NZ vs IND, 1st Test: अज‍िंक्‍य रहाणे बोले, घरेलू हालात में न्‍यूजीलैंड का पलड़ा भारी लेक‍िन...

NZ vs IND 1st Test: अज‍िंक्‍य रहाणे ने कहा,‘घरेलू हालात में न्यूजीलैंड का पलड़ा भारी होगा. उन्हें पता है कि कैसी गेंद डालनी है और बल्लेबाजों को पता है कि कौन से शॉट खेलने हैं.’ उन्होंने कहा,‘एक यून‍िट के रूप में हमें हालात के अनुरूप तेजी से ढलना होगा. न्

NZ vs IND, 1st Test: अज‍िंक्‍य रहाणे बोले, घरेलू हालात में न्‍यूजीलैंड का पलड़ा भारी लेक‍िन...

Ajinkya Rahane टेस्‍ट क्र‍िकेट के फार्मेट में टीम इंड‍िया के उपकप्‍तान हैं

खास बातें

  • कहा, घरेलू हालात से अच्‍छी तरह वाक‍िफ है न्‍यूजीलैंड टीम
  • उन्‍हें पता है कैसी गेंद डालनी है, कैसे शॉट खेलने हैं
  • पहली पारी में हमें 300+ का स्‍कोर बनाना ही होगा
वेल‍िंगटन:

New Zealand vs India, 1st Test: टीम इंड‍िया के टेस्‍ट के उपकप्‍तान अज‍िंक्‍य रहाणे ( Ajinkya Rahane)ने वेल‍िंगटन में शुक्रवार से होने वाले पहले टेस्‍ट में (New Zealand vs India, 1st Test )मेजबान न्‍यूजीलैंड टीम का पलड़ा भारी माना है. उनके अनुसार,  बेसिन रिजर्व की उछालभरी पिच पर पहली पारी में 320 रन का स्कोर अच्छा माना जाएगा. रहाणे ने कहा,‘घरेलू हालात में न्यूजीलैंड का पलड़ा भारी होगा. उन्हें पता है कि कैसी गेंद डालनी है और बल्लेबाजों को पता है कि कौन से शॉट खेलने हैं.' उन्होंने कहा,‘एक यून‍िट के रूप में हमें हालात के अनुरूप तेजी से ढलना होगा. न्यूजीलैंड के हर मैदान का आकार अलग है.' भारत ने 2014 में लॉर्ड्स और 2018 में एडि‍लेड में पहली पारी में 300 से कम स्कोर बनाकर जीत दर्ज की और रहाणे के अनुसार वेलिंगटन में भी ऐसा हो सकता है.

 

व‍िराट बोले, न्यूजीलैंड एकमात्र ऐसी टीम जिसके साथ हम नंबर 1 शेयर करने के लिए तैयार..

उन्होंने कहा,‘पहले बल्लेबाजी करते हुए आपकी मनोदशा पॉज‍िट‍िव होती है. ऐसा नहीं है कि पहले गेंदबाजी करने पर ऐसा नहीं होता. भारत के बाहर पहली पारी में 320 या 330 का स्कोर अच्छा कहा जाएगा.' रहाणे ने कहा,‘हमने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में जितने मैच जीते, पहली पारी में 320 या 350 के करीब रन बनाए.'भारतीय उपकप्तान ने कहा,‘हमें पता है कि हमारे गेंदबाज हर हालात में विकेट ले सकते हैं लेकिन टॉस हारने पर पहले बल्लेबाजी करनी पड़े तो पता होना चाहिये कि हालात का सामना कैसे करना है.' उन्होंने कहा,‘सीम लेती पिचों पर सही मानसिकता के साथ उतरना जरूरी है.

गेंदबाजों पर भी सपाट पिचों पर गेंदबाजी करते समय यही बात लागू होती है. उन्हें सपाट पिचों पर 20 विकेट लेने का भरोसा होना चाहिए.' रहाणे ने कहा कि पिच के भीतर की नमी के कारण गेंद को कुछ टर्न मिलेगा. उन्होंने कहा ,‘गेंद टर्न ले सकती है क्योंकि विकेट के भीतर नमी है. शायद हर दिन पहले सत्र में गेंद टर्न ले. न्यूजीलैंड में पिचें आम तौर पर दो दिन के बाद बल्लेबाजी के लिये अच्छी होती है. ऐसे में स्पिनरों की भूमिका अहम होगी क्योंकि अश्विन और जडेजा दोनों विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो: 15 साल की लड़की ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)