NZ vs IND 1st T20:...और अब बीसीसीआई ने कप्तान विराट कोहली की बोर्ड की आलोचना पर जाहिर की नाखुशी

NZ vs IND: बीसीसीआई के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि यह प्लानिंग सीओए के समय की है और अगर कोहली को इससे कोई समस्या थी तो उन्हें मीडिया से नहीं बल्कि बीसीसीआई सचिव से बात करनी चाहिए थी.

NZ vs IND 1st T20:...और अब बीसीसीआई ने कप्तान विराट कोहली की बोर्ड की आलोचना पर जाहिर की नाखुशी

बीसीसीआई का लोगो

नई दिल्ली:

भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने  शुक्रवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले जाने वाले तीन टी20 मैचों की सीरीज के पहले मैच से पहले वीरवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीसीसीआई को आड़े हाथ लिया, बोर्ड ने भी प्रतिक्रिया देने में देर नहीं लगायी.  कोहली ने न्यूजीलैंड पहुंचने के बाद बीसीसीआई (BCCI) के ट्रेवल प्लान को लेकर नाराजगी जाहिर की. कोहली चाहते हैं कि बोर्ड ट्रेवल प्लान को लेकर फिर से विचार करे. बीसीसीआई (BCCI) ने हालांकि अपने ट्रेवल प्लान का बचाव किया है और कहा है कि कोहली को इस बारे में अगर कोई शिकायत थी कि उन्हें मीडिया से इस बारे में  में बात करने से पहले उससे बात करनी चाहिए थी. दरअसल रविवार को बेंगलुरू में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरा और अंतिम वनडे मैच खेलने के महज कुछ घंटों के बाद भारतीय टीम न्यूजीलैंड सीरीज के लिए रवाना हो गई. भारतीय टीम इन दिनों व्यस्त कार्यक्रम से गुजर रही है और कप्तान विराट कोहली बीसीसीआई के ट्रेवल प्लान से खुश नहीं हैं.

यह भी पढ़ें:  इसलिए विराट कोहली ने किया प्रतिद्वंद्वी कप्तान केन विलियमसन का बचाव

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि कोहली को अपने विचारों से अवगत कराने का पूरा अधिकार है लेकिन बोर्ड अपनी ओर से हरसंभव प्रयास करता है कि उसके ट्रेवल प्लान से किसी खिलाड़ी को परेशानी ना हो. अधिकारी ने कहा, "कोहली को मुद्दा उठाने का पूरा अधिकार है, लेकिन सच कहूं तो खिलाड़ियों की सुविधा का ध्यान रखकर ही ट्रेवल प्लान तय किया जाता है. आप देखिए कि विश्व कप से पहले हमने जितना संभव हो सका खिलाड़ियों को स्पेस दिया और इसी क्रम में खिलाड़ियों को दिवाली के समय ब्रेक मिला."

यह भी पढ़ें: विराट कोहली ने साफ किया, ऐसी होगी केएल राहुल की वनडे और टी20 में अलग-अलग भूमिका

बीसीसीआई के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि यह प्लानिंग सीओए के समय की है और अगर कोहली को इससे कोई समस्या थी तो उन्हें मीडिया से नहीं बल्कि बीसीसीआई सचिव से बात करनी चाहिए थी. अधिकारी ने कहा, "शेड्यूल टाइट था लेकिन यह शेड्यूल सीओए के समय बना था और सीईओ की निगरानी में बना था. ऐसे में कोहली को इस समस्या को बोर्ड के सामने उठाना चाहिए था. तब इसका समाधान निकल सकता था. कोहली अपनी बात कहने के लिए आजाद हैं लेकिन हर बात के लिए एक तरीका है, जिसका पालन किया जाना चाहिए था"

VIDEO: पिंक बॉल की पूरी कहानी जान लीजिए, स्पेशल  स्टोरी. 

कोहली ने इडेन पार्क मैदान में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में टाइट शेड्यूल को लेकर नाराजगी जाहिर की और कहा कि अब वह समय आ गया है जब हमें सीधे स्टेडियम में पहुंचना पड़ रहा है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com