'हजारी' क्रिकेटर बनकर वाहवाही लूटने वाले प्रणव धनावडे ने अब एक दिन में बनाए 236 रन..

वर्ष 2016 में नाबाद 1009 रन की पारी खेलकर दुनियाभर में वाहवाही लूटने वाले मुंबई के प्रणव धनावडे ने एक और जबर्दस्‍त पारी खेली है.

'हजारी' क्रिकेटर बनकर वाहवाही लूटने वाले प्रणव धनावडे ने अब एक दिन में बनाए 236 रन..

प्रणव को 1009 रन की पारी के बाद सचिन तेंदुलकर ने अपने ऑटोग्राफ वाला बैट गिफ्ट किया था

खास बातें

  • झुनझुनवाला कॉलेज के लिए 236 रन की पारी खेली
  • मैच में गुरु नानक कॉलेज की टीम 60 रन पर ढेर हुई
  • इंटर स्‍कूल मैच में प्रणव बना चुके हैं नाबाद 1009 रन

वर्ष 2016 में नाबाद 1009 रन की पारी खेलकर दुनियाभर में वाहवाही लूटने वाले मुंबई के प्रणव धनावडे ने एक और जबर्दस्‍त पारी खेली है. गुरुवार को प्रणव ने यहां 45 ओवर के इंटर कॉलेज मैच में झुनझुनवाला कॉलेज के लिए 236 रन की पारी खेली. खास बात यह है कि प्रणव ने अपने 1009 रन की रिकॉर्डतोड़ पारी की दूसरी वर्षगांठ की पूर्व संध्‍या पर 236 रन की यह पारी खेली. प्रणव की इस पारी की बदौलत उनकी टीम मैच में 459 रन का विशाल स्‍कोर बनाने में सफल रही, इसमें स्‍लो ओवर रेट के लिए 51 पेनल्‍टी रन शामिल थे. मिड-डे समाचार पत्र की रिपोर्ट के अनुसार, गुरु नानक कॉलेज के खिलाफ इस मैच में प्रणव के टीममेट यश सिंह ने गेंदबाजी में बेहतरीन प्रदर्शन किया. मैच में यश ने 5.2 ओवर में 14 रन देकर सात विकेट लिए. गुरु नानक कॉलेज की टीम मैच में महज 60 रन बनाकर आउट हो गई.

यह भी पढ़ें: क्रिकेट के पहले 'हज़ारीलाल' प्रणव धनावड़े अब स्कूल की किताबों में भी

Newsbeep

मैच के बाद प्रणव ने कहा, 'मैं बेहद खुश हूं. मैं फिर से शुरुआत करना चाहता हूं. मैं अपने भविष्‍य के बारे में बहुत अधिक नहीं सोच रहा हूं. मैं अपने खेल का आनंद उठाना चाहता हूं.'  गौरतलब है कि इंटर स्‍कूल मैच में 1009 की पारी खेलने के बाद प्रणव के बल्‍लेबाजी प्रदर्शन में ठहराव सा आ गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो: प्रणव धनावडे ने पार किया 1000 रन का जादुई आंकड़ा
पिछले वर्ष के आखिर में अंडर परफॉरमेंस के कारण प्रणव ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से उन्‍हें दी जाने वाली 10 हजार रुपए की मासिक स्‍कॉलरशिप छोड़ दी थी. कांगा क्रिकेट लीग के ए डिवीजन में दादर यूनियन की प्‍लेइंग इलेवन में भी प्रणव स्‍थान बनाने में नाकाम रहे थे. उनके लिए एक और बुरी खबर तब आई थी जब एयर इंडिया ने एक वर्ष के बाद उनके कांट्रेक्‍ट को रिन्‍यू नहीं किया था.