Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

डोपिंग के कारण 8 माह का बैन झेलने के बाद Prithvi Shaw की मुंबई टीम में वापसी

डोपिंग के कारण 8 माह का बैन झेलने के बाद Prithvi Shaw की मुंबई टीम में वापसी

BCCI ने डोपिंग के कारण Prithvi Shaw को 30 जुलाई को निलंबित किया था

खास बातें

  • सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए टीम में शामिल
  • 15 नवंबर को खत्म हो रहा है प्रतिबंध
  • 17 नवंबर से होने वाले मैच में उपलब्ध रहेंगे
मुंबई:

Prithvi Shaw: डोपिंग के कारण आठ माह का प्रतिबंध झेलने के बाद युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw )की मुंबई टीम में वापसी हो गई है. सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (Syed Mushtaq Ali tournament) के लिए घोषित की गई 15 सदस्यीय मुंबई टीम में शॉ को भी जगह मिली है. 20 साल के पृथ्वी आठ महीने के निलंबन के बाद मैदान पर लौट रहे हैं. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने डोपिंग (Doping)के कारण पृथ्वी को 30 जुलाई को निलंबित किया था. मुंबई ने लीग दौर के अंतिम दो मैचों के लिए टीम का ऐलान किया है. इसका मतलब है कि पृथ्वी असम के खिलाफ 17 नवंबर से होने वाले मैच के लिए उपलब्ध रहेंगे.

पृथ्वी ने इससे पहले अभ्यास करते हुए 9 नवंबर को एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें उन्होंने कहा भी था, "मैं आज 20 साल को हो गया हूं. मैं इस बात को सुनिश्चित करना चाहता हूं कि आपके सामने पृथ्वी 2.0 हो. आप सभी की शुभकामनाओं और समर्थन के लिए शुक्रिया मैं जल्दी लौटूंगा."

गौरतलब है कि पृथ्वी ने बीसीसीआई के डोपिंग रोधी परीक्षण कार्यक्रम के तहत 22 फरवरी 2019 को इंदौर में सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के दौरान यूरिन सैंपल उपलब्ध कराया था. टेस्टके बाद उनके नमूने में टरबुटैलाइन पाया गया. बीसीसीआई विज्ञप्ति में कहा गया था, 'टरबुटैलाइन वाडा की प्रतिबंधित पदार्थों की सूची में है और इसे प्रतियोगिता के दौरान या इससे इतर नहीं लिया जा सकता है.'पृथ्वी को 30 जुलाई को निलंबित किया था. बीसीसीआई ने विज्ञप्ति में कहा था , 'शॉ ने अनजाने में प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया. यह पदार्थ आमतौर पर खांसी की दवा में पाया जाता है.' शॉ का प्रतिबंध पूर्व से प्रभावी माना गया है जो कि जो 16 मार्च 2019 से शुरू होकर 15 नवंबर 2019 को खत्म हो रहा है.

वीडियो: सौरव गांगुली ने बीसीसीआई का अध्यक्ष पद संभाला