NDTV Khabar

अनुशासनहीन पाक क्रिकेटर... शोएब अख्‍तर-आसिफ, अफरीदी-मियांदाद भी विवादों में रह चुके हैं..

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अनुशासनहीन पाक क्रिकेटर... शोएब अख्‍तर-आसिफ, अफरीदी-मियांदाद भी विवादों में रह चुके हैं..

यासिर शाह-वहाब रियाज का झगड़ा हाल ही में क्रिकेट जगत में सुर्खियों में रहा

खास बातें

  1. पाकिस्‍तानी प्‍लेयर्स के बीच झगड़े की खबरें अकसर आती रहती हैं
  2. ट्रेनिंग सेशन के दौरान उलझ गए थे यासिर शाह और वहाब रियाज
  3. शोएब अख्‍तर और मो.आसिफ भी तोड़ते रहे हैं अनुशासन

बेहद प्रतिभावान लेकिन उतने ही बिगड़ैल और अनुशासनहीन...पाकिस्‍तानी क्रिकेट टीम के खिलाड़ि‍यों के बारे में क्रिकेटप्रेमियों की यही आमराय है.इसका कारण टीम के क्रिकेट खिलाड़ि‍यों के बीच झगड़े और अनुशासन भंग करने की अक्सर सामने आती रहने वाली खबरें हैं. ऑस्‍ट्रेलिया के साथ ब्रिस्‍बेन टेस्‍ट से पहले पाकिस्‍तानी प्‍लेयर्स यासिर शाह और वहाब रियाज के बीच तूतू-मैंमैं की खबर इसकी ताजा कड़ी है. जानकारी के अनुसार, फुटबॉल सत्र के दौरान यह झड़प हुई. आए दिन ऐसे झगड़ों के कारण छवि खराब होने से चिंतित पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने इस घटना को लेकर सख्‍त रुख अपनाया है. पीसीबी प्रमुख शहरयार खान ने टीम प्रबंधन से इस घटना की रिपोर्ट मांगी है. उन्होंने कहा कि रिपोर्ट देखने के बाद अगर जरूरी हुआ तो दोनों खिलाड़ियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी.

ट्रेनिंग सत्र के दौरान दोनों खिलाड़ियों के बीच हुई इस घटना की फोटो अंतरराष्ट्रीय मीडिया में छा गईं. इसके बाद टीम मैनेजर वसीम बारी ने दोनों खिलाड़ियों को ट्रेनिंग सत्र से बेंच पर बैठने के लिए भेज दिया था. यासिर शाह इससे पहले डोप टेस्‍ट में पॉजिटिव पाए जाने के कारण प्रतिबंधित किए जा चुके हैं.


स्‍पॉट फिक्सिंग के मामले में भी पाकिस्‍तान के कुछ खिलाड़ि‍यों का नाम सामने आ चुका है. क्रिकेट जानकारों का मानना है कि पाकिस्‍तान के प्‍लेयर्स का आमतौर पर कम शिक्षित होना उनके अनुशासनहीन होने और फिक्सिंग जैसे मामलों में फंसने के पीछे का कारण है. वहाब रियाज और यासिर शाह के बीच हुई झड़प के पहले भी पाकिस्‍तानी टीम के कुछ क्रिकेटर्स मैदान या मैदान के बाहर बहस/झगड़े में उलझ चुके हैं. आइए डालते हैं ऐसे मामलों पर नजर...

शोएब अख्‍तर ने आसिफ पर बल्‍ले से किया था हमला

 
shoaib asif
शोएब अख्‍तर और मो. आसिफ (फाइल फोटो)

रावलपिंडी एक्‍सप्रेस के नाम से चर्चित शोएब अख्‍तर गेंदबाजी में जितने मशहूर रहे, विवादों के कारण उतने ही बदनाम रहे. 2007 के वर्ल्डकप से पहले शोएब अख्‍तर का अपनी टीम के तब के साथी खिलाड़ी मोहम्‍मद आसिफ (स्‍पॉट फिक्सिंग मामले में दागदार) हुई थी. बताया जाता है कि शोएब अख्तर ने तब अपने साथी गेंदबाज़ मोहम्मद आसिफ की बाईं जांघ पर बल्ले से हमला कर दिया था. ड्रेसिंग रूम में हुई इस घटना की वजह से अख्तर टी-20 वर्ल्डकप के पहले संस्करण से बाहर कर दिए गए थे. फाइन के साथ उन पर कुछ मैचों का प्रतिबंध भी लगा था.हालांकि बाद में अख्तर ने आसिफ से माफ़ी मांग ली थी. लेकिन उन्होंने इस बयान से तब एक और विवाद को जन्म दे दिया था कि शाहिद अफरीदी ने उन्‍हें इस झगड़े के लिए उकसाया था. शोएब और आसिफ, इस घटना के बाद भी कई विवादों में रहे. शोएब अख्‍तर और आसिफ डोपिंग के मामले में पॉजिटिव पाए जा चुके हैं और कुछ समय का प्रतिबंध भी झेल चुके हैं.

रमीज राजा ने मो. यूसुफ को कहा था 'फर्जी मुल्‍ला'

 
yusuf
पाकिस्‍तान के क्रिकेटर यूसुफ योहाना का रमीज राजा से विवाद हो चुका है

मैदान के बाहर एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान पाकिस्‍तान के दो पूर्व क्रिकेटर रमीज राजा और उनके साथ पाक टीम में खेल चुके मो. यूसुफ (यूसुफ योहाना) के बीच शाब्दिक जंग हुई थी. दोनों ने एक-दूसरे के खिलाफ अपमानजनक शब्‍दों का इस्‍तेमाल किया था. इन दोनों ने जियो सुपर चैनल पर एक कार्यक्रम के दौरान एक-दूसरे के खिलाफ निजी टिप्पणियां कीं और गलत शब्दों का उपयोग किया. यूसुफ ने कहा कि रमीज क्रिकेट नहीं जानते और वह सिफारिशी खिलाड़ी थे और वह केवल एक शिक्षक ही अच्छे रहते. यूसुफ यहीं पर नहीं रुके और उन्होंने इस पूर्व टेस्ट कप्तान के खिलाफ कुछ निजी टिप्पणियां भी कर दीं, जिससे रमीज भी आपा खो बैठे. रमीज ने दाढ़ी रखने वाले यूसुफ को फर्जी मुल्ला कहा जो झूठ बोलता है और जिसने पाकिस्तान क्रिकेट के लिए परेशानियां खड़ी कीं.

मियांदाद ने अफरीदी को धन के पीछे भागने वाला बताया था

 
javed miandad and shahid afridi
जावेद मियांदाद और शाहिद अफरीदी (फाइल फोटो)

पाकिस्‍तान के दिग्‍गज बल्‍लेबाज जावेद मियांदाद और पूर्व कप्‍तान शाहिद अफरीदी भी हाल के दिनों में मैदान के बाहर विवाद को लेकर सुर्खियों में रहे थे. दरअसल, इस विवाद की शुरुआत शाहिद अफरीदी द्वारा पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) से अपने लिए फेयरवेल मैच मांगने के बाद हुई. जहां मियांदाद ने अफरीदी को धन के पीछे दौड़ने वाला क्रिकेटर बताया. यही नहीं उन्‍होंने फिक्सिंग मामले में अफरीदी के करियर पर भी सवालिया निशान लगा दिया. बस फिर क्‍या था, बूम-बूम अफरीदी को तो बिफरना ही था. उन्‍होंने भी मियांदाद को खरी-खोटी सुना दी. शार्टर फॉर्मेंट में पाकिस्‍तान के कप्‍तान रहे अफरीदी ने कहा कि वह मियांदाद के कमेंट्स की लंबे समय से अनदेखी कर रहे थे लेकिन अब वे अपनी सीमाएं लांघते जा रहे हैं. मियांदाद की अफरीदी से नाराजगी कोई नई नहीं है. अफरीदी ने इसी वर्ष एक बार कहा था कि पाकिस्तानी क्रिकेटरों को पाकिस्तान से कहीं ज्यादा प्‍यार भारतीय दर्शकों से मिलता है तो मियांदाद उन पर बिगड़ पड़े थे. मियांदाद ने कहा कि इस तरह के बयान देने वाले खिलाड़ियों को खुद पर 'शर्म आनी' चाहिए.

टिप्पणियां

कासिम उमर ने इमरान पर लगाया था ड्रग लेने का आरोप

 
imran khan
पाकिस्‍तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान इमरान खान (फाइल फोटो)

80 के दशक में पाकिस्‍तान के प्रतिभावान क्रिकेटर कासिम उमर का तत्‍कालीन कप्‍तान और अब राजनेता बन चुके इमरान खान से विवाद भी चर्चा का केंद्र रहा था. 26 टेस्ट और 31 वनडे खेलने वाले उमर ने महान हरफनमौला इमरान खान पर भी ड्रग्स लेने का आरोप लगाया था. उन्होंने कहा था कि इमरान खान और कुछ पाकिस्तानी क्रिकेटर अपने किट बैग में ड्रग्स लेकर जाते थे. उन्‍होंने इमरान को पाकिस्‍तानी टीम के तस्‍करी के गैंग का सरगना बताया था. कासिम उमर के इस आरोप पर इमरान की सीधे प्रतिक्रिया तो सामने नहीं आई थी, लेकिन उमर का करियर लंबा नहीं चल सका. पाकिस्‍तान क्रिकेट टीम में बेहद कद्दावर रह चुके इमरान से 'पंगा' लेने का खामियाजा प्रतिभावान बल्‍लेबाज माने जाने वाले उमर को भुगतना पड़ा था...



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement