IND vs SA: चेतेश्‍वर पुजारा बोले, इससे मुश्किल पिच पहले कभी नहीं देखी

261 मिनट, 157 डॉट बॉल और ज़िद्दी अर्धशतक... जोहानिसबर्गटेस्ट मैच के पहले दिन चेतेश्‍वर पुजारा को पहला रन बनाने के लिए 54 गेंदे ज़रूर लगी, लेकिन यह वक्त की मांग थी.

IND vs SA: चेतेश्‍वर पुजारा बोले, इससे मुश्किल पिच पहले कभी नहीं देखी

चेतेश्‍वर पुजारा ने पहली पारी में 50 रन बनाए थे (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पुजारा बोले, वांडरर्स पिच पर रन बनाना मुश्किल
  • इस पर उछाल और सीम मूवमेंट काफी है
  • पहली पारी में 179 गेंदों पर 50 रन बनाए

261 मिनट, 157 डॉट बॉल और ज़िद्दी अर्धशतक... जोहानिसबर्गटेस्ट मैच के पहले दिन चेतेश्‍वर पुजारा को पहला रन बनाने के लिए 54 गेंदे ज़रूर लगी, लेकिन यह वक्त की मांग थी. पुजारा ने अपनी बल्‍लेबाजी से दिखाया कि मुश्किल स्थिति से निपटने के लिए धैर्य सबसे बड़ा हथियार होता है. असमान उछाल, सीम मूवमेंट और लगातार तेज़ होते विकेट पर उन्‍होंने एक छोर संभाले रखा. फटाफट दो विकेट गिरने के बाद कप्तान विराट के साथ पुजारा की इस 'तपस्या' का ही नतीजा रहा कि टीम इंडिया पहले दिन के प्रारंभिक दिन दूसरे विकेट के लिए 84 रन की साझेदारी करने में सफल रही.

पुजारा की नज़र में वांडरर्स की पिच पर टिकना मुश्किल है. उन्‍होंने कहा, " मैंने इससे मुश्किल पिच पर पहले कभी बल्लेबाज़ी नहीं की.इस पिच पर रन बनाना मुश्किल है, स्ट्राइक रोटेट करना मुश्किल है.इस पिच पर उछाल और सीम मूवमेंट भी बहुत है".

वीडियो: गावस्‍कर ने इस अंदाज में की विराट कोहली की तारीफ
इन मुश्किल हालातों में पुजारा ने 179 गेंदों पर 50 रन बनाए. 2014-15 के बाद पहली बार एशिया के बाहर अर्धशतक बनाया. पुजारा के मुताबिक "इस पिच पर आप बल्लेबाज़ी करते हुए कई बार बीट होगे.मैं इसे संघर्ष नहीं कहूंगा.अगर आप इस पिच पर 50 रन बना पाते हो तो ये अच्छी पारी कहलाएगी" आक्रामक क्रिकेट के ज़माने में पुजारा की बल्लेबाज़ी टेस्ट क्रिकेट के उस शैली को ज़िंदा रखे हुए है जहां पर रन बनाने के साथ साथ वक्त काटना भी ज़रूरी होता. पुजारा बोले "मेरे लिए इस बात का मतलब है कि आप गेंद सही ढंग से छोड़ो, सही तरीके से रक्षात्मक शॉट खेलो., गेंद की मेरिट पर शॉट खेलो. ये करके अगर रन बना पाओ तो सब ठीक है.".

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com