अपने निर्णय को मैदान पर फिर सही कर गए माही और आलोचकों की बोलती बंद

अपने निर्णय को मैदान पर फिर सही कर गए माही और आलोचकों की बोलती बंद

अक्षर पटेल (फोटो सौजन्य : बीसीसीआई)

नई दिल्ली:

एक बार फिर टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने एक निर्णय से जहां एक ओर सबको चौंकाया वहीं, दूसरी और तमाम आलोचनाओं के बावजूद उनका निर्णय अंतत: सही साबित हुआ।

आज ही मैच में गुजरात के अक्षर पटेल को टीम में शामिल करने को लेकर कई क्रिकेट के जानकारों और फैन्स के अलावा क्रिकेट प्रेमियों ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के फैसले पर सवाल उठाए थे। इस मुद्दे पर ट्विटर पर जैसे धोनी की आलोचनाओं का अंबार लग गया था। वहीं, अक्षर पटेल की गेंदबाजी ने इंदौर में खेले गए इस वनडे मैच में जीत के लिए अहम योगदान दिया। अक्षर पटेल ने दक्षिण अफ्रीका को जो शुरुआती झटके दिए उनसे प्रोटियाज उबर नहीं पाए और दबाव में टीम लक्ष्य से पहले ही आउट हो गई। टीम इंडिया की इस जीत में महेंद्र सिंह धोनी के अक्षर को खेलाने के निर्णय को फिर सही साबित कर दिया।

अक्षर पटेल के अलावा भुवनेश्वर कुमार ने 8.4 ओवर में 41 रन देकर 3 विकेट लिए और दूसरे कामयाब गेंदबाज साबित हुए। इनके अलावा हरभजन सिंह ने 10 ओवरों में 51 देकर दो विकेट लिए। उमेश यादव ने 8 ओवर में 52 रन देकर एक विकेट लिया। इनके अलावा मोहित शर्मा ने अपनी धारदार गेंदबाजी का जलवा जरूर दिखाया लेकिन, वे 5 ओवर में 21 रन देकर एक विकेट ही अपने नाम कर पाए। कप्तान धोनी ने आज फिर सुरेश रैना से दो ओवर फिकवाए लेकिन उन्हें कोई कामयाबी नहीं मिली और उन्होंने 18 रन जरूर दिए।

क्या कहा था आलोचकों ने
अक्षर पटेल को टीम में अमित मिश्रा की जगह तर्जी देने को लेकर कई आलोचकों ने बचकाना कहा और कप्तान धोनी पर निशाना साधा था। अक्षर पटेल ने आज के मैच में अपने 10 ओवरों में 39 रन देकर न केवल तीन विकेट लिए बल्कि सबसे कामयाब गेंदबाज रहे और जीत में अहम भूमिका निभाई बल्कि आज वे सबसे किफायती गेंदबाज भी साबित हुए जिनके आगे दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज कुछ बौने रहे।

टी-20 में अक्षर पटेल ने दिए सबसे ज्यादा रन
बता दें कि बाएं हाथ के इसी स्पिनर ने हाल ही दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए टी-20 मुकाबले में सबसे ज्यादा रन दिए थे। सीरीज में अपने छह ओवरों में अक्षर पटेल ने 62 रन दिए थे। यह सवाल इसलिए उठ रहे हैं क्योंकि ज्यादा तजुर्बेकार और फॉर्म में चल रहे लेग-स्पिनर अमित मिश्रा को बाहर बिठा दिया गया।

जानकारों ने उठाए थे सवाल
मिश्रा को बाहर रखने पर तमाम क्रिकेट के जानकारों ने सवाल उठाए हैं। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने मिश्रा को न लिए जाने पर सवाल उठाते हुए कहा कि टीम में गेंदबाजों के चयन के मुद्दे पर कप्तान धोनी नर्वस हो जाते हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अनिल कुंबले की थी ये राय
पूर्व लेग स्पिनर अनिल कुंबले ने भी अपनी राय कुछ इन शब्दों में दी, कहा - दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों पर मिश्रा भले ही कानपुर में कोई नियंत्रण नहीं रख पाए थे, लेकिन इस मैच में पांचवां गेंदबाज तो उन्हें ही रखा जाना चाहिए था।

पिछले मैच में अक्षर पटेल ने डेल स्टेन की गेंद पर एलबीडब्लूय आउट होने से पहले 27 गेंदों पर 13 रन बनाए थे।