनल में इस 40 साल पुराने 'बड़े मिथक' को तोड़ पाएगा

वर्ल्ड कप 2019: न्यूजीलैंड को हराकर चैंपियन बन पाएगा मेजबान इंग्लैंड!

खास बातें

  • साल 1979 में शुरू हुआ था मिथक...
  • किसी भूत की तरह कर रहा है पीछा..!
  • आखिर हर यह क्यों होता है इंग्लैंड के साथ
नई दिल्ली:

वर्ल्ड कप (World Cup 2019) फाइनल में न्यूजीलैंड (NZ vs ENG Final) की पारी 241 पर सिमटने के बाद इंग्लैंड के चाहने वाले यही सवाल कर रहे हैं कि क्या मिथक को तोड़ पाएगी. वास्तव में  यह मिथक एक तरह उसका पिछले 27 साल से पीछा कर रहा है. और जैसी पिच लॉर्ड्स में देखने को मिली है, उससे तो यही लगता है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल में इंग्लिश बल्लेबाजों को मिथक तोड़ने के लिए अच्छे-खासे पापड़ बेलने पड़ेंगे. मिथक में वजन लॉर्ड्स की पिच ने भी बहुत ज्यादा पैदा कर दिया है, जिस पर न्यूजीलैंड के बल्लेबाज एक मजबूत स्कोर से करीब 25 रन तो पीछे रह ही गए. 

यह भी पढ़ें: अगर रोहित शर्मा को मिचेल स्टॉर्क ने दी मात, तो रचा जाएगा 'बड़ा इतिहास', पर...

वास्तव में यह फाइनल का मिथक साल 1979 में खेले गए वर्ल्ड कप के साथ ही शुरू हो गया था. तब विंडीज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 60 ओवरों में 286 रन बनाए थे, तो जवाब में इंग्लैंड की टीम 194 रन बनाकर आउट हो गई. और यहीं से मिथक ने इंग्लैंड का पीछा भी करना शुरू कर दिया. इसके बाद साल 1987 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची थी. 

यह भी पढ़ें:  इतनी बड़ी रकम मिलेगी वर्ल्ड कप विजेता को, बाकियों के हिस्से आएगा 'इतना'

यह वही वर्ल्ड कप है, जो आज भी इंग्लैंड के कप्तान माइक गैटिंग के बहुत ही घटिया रिवर्स स्वीप के लिए याद किया जाता है. और जिसकी कीमत इंग्लैंड को वर्ल्ड कप गंवाकर चुकानी पड़ी. इस फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 253 रन बनाए. जवाब में इंग्लैंड 246 रन बनाकर आउट हो गई और उसे सात रन से हार का सामना करना पड़ा . अब तमाम इंग्लिश क्रिकेटप्रेमियों के मन में सवाल न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल के खिलाफ और तेजी से उठने लगे हैं. 

VIDEO: न्यूजीलैंड ने भारत को सेमीफाइनल में 18 रन से मात दी. 

कारण यह रहा कि साल 1992 वर्ल्ड कप के फाइल में जब इंग्लिश टीम पाकिस्तान के हाथों हारी, तो अंग्रेज पाकिस्तान से मिले 249 क लक्ष्य का पीछा करते हुए 227 रन पर ही ऑलआउट हो गए थे. और एक बार और मिथक ने अपनी पुष्टि कर दी दी थी. मिथक यह रहा कि इंग्लिश टीम तीन बार जब-जब लक्ष्य का पीछा करते हुए फाइनल में  पहुंची, तो स्कोर का पीछा करते हुए तीनों ही मौकों पर उसे मुंह की खानी पड़ी.