NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर के क्रिकेटर परवेज रसूल ने एमएस धोनी से किया यह खास अनुरोध, मना नहीं कर पाए माही और फिर...

2.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर के क्रिकेटर परवेज रसूल ने एमएस धोनी से किया यह खास अनुरोध, मना नहीं कर पाए माही और फिर...

एमएस धोनी की टीम ने परवेज रसूल की टीम को 6 विकेट से हरा दिया था (फोटो : PTI)

खास बातें

  1. झारखंड ने विजय हजारे ट्रॉफी में जम्मू-कश्मीर को 6 विकेट से हराया था
  2. एमएस धोनी से पहले सचिन भी दे चुके हैं जम्मू के क्रिकेटरों को टिप्स
  3. परवेज रसूल ने एमएस धोनी की जमकर सराहना की है
नई दिल्ली: टीम इंडिया की कप्तानी छोड़ने के बाद इंग्लैंड के खिलाफ बल्ले से धमाल मचा चुके महेंद्र सिंह धोनी इस समय घरेलू क्रिकेट में झारखंड की कप्तानी संभाल रहे हैं. किस्मत के धनी माने जाने वाले धोनी के साथ एक बार फिर कुछ ऐसा हुआ और  उनकी कप्तानी में टीम विजय हजारे वनडे ट्रॉफी के क्वार्टरफाइनल में भी पहुंच गई. इसके लिए उनका मुकाबला जम्मू-कश्मीर की टीम से हुआ, जिसकी कप्तानी परवेज रसूल कर रहे थे. जब धोनी जैसा क्रिकेट का जानकार सामने हो तो भला उनके सानिध्य का मौका कौन गंवाना चाहेगा. बस फिर क्या था मैच के बाद परवेज रसूल ने धोनी से एक खास अनुरोध कर दिया. यह सुनकर धोनी मना नहीं कर पाए और उसे पूरा भी किया... कुछ ऐसा ही सचिन ने भी किया था. धोनी के इस कदम से रसूल और जम्मू-कश्मीर टीम के मेंबर झूम उठे...

हुआ कुछ यूं कि जब विजय हजारे ट्रॉफी में सोमवार को झारखंड ने जम्मू-कश्मीर को 6 विकेट से हराया, तो मैच के के बाद जम्मू-कश्मीर के कप्तान परवेज रसूल ने एमएस धोनी से कहा, कि हमारी टीम के खिलाड़ी आपसे मिलना चाहते हैं. फिर क्या उनकी इस अपील पर धोनी मना नहीं कर पाए और जम्मू-कश्मीर के ड्रेसिंग रूम में जा पहुंचे. जानिए इस मुलाकात पर परवेज रसूल ने क्या कहा...

हर कोई उतावला था...
एमएस धोनी जैसे स्टार को अपने बीच पाकर परवेज रसूल के साथी फूले नहीं समा रहे थे और हर कोई उनसे बात करना चाह रहा था. धोनी ने इन क्रिकेटरों के कई सवालों के जवाब दिए और उन्हें टिप्स भी दी. बाद में कप्तान परवेज ने धोनी से मुलाकात को अविस्मरणीय बताते हुए कहा कि यह टीम के लिए किसी सपने के सच होने जैसा था. उन्होंने यह भी कहा कि माही भाई हमेशा क्रिकेट से जुड़ी सलाह देने में आगे रहते हैं और हरसंभव मदद करते हैं.

खास बात यह कि कुछ खिलाड़ी तो ऐसे भी रहे , जिन्होंने धोनी को पहली बार आमने-सामने देखा, क्योंकि इससे पहले वह उन्हें केवल टीवी पर ही देख पाए थे. यह बात खुद परवेज रसूल ने कही.

सचिन भी पहुंचे थे जम्मू-कश्मीर के ड्रेसिंग रूम
मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने भी साल 2014 में मुंबई में रणजी ट्रॉफी गेम के बाद जम्मू-कश्मीर की टीम को ऐसा ही मौका दिया था. वह भी उसके ड्रेसिंग रूम में पहुंचे थे. खास बात यह कि वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मैच में जम्मू की टीम ने मुंबई जैसी मजबूत टीम को हरा दिया था.

रसूल ने धोनी के साथ की थी बैटिंग, मिलीं थीं अहम टिप्स
रसूल ने इसी साल जनवरी में इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई सीरीज में टी-20 क्रिकेट में पदार्पण किया था. इससे पहले वे वनडे में भी टीम इंडिया का प्रतिनिधित्‍व भी कर चुके हैं. रसूल ने इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए टी-20 में धोनी के साथ सातवें विकेट के लिए 27 रनों की साझेदारी की थी. जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा था, "इस साझेदारी के दौरान धोनी ने क्रिस जॉर्डन पर छक्का मारा था. मैंने उनसे पूछा था कि उन्होंने कैसे इस शॉट को मारने की तैयारी कर ली थी." उन्होंने कहा, "इंटरनेशनल  क्रिकेट में आपको गेंदबाज के मजबूत पक्ष को देखना पड़ता है और फिर उसके हिसाब से खेलना पड़ता है."

टिप्पणियां
अन्य टीम से खेलने पर रसूल कर रहे विचार
जम्मू-कश्मीर के कप्तान परवेज रसूल किसी और टीम से खेलने पर विचार कर रहे हैं. रसूल ने कहा है कि यदि राज्‍य के हालात नहीं सुधरते हैं वे किसी और टीम से खेलने के बारे में सोच सकते हैं.

सहवाग के स्कूल भी गए थे धोनी...
वैसे भी एमएस धोनी को जब भी मौका मिलता है तो वह युवाओं को क्रिकेट की बारीकियां सिखाने से नहीं चूकते. पिछले महीने वह अपने पूर्व साथी वीरेंद्र सहवाग की खेल अकादमी भी गए थे, जो हरियाणा के झज्जर जिले में है. धोनी ने सहवाग इंटरनेशनल स्कूल में अपने बचपन की कुछ यादें साझा की और मैच में मिली बेहतरीन जीतों की कहानी भी सबको सुनाई. इसके अलावा उन्होंने छात्रों को विकेटकीपिंग के गुर भी सिखाए थे. बाद में सहवाग ने धोनी का शुक्रिया भी अदा किया और ट्वीट करके कहा था कि वह तहेदिल से उनके आभारी हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement