MS Dhoni की टीम ने आज ही जीता था टी20 वर्ल्डकप, BCCI के ट्वीट के बाद फैंस ने यूं किया 'सेल्यूट'

MS Dhoni की टीम ने आज ही जीता था टी20 वर्ल्डकप, BCCI के ट्वीट के बाद फैंस ने यूं किया 'सेल्यूट'

MS Dhoni की कप्तानी में भारतीय टीम ने 24 सितंबर 2007 को T20 World Cup जीता था

खास बातें

  • फाइनल में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को हराया था
  • आखिरी ओवर में आउट हुए थे मिस्बाह उल हक
  • 24 सितंबर को खेला गया था फाइनल मुकाबला

World T20 Champions: महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के लिए 24 सितंबर की तारीख का खास महत्व है. वर्ष 2007 में होने वाले पहले टी20 वर्ल्डकप (T20 World Cup) के लिए MS धोनी को भारतीय टीम की कप्तान बनाया गया था. इस टूर्नामेंट की टीम इंडिया में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गज नदारद थे. जाहिर है, नए नवेले कप्तान होने और टीम में दिग्गज खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी के चलते भारतीय टीम से कोई भी खास प्रदर्शन की उम्मीद नहीं कर रहा था, लेकिन कप्तान के तौर पर धोनी से इस टूर्नामेंट में कमाल कर दिखाया और टीम को चैंपियन बना दिया. आज ही के दिन, 24 सितंबर को खेले गए टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम ने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को हराया था. धोनी (MS Dhoni) और टीम इंडिया (Team India) के लिहाज से यह दिन बेहद अहम साबित हुआ. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने मंगलवार को एक ट्वीट करते हुए टीम इंडिया की इस अहम कामयाबी को याद किया. बीसीसीआई ने अपने ट्वीट में लिखा, 'इस दिन, वर्ष 2007 में टीम इंडिया वर्ल्ड टी20 चैंपियन बनी थी.'

Ramiz Raja ने श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के पहले Pakistan Team को दी यह सलाह..

भारत की टी20 वर्ल्डकप की यह सफलता एक तरह से कप्तान के तौर पर धोनी (MS Dhoni)  के सुनहरे दौर का आगाज था. धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम बाद में, वर्ष 2011 में 50 ओवर के वर्ल्डकप में भी चैंपियन बनी थी. बीसीसीआई के टी20 वर्ल्डकप से जुड़े इस पोस्ट पर क्रिकेट फैंस ने जोश से भरी प्रतिक्रिया दी और धोनी और उनकी टीम की कामयाबी को याद किया. कई लोगों ने महेंद्र सिंह धोनी की प्रशंसा में ट्वीट किए और उनकी नेतृत्व क्षमता को सेल्यूट किया.

बेंगलुरू में टीम इंडिया की हार पर भड़के फैंस, MS Dhoni को किया याद..

Newsbeep

आखिरी क्षणों से रोमांचक रहे इस फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए गौतम गंभीर के 75 रनों की मदद से निर्धारित 20 ओवर्स में 157 रन का स्कोर बनाया था. जवाब में बैटिंग करते हुए पाकिस्तान टीम शुरुआत से ही विकेट गंवाती रहे. आखिरी के ओवरों में मिस्बाह उल हक ने जोरदार बल्लेबाजी करते हुए पाकिस्तान के लिए उम्मीदें जगा दीं. स्वाभाविक रूप से ऐसे समय भारतीय फैंस के चेहरे पर निराशा छाने लगी थी. 20 यानी पारी के आखिरी ओवर में पाकिस्तान को जीत के लिए 13 रन की जरूरत थी. ऐसे में धोनी के 'बड़ा दांव' लगाते हुए नएनवेले तेज गेंदबाज जोगिंदर शर्मा को गेंदबाजी थमा दी. धोनी की यह कदम सही साबित हुआ और जोगिंदर की गेंद पर मिस्बाह ने रिवर्स स्वीप खेलने का प्रयास किया. इस कोशिश में वे श्रीसंत को कैच थमा बैठे. भारत 5 रन से मैच में जीत हासिल करते हुए टी20 वर्ल्डकप चैंपियन बन गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: वीरेंद्र सहवाग से एनडीटीवी की खास बातचीत..