आज ही के दिन 1994 में ब्रायन लारा ने उड़ाई कई रिकॉर्डों की धज्जियां और खेली ऐतिहासिक पारी

आज ही के दिन 1994 में ब्रायन लारा ने उड़ाई कई रिकॉर्डों की धज्जियां और खेली ऐतिहासिक पारी

ब्रायन लारा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

वेस्ट इंडीज़ के दिग्गज बल्लेबाज ब्रायन लारा ने 6 जून 1994 को आज ही के दिन 501* रनों की पहाड़ जैसी पारी खेली और क्रिकेट की किताबों में अपना नाम अमर कर गए। इंग्लैंड के वारविकशायर की ओर से डरहम के खिलाफ ब्रायन लारा की 501 रनों की पारी अब तक प्रथम श्रेणी में खेली गई सबसे बड़ी पारी है।

इससे पहले यह रिकॉर्ड पाकिस्तान के बल्लेबाज हनीफ मोहम्मद के नाम था, जिन्होंने 499 रन की पारी खेली थी। उनका रिकॉर्ड 35 साल तक बरकरार रहा। जिसने भी ब्रायन लारा की वह पारी देखी वह अपने आपको आज भी बेहद खुशनसीब मानता है। लारा की बल्लेबाजी से बेहतर नजारा क्रिकेट की दुनिया में कुछ और नहीं हो सकता है।

मिले थे शुरुआती मौके
ऐसा नहीं कि लारा की पारी में उन्हें कोई मौका नहीं मिला। वे जब सिर्फ 10 रन पर थे तब क्लीन बोल्ड हो गए थे लेकिन वह गेंद नो-बॉल थी। उसके बाद विकेटकीपर क्रिस स्कॉट ने 16 रन पर लारा का एक कैच छोड़ दिया। स्कॉट समझ गए थे कि अब लारा रुकने वाले नहीं हैं।

501* की कहानी
लारा 111 रनों पर नाबाद थे जब पिछले दिन का खेल खत्म हुआ। बारिश की वजह से मैच में नतीजा निकल पाना मुश्किल था। लारा ने पहले सत्र में ताबड़तोड़ तरीके से 174 रन बनाए और दूसरे सत्र में 133 रन जड़े। यानी चाय के बाद उन्हें 500 रन बनाने के लिए 82 रनों की जरूरत और थी। दिन का खेल बस खत्म होने ही वाला था और और डरहम की ओर से कीथ पाइपर गेंदबाजी कर रहे थे। लारा 497 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे। लारा को लगा कि शायद मैच में अभी 2-3 ओवर और बचे हैं, लेकिन पहली तीन गेंद रक्षात्मक तरीके से खेलने के बाद पाइपर ने उन्हें याद दिलाया कि मैच का नतीजा न निकलने की सूरत में यह दिन का आखिरी ओवर हो सकता है। चौथी गेंद लारा के हेलमट पर लगी। पांचवी गेंद लारा ने बाउन्ड्री पार पहुंचा दी और मैच वहीं खत्म घोषित कर दिया गया। लारा 501* पर नाबाद रहे और हमेशा के लिए अमर हो गए।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com