NDTV Khabar

बाउंसर लगने से पाकिस्तानी क्रिकेटर जुबैर अहमद की मौत

PCB ने ट्वीट किया कि जुबेर की मौत एक बार फिर इस बात को याद दिला देती है कि बैटिंग के दौरान पूरे वक्त सेफ्टी गियर (हेलमेट) पहनना जरूरी है.

491 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाउंसर लगने से पाकिस्तानी क्रिकेटर जुबैर अहमद की मौत

बाउंसर लगने से जान गंवाने वाले जुबेर अहमद बल्लेबाज के तौर पर टीम से खेलते थे.

खास बातें

  1. जुबेर अहमद टी20 टीम क्वेटा बीयर्स की तरफ से खेल रहे थे
  2. बिना हेलमेट के बैटिंग कर रहे थे जुबेर अहमद
  3. तेज गेंद सिर पर लगी और मैदान पर ही गिर गए
नई दिल्ली: पाकिस्तान के बल्लेबाज जुबैर अहमद की मरदान में घरेलू मैच के दौरान बाउंसर लगने से मौत हो गई. चार लिस्ट ए मैच खेल चुके अहमद टी20 टीम क्वेटा बीयर्स की तरफ से खेल रहे थे. यह घटना 14 अगस्त को घटी. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने आज सोशल मीडिया पर एक संदेश के जरिये इस खबर की पुष्टि की और हमेशा सुरक्षा उपकरणों का उपयोग करने की जरूरत पर जोर दिया. पीसीबी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘जुबैर अहमद की दुखद मौत हमें सबक देती है कि हमेशा सुरक्षा उपकरण जैसे हेलमेट का उपयोग करना जरूरी है. जुबैर के परिवार के प्रति हमारी संवेदना. ’
ये भी पढ़ें: बांग्लादेश के बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम बाउंसर से हुए बुरी तरह घायल

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने (PCB) अपने ऑफिशियल टि्वटर हैंडल पर ये घटना शेयर की. PCB ने ट्वीट किया कि जुबेर की मौत एक बार फिर इस बात को याद दिला देती है कि बैटिंग के दौरान पूरे वक्त सेफ्टी गियर (हेलमेट) पहनना जरूरी है.

ये भी पढ़ें:  आकाश चोपड़ा ने बाउंसर खेलने की क्षमता पर सवाल उठाया तो बिफरे मोईन अली

गौरतलब है कि 2 दिन पहले ही ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज डेविड वॉर्नर भी सिर पर बाउंसर लगने की वजह से चोटिल हो गए. सिर पर गेंद लगने से ऑस्ट्रेलिया के युवा बल्लेबाज फिल ह्यूज की भी मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें: भुवनेश्वर कुमार का थ्रो अंपायर के सिर में लगा, मैदान पर गिरे

दो साल पहले नवंबर 2014 में ऑस्ट्रेलिया के 25 साल के ओपनर बैट्समैन फिल ह्यूज की मौत भी बाउंसर लगने से हो गई थी. सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर ह्यूज 63 रन बनाकर खेल रहे थे. इसी दौरान न्यू साउथ वेल्स के बॉलर सीन एबोट की एक बॉल को हुक करने के लिए वे आगे बढ़े, लेकिन शॉट चूक गए और बॉल सीधे उनके सिर के पीछे जा लगी थी.

वीडियो: पत्रकार और सांसदों के बीच हुआ क्रिकेट मैच

ह्यूज ने बाउंसर लगने के बाद पहले अपने हाथ घुटने पर रखे और फिर वे ग्राउंड पर मुंह के बल गिर गए थे. तब उन्हें एयर एंबुलेंस में वेंटिलेटर पर रखा गया और सेंट विसेंट अस्पताल पहुंचाया गया. वहां उनके सिर की इमरजेंसी सर्जरी भी की गई थी. लेकिन दो दिन कोमा में रहने के बाद वे चल बसे थे. 

इनपुट: भाषा
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement