NDTV Khabar

स्पॉट फिक्सिंग : पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ मो. इरफ़ान पर लगा एक साल का बैन, चैंपियन्स ट्रॉफी नहीं खेल पाएंगे

45 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
स्पॉट फिक्सिंग : पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ मो. इरफ़ान पर लगा एक साल का बैन, चैंपियन्स ट्रॉफी नहीं खेल पाएंगे

मोहम्मद इरफान को इससे पहले निलंबित किया गया था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पाकिस्तान क्रिकेट एक बार फिर फिक्सिंग के साये में है
  2. पाकिस्तान सुपर लीग के दौरान सामने आया था यह मामला
  3. पाकिस्तान के 5 क्रिकेटरों को निलंबित किया गया था
नई दिल्ली: पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद इरफ़ान पर पाकिस्तान सुपर लीग के मैचों में स्पॉट फ़िक्सिंग के मामले में एक साल का बैन लगा है. इसमें 6 महीने का सस्पेंडेड बैन रहेगा. इतना ही नहीं तेज़ गेंदबाज़ पर एक मिलियन रुपये की फ़ाइन भी लगाई गई है. यह फ़ाइन बुकी के बारे में पाकिस्तान क्रिकेट को नहीं बताने के लिए लगाई गई है. हालांकि इरफ़ान का रोल स्पॉट फ़िक्सिंग में साफ़ नहीं है लेकिन पीसीबी ने अपने अहम T20 टूर्नामेंट में करप्शन को रोकने के लिए यह दम उठाया है.

पाकिस्तान के लिए 4 टेस्ट और 60 वनडे खेल चुके इरफ़ान ने माफ़ी मांगी और अपने ऊपर लगे आरोपों से इंकार करते हुए कहा कि वह सीधे तौर पर स्पॉट फ़िक्सिंग या फिर किसी भी करह के ग़लत काम में शामिल नहीं थे. इरफ़ान पर बुकी से मिलने के बारे में बोर्ड को नहीं बताने का मुख्य आरोप है. आरोप लगने के बाद पीसीबी ने इरफ़ान को सस्पेंड कर दिया था, लेकिन अब पूरी जांच के बाद उन पर 6 महीने का बैन और 6 महीने का सस्पेंडेड बैन लगा है.

पाकिस्तानी मीडिया से बात करते हुए पीएलएल में इस्लामाबाद यूनाइटेड के खिलाड़ी इरफ़ान ने कहा, 'मुझसे दो बार बुकी ने मिलने की कोशिश की लेकिन मैंने पीसीबी की एंटी करप्शन यूनिट को यह नहीं बताकर ग़लत किया. यही मेरा गुनाह है.'

उन्होंने आगे कहा, 'मैंने अपनी ग़लती मान ली, लेकिन मैं किसी भी तरीके से स्पॉट फ़िक्सिंग या मैच फ़िक्सिंग में नहीं शामिल रहा हूं. मैं अपनी ग़लती के लिए पूरे देश से माफ़ी मांगता हूं और मुझे उम्मीद है कि फ़ैन्स मुझे माफ़ कर देंगें.'

34 साल के इरफ़ान पर बैन लगने के बाद चैंपियंस ट्रॉफ़ी में नहीं खेल सकेंगे. 215 सेंटीमीटर लंबे इरफ़ान ने पाकिस्तान के लिए 20 T20 मैच भी खेले हैं. पीसीबी ने इसी जांच के तहत शरजील ख़ान और खालिद लतीफ़ को पिछले महीने सस्पेंड किया था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement